चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज मामले में कांग्रेस ने कहा – छत्तीसगढ़ को हर साल मिलेंगे डेढ़ सौ डॉक्टर

रायपुर। कांग्रेस सरकार द्वारा स्व. चंदूलाल चंद्राकर स्मृति मेडीकल कालेज अधिग्रहण की दिशा में ठोस पहल की स्वागत करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि यह फैसला राज्य के लोगों के लिए ही स्वास्थ्य सुविधाओ और स्वास्थ्य शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा। छत्तीसगढ़ को हर साल मिलेंगे डेढ़ सौ डॉक्टर, भाजपा कर रही है इसी का विरोध, छत्तीसगढ़ की भावना से जुड़े एआईसीसी प्रवक्ता रहे दैनिक हिंदुस्तान के संपादक रहे स्वर्गीय चंदूलाल चंद्राकर की स्मृति में बने मेडिकल कॉलेज और 700 बिस्तरों का अस्पताल की सरकारी अधिग्रहण कर रक्षा कर पाना हम सब के लिये गौरव की बात है।

 
प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ की पूरी जनता और छात्रों के हित में तथा प्रदेश में तेजी से चिकित्सा शिक्षा के विस्तार के उद्देश्य से चन्दूलाल चन्द्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय दुर्ग के अधिग्रहण का निर्णय लिया गया है। इससे चिकित्सा महाविद्यालय के रूप में एक तैयार अधोसंरचना का अधिग्रहण किया जा सकेगा।

छत्तीसगढ़ की भावना से जुड़े, एआईसीसी प्रवक्ता, दैनिक हिंदुस्तान के संपादक रहे स्व चंदूलाल चंद्राकर की स्मृति में निर्मित मेडिकल कालेज और 700 बिस्तर के अस्पताल का कोई सौदा नहीं हुआ है। अभी तक कोई मूल्यांकन भी नहीं हुआ। 350 चिकित्सा छात्रों के भविष्य से जुड़े सवाल पर भाजपा स्तरहीन राजनीति कर रही है। भाजपा को इस पर साथ देना चाहिए था ना कि इस पर राजनीति करके सवाल खड़े करने चाहिए। 350 चिकित्सा छात्रों के भविष्य से जुड़े सवाल पर बीजेपी की स्तरहीन राजनीति बेनकाब हो गयी है। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की जनता के प्रति हमेशा उत्तरदायित्व पूर्ण रवैय्या अपनाया है।

कांग्रेस सार्वजनिक क्षेत्र के पक्षधर है। भाजपा की केन्द्र सरकार की तरह छत्तीसगढ़ सरकार जनता की संपत्ति नहीं बेच रही हैं। भूपेश बघेल सरकार ने चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कालेज में अध्ययनरत छात्रों के भविष्य के लिए यह कदम उठाया है। चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज पर लगाये जा रहे विपक्ष के तरह-तरह के कयास सभी निराधार साबित हुये। चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कालेज का अधिग्रहण प्रदेश के एक मेडिकल कॉलेज और सैकड़ों छात्रों के भविष्य को बचाने के लिये लिया गया ठोस फैसला है। इससे एक नया मेडिकल कॉलेज बनाने में लगने वाले समय की बचत होगी।

हर साल प्रदेश को डेढ़ सौ डॉक्टर मिलेंगे। सरकारी खजाने से दुर्ग में एक मेडिकल कॉलेज के लिए 500 करोड़ खर्च कर और 5 साल इंतजार करने के बजाय सरकारी राशि की बचत कल डेढ़ सौ करोड़ में जल्दी अस्पताल शुरू करवाने का फैसला लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साबित कर दिया है कि वे छत्तीसगढ़ के सभी लोगो को अपना परिवार मानते है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि अभी छत्तीसगढ़ के लोग रमन सिंह सरकार के पिछले 15 सालों को भूली नहीं है। जब मामूली स्वास्थ्य सुविधा के लिए सबको भटकना पड़ता था। अब प्रदेश में उच्च स्तरीय इलाज की सुविधा उपलब्ध है। क्या हम लोगों को नहीं मालूम कि कैसे केंद्र ने इस साल भी तीन प्रस्तावित शासकीय मेडिकल कॉलेज की मान्यता आखरी समय में अमान्य कर दी थी? प्रदेश में एमबीबीएस कोर्स करने की इच्छुक विद्यार्थी इस बात को भलीभांति जानते हैं कि डेढ़ सौ सीटों वाले इस मेडिकल कॉलेज के सरकारी बनाने से उन्हें कितना ज्यादा लाभ मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *