नारायणपुर में हुई कोविड टीकाकरण की शुरुआत,आयुर्वेद अधिकारी डॉ धीरेन्द्र मिश्रा को लगा कोविड-19 का पहला टीका

नारायणपुर-आज नारायणपुर के जिला अस्पताल परिसर में बनाये गए कोविड वैक्सीनेशन सेंटर में आयुर्वेद विभाग के आयुर्वेद अधिकारी डॉ धीरेन्द्र मिश्रा को कोविड-19 पहला टीका लगाकर टीकाकरण की शुरुआत की गई। इस अवसर पर एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग, डिप्टी कलेक्टर एवं नोडल अधिकारी कोविड-19 वैक्शीनेशन श्री जी.एस.नाग, मुख्य चिकितसा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.आर. गोटा, सिविल सर्जन डॉ एम.के. सूर्यवंशी, बीएमओ ओरछा डॉ बी.एन. बनपुरिया सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। इस दौरान सभी अधिकारियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का देश के नाम सम्बोधन को सुना। श्री मोदी ने देश मे टीकाकरण की शुरुआत करते हुए सभी को टीकाकरण की शुभकामनाएं दी।

कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों ने स्वास्थ्य विभाग को कोविड-19 टीकाकरण के लिए बधाई दी। आज का दिन बहुत ऐतिहासिक है जब कोरोना जैसी भयावह महामारी पर दस माह के बाद जीत हासिल किया है। टीकाकरण से कोविड-19 के संक्रमण पर अंकुश लगेगा। कोरोना महामारी के दौरान लोगांे की सेवा एवं मानव हित में स्वास्थ्य विभाग ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस हेतु कोविड का टीकाकरण में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को पहली प्राथमिकता दी गई है। जिले में टीकाकरण से लोगो मे काफी उत्साह का माहौल है। पूरे जिला अस्पताल को गुब्बारों से सजाया गया है। मुख्य द्वार से लेकर टीकाकरण कक्ष तक जाने के लिए अलग-अलग चिन्हों का प्रयोग किया गया है। टीका लगवाने के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी, मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनाये गये सेल्फी जोन में जाकर मैं भी सुरक्षित हूं स्लोगन के साथ सेल्फी भी ले रहे हैं। 

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है और पूरे प्रोटोकॉल का पालन करके लगाया जा रहा है। यहा केन्द्र में वैक्सीनेशन टीम पूरी तरह अलर्ट है। आम जनता को टीका लगाने में कोई शंका या झिझक नहीं होना चाहिए। उन्होंने बताया कि टीका लगवाने के बाद भी हाथों की सफाई, मास्क उपयोग, सोशल डिस्टेंस के नियमांे का पालन सहित अन्य आवश्यक सावधानी बरतनी होगी। इसलिए अब से दवाई भी और कड़ाई भी के नियमों का पालन करना होगा। टीका लगने के बाद सभी टीका लगने वाले कर्मचारियों को आधे घंटे तक निगरानी कक्ष मे रखा गया। टीका लगने के बाद आयुर्वेद अधिकारी डॉ धीरेन्द्र मिश्रा ने बताया कि टीकाकरण को लेकर वे बिल्कुल आशंकित नहीं थे एवं टीका लगाने के बाद उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। टीका लगवा कर उन्हें बहुत खुशी हो रही है। 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ए.आर.गोटा ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया द्वारा निर्मित ‘कोविशील्ड’ के 1680 डोज जिले को मिले हैं, शेष डोज़ राज्य कार्यालय द्वारा प्रदान की जाएगी। जिले के 2304 स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े कर्मिकों को ‘कोविशील्ड’ टीका की डोज लगाई जाएगी। टीकाकरण का कार्य 9 कोल्ड पाइंट चैन के माध्यम से जिले में किया जाएगा। इन सभी केन्द्रों में लोगों को टीका लगाने की तैयारी की जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *