कॉपीराइट उल्लंघनःशहर के 2 व्यापारियों पर गिरी गाज..कम्पनी की शिकायत पर पुलिस कार्रवाई ..भारी मात्रा में डुप्लीकेट हारपिक लाइजाल जब्त

बिलासपुर—हरियाणा गुड़गांव स्थित मैसर्स चेक आईपी प्रायवेट कम्पनी कर्मचारी की शिकायत पर पुलिस ने शहर के दो व्यापारियों को बौद्धिक सम्पदा कानून उल्लंघन का दोषी पाया है। पुलिस ने दोनों व्यापारियों के खिलाफ रेड कार्रवाई कर गिरफ्तार भी किय है। दोनों व्यापारियों के खिलाफ कापीराइट एक्ट के तहत अपराध भी दर्ज किया है। दोनो व्यापारियों के पास से पुलिस ने भारी मात्रा में डुप्लीकेट कोलीन,हारपिक और लाइजाल बरामद किया है। 

                         एडिश्नल एसपी उमेश कश्यप ने बताया कि मेसर्स चेक आईपी प्रायवेट लिमिटेड कम्पनी कर्मचारी ने पुलिस कप्तान से कम्पनी प्रोडक्ट की डुप्लीकेट सामान बेचे जाने की शिकायत की। कम्पनी कर्मचारी देवव्रत विश्वास ने बताया कि वह कम्पनी में रीजनल मैनेजर के पद पर काम कर रहा है। इस समय कोलकाता में पदस्थ है। कम्पनी की तरफ से उसे अधिकार मिला है कि वह भारत के किसी क्षेत्र में कम्पनी प्रोडक्ट की सामाग्रियों की सही गलत का जांच कर सकता है। 

          इसी क्रम में जानकारी मिली कि बिलासपुर में कुछ लोग कम्पनी प्रोडक्ट लाइजाल, हारपिक कोलीन का डुप्लीकेट सामान बेच रहे हैं। एडिश्नल एसपी उमेश ने बताया कि कम्पनी की तरफ से लिखित शिकायत के बाद पुलिस कप्तान ने टीम का गठन कर शहर में चिन्हांकित व्यापारी को सामान के साथ पकड़ने का निर्देश दिया गया।

                 मामले की विवेचना के बाद पुलिस टीम ने नेहरू नगर स्थित मनोज प्रोविजन एन्ड जनरल स्टोर में ट्रेड मार्क अधिनियम के तहत रेड कार्रवाई की। मौके पर पुलिस ने 70 नग नकली लाइजोल,हारपिक और कोलीन बरामद किया। संचालक राजेन्द्र अरोरा के खिलाफ ट्रेड मार्क अधिनियम के धारा 103 के तहत अपराध दर्ज किया गया। अरोरा ने पुलिस को पूछताछ के दौरान बताया कि सामान गोंडपारा स्थित सुमित ट्रेडर्स से सामान लाता है।

                 जानकारी के बाद पुलिस टीम ने सुमित ट्रेडर्स में धावा बोला। पुलिस टीम ने सुमित ट्रेडर्स के कर्मचारी को वाहन में नकली हारपिक, लायजोल, कोलीन को भरकर ले जाते पकड़ा। जांच पड़ताल के दौरान वाहन सीजी 10 सी,4522 से 40 पेटी हारपिक और 30 पेटी नकली लायजाल को बरामद किया गया। इसके अलावा दुकान से 5 पेटी नकली हारपिक के अलावा 13 पेटी लायजोल को जब्त किया गया।

                  जब्त माल को देखने के बाद रीजनल मैनेजर ने बतया कि दुकानों से बरामद सभी प्रोडक्ट नकली हैं। दोनों आरोपियों के खिलाफ दर्ज करने किया गया। पुलिस कार्रवाई के बाद दोनों को न्यायालय के हवाले किया गया।          

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *