नवरात्रि से पहले कोरोना के रोजाना मामलों में उछाल, त्योहारों से पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी चेताया

दिल्ली।देश में त्योहारों का मौसम शुरू हो चुका है। नवरात्रि से पहले कोरोना के मामले में रोजाना बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रलाय ने चेतावानी जारी करते हुए आगामी तीन माह तक लोगों से सतर्क रहने, भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने और त्योहार डिजिटल माध्यमों से मनाने की अपील की है। वहीं रेलवे ने भी त्योहार के अवसर पर ट्रेन में होने वाली भीड़ को देखते हुए कोरोना प्रोटोकॉल को छह माह तक के लिए बढ़ा दिया है।गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि कोरोना की दूसरी लहर अभी तक ख़त्म नहीं हुई है। भारत में अभी भी प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के 20000 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। इसलिए हम मौजूदा स्थिति को हल्के में नहीं ले सकते। हमें इस बारे में सतर्क रहना होगा कि महामारी जारी है और यदि हम सावधान नहीं रहे तो यह खतरनाक रूप ले सकती है।

वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने त्योहार और शादी के मौसम में सतर्क रहने की अपील करते हुए कहा है कि  कृपया अक्टूबर, नवंबर, दिसंबर में सतर्क रहें। साथ ही उन्होंने लोगों को भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने एवं अनावश्यक यात्रा करने से बचने और घर पर रहने, त्योहार डिजिटल माध्यमों से मनाने तथा खरीदारी के लिए ऑनलाइन माध्यमों को अपनाने की सलाह दी है।

इसके अलावा भारतीय रेलवे ने भी त्योहार के सीजन में कोरोना के मामले बढ़ोतरी के खतरे को देखते हुए कोरोना SOP को अगले छह माह के लिए बढ़ा दिया है। रेलवे बोर्ड ने कहा कि रेलवे के परिसरों में मास्क नहीं लगाने वालों पर 500 रुपये का जुर्माना लगना जारी रहेगा। बोर्ड ने अपने एक आदेश में कहा है कि बिना मास्क लगाए लोगों पर जुर्माना लगाने का निर्देश सितंबर तक लागू था, लेकिन अब इसे छह महीने के लिए और बढ़ा दिया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य परिवार मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान देशभर से 22,431 नए मामले सामने आए जबकि इतने ही अवधि के दौरान 318 लोगों की मौत इस महामारी की वजह से हो गई। इससे पहले बुधवार को देशभर से कोरोना के 18,833 मामले सामने आए थे और करीब 278 लोगों की मौत हुई थी। देश में अभी करीब 2 लाख 44 हजार एक्टिव मामले हैं। कई जिलों में अभी भी पॉजिटिविटी रेट काफी ज्यादा हैं। इसलिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसपर चिंता जाहिर करते हुए लोगों से ख़ासा सतर्क रहने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *