कोरोना प्रबंधन समझाने कलेक्टर बने शिक्षक

दंतेवाड़ा।कलेक्टर दीपक सोनी बने शिक्षक और समझाया व्यक्तिगत कोरोना प्रबंधन। जिले में बढ़ते कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए जिले वासियों को कोरोना से बचने और सुरक्षित रहने की जानकारी कलेक्टर ने दी। कलेक्टर दीपक सोनी ने बताया कि लक्षण हमारे शरीर में मौजूद होते हैं ।लेकिन कई बार हम उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं। किस कारण देर से जांच करवाने पर मरीज की स्थिति बिगड़ चुकी होती है। इस स्थिति से बचने के लिए हमें लक्षणों को गंभीरता से लेना चाहिए।कोरोनावायरस आंखों में सर्दी,खासी, बुखार, स्वाद ना आना, गले में खराश खुजली, सर दर्द, और कुछ गंभीर लक्षण श्वास लेने में दिक्कत सीने में दबाव या दर्द चलने फिरने में असमर्थता। यदि किसी व्यक्ति में से कोई लक्षण तक दिखते हैं तो करोना टेस्ट करवाना चाहिए।

साथ ही रिपोर्ट आने तक स्वयं को आइसोलेट कर लेना चाहिए और अपने परिवार के सदस्यों से भी दूरी बनाए रखना चाहिए। आरटीपीसीआर रिपोर्ट में समय लगता है। इस दौरान ज्यादा तबीयत खराब ना हो अतः तत्काल दवाई लेना प्रारंभ कर देना चाहिए। इसमें बिल्कुल भी देरी नहीं होनी चाहिए।जिले को कोरोना मुक्त बनाने के लिए 20000 प्रोफिलेक्टिक समस्त जिले वासियों को बांटा जाएगा। कलेक्टर ने कोविड की कोर कमेटी की बैठक में जिले में संक्रमण को देखते हुए बचाव के लिए पहले से ही सभी जिलेवासियों तक प्रोफिलेक्टिक किट प्रदान करने की रणनीति तय की है।

READ MORE-भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष का कोरोना से निधन..मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री समेत अन्य ने जताया शोक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *