इंडिया वाल

Corona: शरीर में दिख रहे हैं फ्लू के लक्षण तो इसको कोरोना ही मानकर चलें,खुद को कर लें आइसोलेट

दिल्ली।देश में कोरोना (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. संक्रमण के जो मरीज अस्पतालों में पहुंच रहे हैं उनमें अधिकतर को फ्लू जैसे लक्षण हैं. लोग खांसी-जुकाम और नाक बहने की परेशानी के साथ अस्पतालों की ओपीडी में आ रहे हैं. टेस्ट करने पर इन लोगों में कोरोना की पुष्टि हो रही है. डॉक्टरों का कहना है कि फ्लू (flu) के लक्षण वाले 80 से 90 फीसदी मरीजों में कोरोना मिल रहा है. ऐसे में अगर किसी को लगातार फ्लू के लक्षण बने हुए हैं, तो वह इसको कोरोना समझकर खुद को आइसोलेट कर लें.

दिल्ली और एनसीआर (Delhi-NCR)  के अस्पतालों की ओपीडी में फ्लू से पीड़ित लोगों की भीड़ काफी बढ़ गई है. पिछले महीने की तुलना में दो गुना लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं. दिल्ली के संजय गांधी अस्पताल के डॉक्टर विकास कुमार ने बताया कि पिछले महीने तक रोजाना 150 से 200 लोग ओपीडी में फ्लू जैसे लक्षणों के साथ आते थे, लेकिन अब यह संख्या करीब 400 हो गई है. इन लोगों को सिरदर्द, लगातार खांसी आना और जुकाम की परेशानी है. कोरोना टेस्ट करने पर इनमें से अधिकतर लोग पॉजिटिव मिल रहे हैं, हालांकि इनमें से बहुत कम मरीजों को भर्ती करने की जरूरत पड़ रही है. जिन लोगों को सांस लेने में परेशानी है या ऑक्सीजन लेवल कम है. उनको ही भर्ती किया जा रहा है.

नौएडा के जिला अस्पताल के डॉक्टर विकास खेरिया का कहना है कि पिछले महीने तक ओपीडी में 140 से 160 मरीज इन लक्षणों के साथ आते थे, लेकिन अब यह संख्या 450 के करबी पहुंच गई है. डॉ. विकास का कहना है कि ओपीडी में आने वाले करीब 95 फीसदी लोगों को कोरोना के हल्के लक्षण है. इन्हें घर पर इलाज़ कराने की सलाह दी जा रही है. गाजियाबाद के जिला एमएमजी अस्पताल के डॉक्टर आरपी सिंह का कहना है कि उनकी ओपीडी में भी बुखार और फ्लू के मरीजों की संख्या बढ़ गई है. इन लोगों को कोविड टेस्ट कराने की सलाह दी जा रही है.

रेरा में रियल स्टेट का पंजीयन 31 मई तक जरूरी.... प्रोजेक्ट के साथ एजेंटों का भी रजिस्ट्रेशन अनिवार्य

ओमिक्रॉन के चलते दिख रहे यह लक्षण

एम्स के मेडिसिन विभाग के डॉक्टर नीरज निश्चल का कहना है कि इस समय अगर आपको खांसी-जुकाम गले में खराश या सिररर्द जैसे लक्षण लगातार महसूस हो रहे हैं, तो इसे कोरोना ही मानकर चलें और खुद को आईसोलेट कर लें. डॉ. नीरज का कहना है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron variant) के चलते कोरोना मरीजों में यह लक्षण दिख रहे हैं. क्योंकि इस समय करीब 80 फीसदी लोगों को ओमिक्रॉन हो रहा है.चूंकि इस वैरिएंट के लक्षण लगभग फ्लू जैसे हैं. इसलिए ही अधिकतर लोगों को यह परेशानियां हो रही हैं.

कोमोरबिडीटी वाले लोग ध्यान रखें

डॉ. नीरज का कहना है कि अगर कोमोरबिडीटी वाले लोगों को इस प्रकार के लक्षण दिखते हैं तो उन्हें तुरंत डॉक्टरों की सलाह लेकर इलाज़ शुरू कर देना चाहिए. क्योंकि देखा जा रहा है कि अस्पतालों में कोरोना के मरीजों में अधिकतर संख्या उन लोगों की है जिनको पहले से कोई गंभीर बीमारी है.

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS