इंडिया वाल

Covid-19: इन राज्यो में मास्क लगाना जरूरी, बूस्टर डोज पर फोकस, जानिए राज्यों की कोविड गाइडलाइन

Coronavirus In India: चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से भारत (India) में भी इसका डर लौट आया है. चीन (China) में ओमिक्रॉन का सब वेरिएंट BF.7 कहर मचा रहा है. अब इसे लेकर भारत भी अलर्ट हो गया है. PM Narendra Modi गुरुवार (22 दिसंबर) को इसे लेकर हाई लेवल मीटिंग की. इसके अलावा कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों और स्वास्थ्य मंत्रियों ने कोविड-19 के लिए तैयारियों और प्रोटोकॉल की समीक्षा को लेकर बैठक की. इसमें भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क (Mask) पहनना अनिवार्य करने, जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ाने और जल्द से जल्द लोगों को कोरोना वैक्सीन की तीसरी डोज दिए जाने पर जोर दिया गया.Corona Review Meeting,

बता दें कि ये बैठकें उत्तर प्रदेश, झारखंड, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में आयोजित की गईं. इनमें से कई राज्यों में अधिकारियों और मंत्रियों ने सतर्क रहने की सलाह दी, लेकिन कहा कि घबराने की कोई बात नहीं है. कोरोना वायरस को लेकर बढ़ती आशंका के बीच एक बार फिर से मास्क की वापसी शुरू हो गई है. 

दिल्ली AIIMS में मास्क लगाना हुआ जरूरी

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली एम्स ने एडवाइजरी जारी की है. इसके मुताबिक, अब एम्स के स्टाफ को अस्पताल परिसर में कोविड नियमों का पालन करना होगा. परिसर में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है. साथ ही एम्स परिसर में पांच से ज्यादा लोगों के जमा होने पर भी रोक लगा दी गई है.

यूपी में भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क जरूरी

Coronavirus in India, New Covid Cases Today, New Cases in Last 24 Hours,

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को कोविड जांच और जीनोम सीक्वेंसिंग को आगे बढ़ाने का निर्देश दिया है. उन्होंने अधिकारियों से यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि लोग भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क पहनें.

युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने एवं अग्नि वीरों की भर्ती से बढ़ेगी राष्ट्रप्रेम की भावना-अजय यादव

यूपी के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा, “मेडिकल एजुकेशन और हेल्थ डिपार्टमेंट के अधिकारियों को हवाई अड्डों पर निगरानी बढ़ाने और सर्दी और फ्लू जैसे लक्षणों वाले यात्रियों की पहचान करने के लिए कहा गया है.” आगरा में जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से कहा था कि लोगों को बिना जांच के ताजमहल में जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

कर्नाटक, केरल और बंगाल में भी अलर्ट

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर ने कहा, “इनडोर क्षेत्रों, बंद स्थानों और एयर कंडीशनिंग वाले क्षेत्रों में” मास्क लगाने को एक बार फिर से अनिवार्य कर दिया गया है. मंत्री ने सीएम के साथ बैठक के बाद कहा कि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर आने वाले यात्रियों की रैंडम जांच और स्क्रीनिंग भी की जाएगी. इसके अलावा मुंबई के मुंबा देवी मंदिर प्रबंधन ने भक्तों से अपील की है कि वे मंदिर में दर्शन के दौरान मास्क लगाने के आदेश का पालन करें.

इसके अलावा, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार (21 दिसंबर) को राज्य प्रशासन को निगरानी बढ़ाने का निर्देश दिया. उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों को जनवरी 2023 में गंगा सागर मेले से पहले कोरोना संक्रमण से जुड़े सभी पहलुओं पर खास नजर बनाए रखने का निर्देश दिया. वहीं, केरल में स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि स्थिति का जायजा लिया गया है और घबराने की कोई जरूरत नहीं है.

तमिलनाडु और झारखंड में प्रशासन सतर्क

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने गुरुवार (22 दिसंबर) को एक सलाहकार बैठक का नेतृत्व किया और अधिकारियों को सभी सकारात्मक नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग करने का निर्देश दिया. राज्य ने केंद्र सरकार से चीन और हांगकांग से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की जरूरी टेस्टिंग के लिए दिशानिर्देश जारी करने को भी कहा. झारखंड में कोरोना का कोई सक्रिय मामला दर्ज नहीं हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि चिंता का कोई कारण नहीं है लेकिन प्रशासन सतर्क रहने के लिए केंद्र के सुझावों पर ध्यान दे रहा है.

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS