जिला एवं सत्र न्यायाधीश बर्खास्त..विजिलेंस जांच रिपोर्ट पर हाईकोर्ट का पत्र..विधि विधायी विभाग ने उठाया कठोर कदम

Editor
2 Min Read
बिलासपुर—-जशपुर जिला एवं सत्र न्यायाधीश को हाईकोर्ट की अनुशंसा बर्खास्त कर दिया गया है। गणेश वर्मन की बर्खास्गी के बाद न्यायिक जगत में हलचल मच गयी है। बताया जा रहा है हाईकोर्ट को गणेश वर्मन के खिलाफ लगातार शिकायतें मिल रही थी। गोपनीय जांच के बाद शिकायत सही पाए पर हाईकोर्ट ने जिला एवं सत्र न्यायालय को बर्खास्त कर दिया।
 छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट को जशपुर जिला एवं सत्र न्यायाधीश के खिलाफ लगातार शिकायतें मिल रही थी। लगातार मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए हाईकोर्ट ने गोपनीय रूप से जांच का निर्देश दिया। हाईकोर्ट ने जांच में शिकायतों को सही पाया।
 विजिलेंस टीम ने जांच के बाद हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को रिपोर्ट पेश किया। रिपोर्ट को चीफ जस्टिस के सामने रखा गया। हाईकोर्ट ने मामले को गंभीरता से लेते हुए गणेश वर्मन को कदाचर का आरोपी मानते हुए बर्खास्तगी की अनुशंसा विधि एवं विधायी विभाग को सौंपा था।
विधि एवं विधायी विभाग के प्रमुख सचिव रामकुमार तिवारी ने छत्तीसगढ़ उच्चतर न्यायिक सेवा नियम 2006 के नियम 9(4) के तहत अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश जशुपर की सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त करने  का आदेश दिया। हाईकोर्ट ने तीन मार्च को जिला एवं सत्र न्यायाधीश के खिलाफ कठोर कार्रवाई का पत्र  विधि एंव विधायी विभाग को लिखा था।
close