बिलासपुर में उड़ान 4.1 योजना का पुतला दहन,बिलासपुर से हैदराबाद, कलकत्ता, मुम्बई रूट शामिल करने की मांग

बिलासपुर। हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति द्वारा अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत रविवार को उड़ान 4.1 योजना का पुतला दहन किया गया.इसके साथ ही बिलासपुर के विकास में बाधक बन रहे तत्वों का भी पुतला दहन किया गया ।गौरतलब है कि उड़ान 4.1 योजना में देशभर में 196 हवाई मार्ग हवाई सुविधा के लिए खोले जा रहे हैं।लेकिन इसमें से केवल एक बिलासपुर अंबिकापुर ही बिलासपुर के हिस्से में आया है। आज के पुतला दहन कार्यक्रम में लोरमी के विधायक धर्मजीत सिंह और बिलासपुर के महापौर रामशरण यादव विशेष रूप से उपस्थित थे।

पुतला दहन के पहले हुई सभा में समिति के द्वारा विस्तार से जानकारी दी गई कि आखिर किन कारणों से यह पुतला दहन किया जा रहा है। समिति ने बताया कि इस योजना में पूर्व की उड़ान योजनाओं से शेष बचे रूटों को स्थान दिया गया है। इस आधार पर उड़ान 3.0 योजना के तहत प्रस्तावित बिलासपुर दिल्ली सीधी उड़ान और बिलासपुर कोलकाता उड़ान के मार्ग को उड़ान 4.1 में शामिल होना चाहिए था। लेकिन ऐसा ना करके केवल उड़ान 1.0 के शेष बचे रूट बिलासपुर अंबिकापुर को शामिल किया गया है।

इसी तरह एक अन्य पैमाने के हिसाब से राज्य सरकारों द्वारा मांग करने पर कई राज्यों के कई हवाई मार्गों को टेंडर में जगह मिली है। इस पैमाने के आधार पर भी बिलासपुर से हैदराबाद कोलकाता और मुंबई आदि मार्ग जिनकी मांग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने पत्र के माध्यम से कर चुके हैं। उसका समावेश होना चाहिए था।लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जबकि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश को क्रमश 28 और 13 मार्ग दिए गए।

आज की सभा में बोलते हुए बिलासपुर महापौर रामशरण यादव ने कहा कि उड़ान योजना के तहत हवाई सुविधा मिलने पर यात्रियों को 50% सीटों पर सब्सिडी वाला किराया मिलता हैइसी कारण एयरलाइन कंपनी भी उन्हीं मार्गों पर उड़ानें शुरू करने में रुचि रखती है। जिनमें उड़ान योजना के तहत सब्सिडी मिले। सभा में बोलते हुए धर्मजीत सिंह ने कहा कि यह देखते हुए स्वयं हरदीप सिंह पुरी बिलासपुर एयरपोर्ट के उद्घाटन के दौरान दिल्ली की सीधी उड़ान देने का वादा कर चुके हैं और उड़ान 4.1 योजना में बिलासपुर की उपेक्षा खेदजनक है ।

धर्मजीत सिंह ने कहा कि बिलासपुर अंबिकापुर, रायपुर अंबिकापुर रूट का भी फायदा तभी होगा जब इन्हें आगे वाराणसी यापटना तक बढ़ाया जाए। अन्यथा पूर्व में रायपुर जगदलपुर उड़ान बंद हो गई थी। जो अब रायपुर जगदलपुर हैदराबाद के रूप में संचालित है। पुतला दहन के पहले संघर्ष समिति और कई संगठनों से आये नागरिकों के द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई ।आज की सभा को कई वक्ताओं ने संबोधित किया प्रमुख रूप से किशोरी लाल गुप्ता ,अशोक भंडारी ,देवेश तिवारी, मणि वैष्णव ,रणजीत सिंह खनूजा, राकेश शर्मा, महेश दुबे ,देवेंद्र सिंह ठाकुर, सुदीप श्रीवास्तव, बद्री यादव, केशव गोरख ,मनोज श्रीवास्तव ,चित्रकांत श्रीवास, कमल सिंह ठाकुर ,संतोष पीपलवा ,सतीश गोयल ,अकील अली ,संजय पीले , रघुराज सिंह ठाकुर ,पवन पांडे ,चंद्र प्रकाश जायसवाल ,अनिल गुलहरे, सालिक राम पांडे, रमाशंकर बघेल आदि आज के कार्यक्रम में शामिल हुए। सभा का संचालन गोपाल दुबे के द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *