भड़क गए जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी..प्रमोद नायक ने भी जाहिर की नाराजगी..रविन्द्र ने किया बचाव

बिलासपुर—जिला कांग्रेस अध्यक्ष और मंत्री पीएसओ के बीच छत्तीसगढ़ भवन में कहासुनी के बाद माहौल काफी गरम हो गया। मामले को वरिष्ठ नेताओ के साथ सुलझाया गया। बताते चलें कि प्रेस वार्ता के कुछ देर बाद पीएचई मंत्री रूद्र कुमार विधायक समेत जिला अध्यक्षकों को नाश्ते पर बुलाया। कुछ देर बाद जब दोनो अध्यक्ष कमरे में प्रवेश करने गए तो पीएसओ ने दोनों अध्यक्षकों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए कमरे के अन्दर जाने से रोक दिया। इसके बाद माहौल काफी गर्म हो गया।

                      छत्तीसगढ़ भवन में कांग्रेस के दोनो जिला अध्यक्षों के साथ मंत्री के पीएसओ के बीच विवाद हो गया। वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के हस्तक्षेप से मामला शांत हुआ। मामला कुछ इतरह से है। प्रेसवार्ता के बाद मंत्री छत्तीसगढ़ भवन में आरक्षित कमरा नम्बर 1 में नाश्ता टेबल पर विधायक समेत कांग्रेस नेताओं को बुलाया। दोनो जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय और प्रमोद नायक बातचीत करते हुए जैसे ही दरवाजे के सामने पहुंचे। मंत्री के पीएसओ ने जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी और शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक को कमरे में जाने से रोक दिया।

           बातचीत के दौरान  एक पीएसओ ने  बिना कुछ कहे अपने वायरलेस सेट को विजय केसरवानी के पेट के पास अड़ा कर कमरे रूखेपन से कमरे के अन्दर जाने से मना कर दिया।  इसके बाद विजय केसरवानी कार्यकर्ताओ के सामने ही भड़क गए। इस तरह से रोके जाने पर एतराज जाहिर किया। मंत्री के कमरे के बाद जमकर बहस होने लगी। कुछ समय के लिए गहमागहमी की स्थिति बनी रही। पार्षद रविन्द्र सिंह ने बीच बचाव करते हुए मामले को शांत कराया। पीएसओ ने विजय केसरवानी को नहीं पहचानने की बात कहते हुए खेद प्रकट किया।

                  वहीं पीएसओ के व्यवहार को लेकर विजय केशरवानी और प्रमोद नायक ने मंत्री और मुख्यमंत्री से शिकायत करने की बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *