11 सप्ताह की गिरावट के बाद फिर कोरोना मामलों में उछाल, देश भर में 7.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी- केरल बना हॉटस्पॉट

दिल्ली।देश में ताजा कोरोना मामलों ने मई की शुरुआत में दूसरी लहर के चरम के बाद से 12 सप्ताह में पहली बार सप्ताह-दर-सप्ताह बढ़ोतरी दर्ज की, जो देश में महामारी में एक और लहर का प्रारंभिक संकेत हो सकता है. फिलहाल मामलों में उछाल मुख्य रूप से केरल और बहुत कम संख्या में कर्नाटक और तमिलनाडु तक ही सीमित है.26 जुलाई से 1 अगस्त तक देश में 2.86 लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए गए, जो पिछले सप्ताह 2.66 लाख की तुलना में 7.5 प्रतिशत ज्यादा हैं. देश में साप्ताहिक मामलों ने 3-9 मई के बाद पहली बार वृद्धि दर्ज की है, जब दूसरी लहर चरम पर थी. मामलों में गिरावट पिछले सप्ताह तक जारी थी, हालांकि गिरावट धीमी होकर 1.4 प्रतिशत हो गई थी.

केरल में इस हफ्ते 1.4 लाख के करीब मामले दर्ज किए, पिछले सप्ताह के 1.1 लाख की तुलना में 26.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई. राज्य में पिछले सात दिनों में देश में सभी नए मामलों का लगभग आधा 49 प्रतिशत हिस्सा है, जिसमें दैनिक औसत 20,000 नए मामले हैं. केरल ने रविवार को 20,728 मामले दर्ज किए, छठे सीधे दिन कि दैनिक गिनती 20,000 से अधिक रही.

केरल में कोरोना के बढ़ते मामलों का असर उसके पड़ोसी राज्यों पर पड़ रहा था. कर्नाटक ने पिछले सप्ताह की तुलना में नए मामलों में 17.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की, हालांकि यह वृद्धि पूर्ण संख्या में ज्यादा नहीं रही है. कर्नाटक ने चालू सप्ताह में 12,442 मामले दर्ज किए, जबकि पिछले सात दिनों में 10,610 मामले दर्ज किए गए थे.

तमिलनाडु में भी बढ़ रहे मामले

तमिलनाडु में, साप्ताहिक मामले की संख्या पिछले सप्ताह की तरह ही रही. यहां पिछले सप्ताह में 13,095 मामले दर्ज किए थे और इस सप्ताह 13,090 मामले दर्ज किए गए. यह राज्य में मामलों की संख्या में गिरावट की प्रवृत्ति को तोड़ता है जो करीब नौ सप्ताह से था. तमिलनाडु में लगातार चार दिनों तक दैनिक मामलों की संख्या में मामूली वृद्धि हुई है, जो बुधवार को 1,756 से बढ़कर रविवार को 1,990 हो गई है.

एक्टिव मामलों में बढ़ोतरी

महाराष्ट्र के साप्ताहिक संख्या में 6.2 प्रतिशत गिरावट आई. राज्य में इस सप्ताह 45,272 नए मामले दर्ज किए गए, जबकि पिछले एक में यह आंकड़ा 48,253 था. संक्रमण में वृद्धि को ध्यान में रखते हुए पिछले छह दिनों में देश में सक्रिय मामलों में 14,000 से अधिक की वृद्धि हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *