छत्तीसगढ़ में कोरोना की रफ्तार को समझिए , कैसे ,आंकड़े 100 से 700 के करीब पहुंचने में सिर्फ 4 दिन लगे.?

रायपुर। दुनिया के दूसरे देशों और हिंदुस्तान के दूसरे इलाकों की तरह छत्तीसगढ़ में भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार चिंताजनक नजर आ रही है। इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि आज से सिर्फ 4 दिन पहले यानी 29 दिसंबर को छत्तीसगढ़ में 100 के करीब कोरोना संक्रमित 1 दिन में मिले थे। वही सिर्फ 4 दिन बाद 3 जनवरी को यह संख्या 700 के करीब यानी 698 तक पहुंच गई है। इसी तरह संक्रमण दर भी 2.5 तक पहुंच गया है। जोकि कुछ दिन पहले ही 1% से भी कम दर्ज किया जा रहा था। खबर डराने के लिए नहीं है। लेकिन सावधानी की ओर जरूर गंभीरता से ध्यान देने की ओर इशारा कर रही है। क्योंकि छत्तीसगढ़ में भी कोरोना संक्रमण के मामले डरावने लगने लगे हैं।

प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे आंकड़ों पर नजर डालें तो संक्रमण की रफ्तार काफी तेज लग रही है। इस गिनती को सामने रखकर समझा जा सकता है। पिछले 29 दिसंबर को छत्तीसगढ़ में 106 संक्रमित मरीज मिले थे। इसके बाद से गिनती लगातार बढ़ती ही जा रही है। इसके बाद 30 दिसंबर को 150, 31 को 190, 1 जनवरी को 279 ,2 जनवरी को 290 और 3 जनवरी को आंकड़ा 698 पर पहुंच गया है। इस तरह 4 दिन के बाद छत्तीसगढ़ में 6 गुना से भी अधिक संक्रमण के मामले दर्ज हुए हैं। राजधानी रायपुर में 1 दिन में मिलने वाले संक्रमितों की संख्या सबसे अधिक 222 और न्याय धानी बिलासपुर में 133 है ।इसके बाद रायगढ़ एक ऐसा शहर है जहां 103 मामले हैं।

बाकी जिलों में आंकड़ा अभी सो से नीचे है। और कुछ जिलों में यह संख्या 10 से भी कम है। इसे देखते हुए माना जा सकता है कि संक्रमण को रोकने के उपायों पर अभी अधिक गौर करने की जरूरत है। जिस तरह बाजार ,दूसरे सार्वजनिक स्थल और स्कूलों में भीड़ जमा हो रही है उससे आने वाले समय में स्थिति और बिगड़ने की आशंका दिखाई दे रही है। खासकर जिन जिलों में संक्रमण की रफ्तार कम है ऐसे इलाकों को संक्रमण से बचाने के लिए भी एहतियाती उपाय की जरूरत महसूस की जा रही है। पहली और दूसरी लहर के तजुर्बे के हिसाब से सामान्य लोगों के बीच भी प्रतिक्रिया है कि सरकार ,समाज और आम नागरिकों को एहतियाती उपायों पर अधिक ध्यान देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.