DPI व्याख्याता पद पर पहले करे पदोन्नति,शिक्षा विभाग के आदेश का पालन DPI क्यो नही कर रहा?JD व DEO कर रहे पदोन्नति

रायपुर। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने शिक्षा विभाग व डीपीआई से व्याख्याता पद पर पहले पदोन्नति करने की मांग की है, उन्होंने कहा है कि पदोन्नति हेतु मुख्यमंत्री ने 5 वर्ष की अवधि को 3 वर्ष इसीलिए किया है कि शिक्षको को पदोन्नति मिले,,व्याख्याता पद पर भी वन टाइम रिलेक्सेशन में शामिल है तो डीपीआई ने व्याख्याता पद पर पदोन्नति की प्रक्रिया अब क्यो शुरू नही की है,,अभी तक व्याख्याता पद पर पदोन्नति हेतु पात्र शिक्षको का सीआर व संपत्ति विवरण संभागीय संयुक्त संचालक से नही मँगाया गया है,,,इससे लगता है कि डीपीआई व्याख्याता पद पर पदोन्नति को लटका रहा है या पदोन्नति नही करना चाहता है, इससे पात्र शिक्षको में गुस्सा है, क्योकि उन्हें केवल प्रधान पाठक के सीमित पदों पर पदोन्नति मिलेगी,,,उन्हें पदोन्नति हेतु कम पद मिलेगा।

वन टाइम रिलेक्सेशन के तहत व्याख्याता पद पर ई/टी एल बी संवर्ग में पदोन्नति करने छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष संजय शर्मा ने प्रमुख सचिव, स्कूल शिक्षा विभाग, सचिव स्कूल शिक्षा विभाग, संचालक लोकशिक्षण संचालनालय, रायपुर को पत्र भेज कर वन टाइम रिलेक्सेशन के तहत व्याख्याता पद पर ई/टी एल बी संवर्ग में पदोन्नति की मांग की है।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजिद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, डॉ कोमल वैष्णव, प्रांतीय सचिव मनोज सनाढ्य प्रांतीय कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक ने कहा है कि व्याख्याता पद पर वन टाइम रिलेक्सेशन के तहत ब्याख्याता ई/टी एल बी संवर्ग के लिए पदोन्नति प्रक्रिया प्रारंभ नही किया गया है, यह आपत्तिजनक है, क्योकि उच्च पद पर पदोन्नति होने से निचले स्तर के रिक्त पद पदोन्नति हेतु बढ़ेगा, जिससे ज्यादा सहायक शिक्षको को पदोन्नति मिलेगी।

छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा सेवा (शैक्षिक एवं प्रशासनिक संवर्ग) में ब्याख्याता व प्रधान पाठक पूर्व माध्यमिक शाला के पदों पर 50 % ई/टी संवर्ग की पदोन्नति से एवं 50 % ई/टी (एल बी) संवर्ग की पदोन्नति से भरें जाने का प्रावधान किया गया है, अतः 50 प्रतिशत पद ई/टी (एल बी) संवर्ग के शिक्षकों से व्याख्याता पद पर पहले पदोन्नति किया जावे।एसोसिएशन ने कहा है कि पात्रता धारी उर्दू सहायक शिक्षको को पूर्व मा शाला में उर्दू शिक्षक का पद सृजित पदोन्नति दिया जावे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *