इंजीनियर के साथ मारपीट..अपराध दर्ज..निदेशक ने बताया.डबल सप्लाई से मिलेगा 30 गांव को लाभ

बिलासपुर— बिजली विभाग इंजीनियर से मारपीट और गाली गलौच करने वाले आरोपी के खिलाफ शिकायत के बाद अपराध दर्ज किया गया है। बिजली विभाग के निदेशक संजय पटेल ने बताया कि कार्य के दौरान मारपीट करने वालों के खिलाफ पुलिस से सख्त कदम उठाए जाने की बात कही गयी है। संजय पटेल ने जानकारी साझा किया कि जाली स्थित उपकेन्द्र को रतनपुर के पाली फीड़र से जोड़कर डबल सप्लाई प्रारंभ होने से क्षेत्र के 30 गांवों के लगभग 11 हजार उपभोक्ताओं को इसका लाभ मिलेगा।
                 बिजली विभाग से जारी प्रेस नोट में बताया गया कि 17 जुलाई को कनिष्ठ इंजीनियर से कार्य के दौरान मारपीट करने वाले के खिलाफ अपराध दर्ज कराया गया है। बिजली विभाग के अनुसार 17 जुलाई को करीब 2 बजे रात्रि सिरगिट्टी विद्युत विभाग के जूनीयर इंजीनियर अब्दुल अजीम लाल खदान क्षेत्र गए। मौके पर उपस्थित होकर लाइन सुधार कार्य करवा रहे थे। 
                  इसी दौरान सरोज यादव नामक व्यक्ति गाली गलौच देते हुए मारपीट करने लगा। आरोपी ने जूनियर इंजीनियर को जान से मारने की धमकी दिया। दूसरे दिन यानि 18 जुलाई को इंजीनियर ने आरोपी के खिलाफ तोरवा थाना में अपराध दर्ज कराया है। आरोपी के खिलाफआईपीसी की धारा 294,506,353,183 के आरोप में गिरफतारी की कार्यवाही की गयी है। 
तीस गांव..11 हजार उपभोक्ताओं को तोहफा
             छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कम्पनी लिमिटेड निदेशक सजय पटेल ने बताया कि बेलतरा स्थित जाली में 33/11 केव्ही उपकेन्द्र से डबल सप्लाई प्रारंभ किया गया है। जाली में स्थापित 33/11 के.व्ही. उपकेन्द्र को वर्तमान में मोपका 220/132/33 केव्ही उपक्रेन्द्र से एनटीपीसी-2 फीडर के माध्यम से बिजली की आपूर्ति हो रही थी।
       नई व्यवस्था के तहत रतनपुर 33/11 के.व्ही. उपकेन्द्र से एक नए 33 केव्ही पाली फीडर को जाली उपकेन्द्र से जोड़ा गया है। इसके प्रारंभ होने से ग्राम बेलतरा, भांडी, नेवसा, अकलतरी, लिम्हा, कर्रा, जाली, मेलनाडीह, गिधौरी आदि गांवों के लगभग 11 हजार उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत की आपूर्ति होगी। एक ही फीडर से सप्लाई होने के कारण तकनीकी खराबी के चलते उपभोक्ताओं को बिजली आपूर्ति संबधित कठिनाईयों से जूझना पड़ रहा था।
             संजय पटेल ने बताया कि जाली उपकेन्द्र को रतनपुर पाली फीड़र से जोड़ने उपभोक्ताओं की समस्या खत्म होगी।  क्षेत्र के 30 गांवों के लगभग 11 हजार घरेलू और कृषि उपभोक्ताओं को  लाभ मिलेगा। इस उपलब्धि के लिये  अधीक्षण अभियंता सतीश दुबे, कार्यपालन अभियंता अमर चौधरी, सहायक अभियंता राजकुमार चौहान, राजेन्द्र गोंड़, पूरी टीम को बधाई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *