युवा कांग्रेस नेता सिद्धांशु की अगुवाई में सांसद से प्रतिनिधिमण्डल की मुलाकात .अरपापार के साथ हुआ सौतेला व्यवहार ..क्षेत्र को स्मार्ट सिटी में शामिल करें

बिलासपुर—- जिला युवा कांग्रेस महामंत्री सिद्धांशु मिश्रा की अगुवाई में अरपापार वासियों का एक प्रतिनिधि मण्डल सांसद अरूण साव से मिलकर सरकन्डा क्षेत्र को स्मार्ट सिटी योजना में शामिल किए जाने की मांग की है। प्रतिनिधि मण्डल की अगुवाई कर रहे युवा कांग्रेस नेता सिद्धांशु मिश्रा ने सांसद को बताया कि निश्चित रूप से बिलासपुर का तेजी से विकास हुआ है। लेकिन इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि समग्र विकास की दौड़ में शहर का बहुत बड़ा क्षेत्र बहुत पीछे रह गया है। इसलिए अरपार पार सरकन्डा वासियों की मांग है कि सरकन्डा क्षेत्र को स्मार्ट सिटी का हिस्सा बनाया जाए। जबकि क्षेत्र में विकास के योग्य सभी प्रकार की सुविधाएं और वातावरण हैं। 

                  मंगलवार को युवा कांग्रेस नेता सिद्धांशु मिश्रा की अगुवाई में अरपापार सरकन्डा वासी एकजुट होकर सांसद निवास पहुंचे। इस दौरान सभी ने विकास की दौड़ में सरकन्डा के साथ जाने अनजाने में सौतेला व्यहार करने का आरोप लगाया। साथ ही सरकन्डा के लोगों ने सिद्धांशु की अगुवाई में सरकन्डा के समग्र विकास के लिए रूप रेखा भी पेश किया।वहीं सांसद ने भी मामले को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली में रखने की बात कही।

           सांसद अरूण साव को सिद्धाशु मिश्रा ने बताया कि यह सच है कि सरकन्डा का विकास हुआ है। लेकिन शासन प्रशासन ने अपेक्षाकृत कम ध्यान कम दिया है। यह जानते हुए भी कि क्षेत्र में एसईसीएल का मुख्यालय, उच्च शिक्षण संस्थान के अलावा अन्य महत्वपूर्म कार्यालय हैं। कम ध्यान दिए जाने के बाद भी सरकन्डा वासियों के प्रयास से क्षेत्र धीरे धीरे विकास का केन्द्र बनता जा रहा है। तकलीफ इस बात की है कि अभी भी विकास को लेकर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जबकि यह क्षेत्र स्मार्ट सिटी के लिए सबसे महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

            सिद्धांशु मिश्रा ने सांसद अरूण साव को जानकारी दी कि बिलासपुर के एक हिस्से को स्मार्ट सिटी के लिए चयनित किया गया है। चूंकि एबीड़ी क्षेत्र पुराने शहर के केन्द्र में है। जिसे अच्छी तरह से योजनाबद्ध किया जाना मुश्किल है।

            युवा कांग्रेस नेता ने कहा कि बिलासपुर शहर बड़ी आवादी वाला क्षेत्र है। स्मार्ट सिटी योजना का लाभ पहुंचाने के लिए शहर का विस्तार बहुत जरूरी है। स्मार्ट सिटी विकसित करने और नागरिकों को बेहतर और सुलभ सुविधा के लिए एबीड़ी क्षेत्र में अरपापार सरकन्डा को शामिल किया जाना उचित होगा। सिध्धांशु ने बताया कि नगर निगम सीमा आज नए क्षेत्र जुड़ने के बाद 30 किलोमीटर से बढ़कर 130 किलोमीटर हो गयी है। हम लोगों को अच्छी तरह से पता है कि पुराने शहर में स्मार्ट सिटी योजना शुरू होने से विकास का लाभ सीमित लोगों तक ही सिमट कर रह जाएगा। योजाना का लाभ व्यापक क्षेत्र और लोगों तक पहुंचे..। इसके लिए अरपापार सरकरन्डा को स्मार्ट सिटी योजना में शामिल किया जाना बहुत जरूरी है।   

       सांसद अरूण साव को सिद्धांशु समेत अरपावासियों ने बताया कि पुराने शहर में स्थान की निश्चित रूप से कमी है। क्षेत्र में अतिक्रमण भी बहुत बड़ी सम्या है। एबीड़ी को लागु करने में निश्चित रूप से परेशानी आएगी। जबकि अरपापार सरकन्डा में ऐसे किसी बात की परेशानी नहीं होगी। स्मार्टी सिटी योजना में यदि क्षेत्र को जोड़ा जाता है तो सरकारी जमीन पर्याप्त है। बसाहट भी बेहतर है। यहां नयी योजना को बेहतर और प्रभावशाली तरीके से लागु किया जा सकता है।

                पत्रकारों को सिद्धांशु ने बताया कि स्मार्ट सिटी योजना के लिए एक हजार करोड़ रूपए खर्च होंगे। इसमें राज्य और केन्द्र की हिस्सेदारी बराबर की होगी। हमने सांसद से नि्वेदन किया है कि स्मार्ट सिटी योजना में सरकन्डा क्षेत्र को शामिल किया जाए। क्योंकि बिलासपुर की जनता भी महसूस करती है कि शहर के महत्वपूर्ण क्षेत्र को शासन ने स्मार्ट सिटी योजना से नहीं जोड़कर बहुत बड़ी भूल है।  इसलिए बिलासपुर के सर्वांगीण विकास के लिए सरकन्डा को स्मार्ट सिटी योजना में जोड़ा जाना बहुत जरूरी है।

           सिद्धांशु ने बताया कि मामले में हमने महापौर से भी मुलाकात कर लिखित में सरकन्डा क्षेत्र को स्मार्ट सिटी योजना में शामिल किए जाने की मांमग की है। सांसद ने आश्वासन दिया है कि मामले को दिल्ली में गंभीरता से रखा जाएगा। वहीं मेयर रामशरण यादव ने भी मसले को उचित मंच पर रखने का आश्वासन दिया है।

              सांसद और मेयर से मुलाकात के दौरान सरकन्डा क्षेत्र के वरिष्ठ नागरिकों के अलावा अरपापार के एमआईसी सदस्य, पार्षद के अलावा संध्या तिवारी , बजरंग बंजारे, नंदिनी दर्व, रामप्रकाश साहू, मेराज खान,अतुल सिंह,निर्मल मानिकपुरी, दादू कश्यप, जगदीश अग्रवाल , जय प्रकाश सिंह, मनोज शर्मा, भरत जुरवानी, मनीष गढ़ेवाल, रितेश राय, विमला यादव, पूर्णानन्द चन्द्रा,रामेन्द्र दुबेक,विशेष रूप से प्रतिनिधिमण्डल में मौजूद थे।             

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *