ED ने हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड के CMD से की पूछताछ

Shri Mi
3 Min Read

हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड और हीरो फिनकॉर्प लिमिटेड के सीएमडी पवन मुंजाल से सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम मामले में पूछताछ की।

Join Our WhatsApp Group Join Now

मुंजाल पर एंटी मनी लॉन्ड्रिंग एजेंसी ने 2014-15 से 2018-19 की अवधि के दौरान 54 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा विदेश भेजने का आरोप लगाया है।

इसके अलावा मुंजाल के एक करीबी सहयोगी द्वारा 40 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा विदेश ले जाने का भी आरोप है।

जांच में शामिल होने के लिए बुलाए गए मुंजाल सोमवार सुबह ईडी के मुख्यालय पहुंचे और करीब 11 बजे पूछताछ में शामिल हुए।

ईडी ने अगस्त में पीएमएलए मामले के सिलसिले में मुंजाल और साल्ट एक्सपीरियंस मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड के कर्मचारियों के 12 ठिकानों पर छापेमारी की थी और 25 करोड़ रुपये मूल्य के आभूषण और विदेशी मुद्रा जब्त की थी।

इसने मुंजाल, एसईएमपीएल, अमित बाली, हेमंत दहिया, के.आर. रमन और अन्य के खिलाफ प्रतिबंधित वस्तुओं यानी विदेशी मुद्रा को ले जाने, निर्यात करने के प्रयास और अवैध निर्यात के लिए सीएमएम, नई दिल्ली के समक्ष सीमा शुल्क अधिनियम की धारा 135 के तहत राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) द्वारा दायर अभियोजन शिकायत के आधार पर पीएमएलए जांच शुरू की।

एसईएमपीएल ने कथित तौर पर लगभग 54 करोड़ रुपये के बराबर विदेशी मुद्रा का अवैध रूप से निर्यात किया था। 2014-2015 से 2018-2019 की अवधि के दौरान विभिन्न देशों में जिसका उपयोग अंततः मुंजाल के निजी खर्चों के लिए किया गया। ईडी की जांच से पता चला कि एसईएमपीएल को अपने कर्मचारियों दहिया, मुदित अग्रवाल, अमित मक्कड़, गौतम कुमार, विक्रम बजाज और केतन कक्कड़ के नाम पर विभिन्न वित्तीय वर्षों में 2,50,000 डॉलर की वार्षिक अनुमेय सीमा से अधिक लगभग 14 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा जारी की गई।

इसके अलावा, एसईएमपीएल ने अन्य कर्मचारियों के नाम पर भी भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा, यात्रा विदेशी मुद्रा कार्ड निकाले हैं, जिन्होंने विदेश यात्रा भी नहीं की। जांच से पता चला कि मुंजाल का एक प्रमुख सहयोगी अपनी व्यक्तिगत या व्यावसायिक विदेश यात्राओं के दौरान मुंजाल के खर्चों को पूरा करने के लिए लगभग 40 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा अवैध रूप से निर्यात करने में कामयाब रहे।

 

मामले की आगे की जांच जारी है।

By Shri Mi
Follow:
पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
close