इंडिया वाल

सफाई कर्मी का उसके मूल पद पर ही कार्य करना सुनिश्चित किया जाए, राज्य सफाई कर्मचारी आयोग उपाध्यक्ष

बूंदी।Rajasthan/ राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष दीपक डंडोरिया की अध्यक्षता में गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक आयोजित की गई। बैठक में सफाई कर्मियों की संख्या, उनकी सेवा स्थितियों, पदोन्नति, बकाया भुगतान, अनुकंपा नियुक्ति एवं सुविधाओं के संबंध में समीक्षा की गई और आवश्यक निर्देश दिए।राज्य सफाई कर्मचारी आयोग उपाध्यक्ष ने स्थानीय निकायों एवं अन्य कार्यालयों में नियुक्त सफाई कर्मचारियों को उनके किसी अन्य पद पर कार्य करने को भी गम्भीरता से लिया और निर्देश दिए कि सफाई कर्मी का उसके मूल पद पर ही कार्य करना सुनिश्चित किया जाए ताकि अन्य कार्मिकों के साथ भेदभाव न हो।

मूल पद के इतर कार्य करने की जानकारी मिलने पर आयोग को अवगत कराया जाए। ऐसा पाए जाने पर संबंधित निकाय अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित करें कि सफाई कर्मी को उसके आस-पास के क्षेत्र में नियुक्त किया जाए ताकि वे संतोषप्रद सेवाएं दे सकें। उन्होंने इंदिरा रसोई योजना, मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना, निःशुल्क जांच योजना, मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना की भी समीक्षा की और कहा कि इन सभी योजनाओं की प्रभावी क्रियान्विति की जाए। उन्होंने राज्य स्तरीय रैंकिंग में बूंदी जिले के तीसरा स्थान प्राप्त करने पर चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को बधाई दी।

आयोग उपाध्यक्ष ने कई वर्षों से सफाई कर्मियों की पदोन्नति नहीं होने को गम्भीर माना और कहा कि शीघ्र ही पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू कराई जाए। इस पर अतिरिक्त जिला कलक्टर मुकेश कुमार  चौधरी ने निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि पदोन्नति के लिए प्रक्रिया में जल्द ही डीपीसी कर ली जाए। आयोग उपाध्यक्ष के समक्ष सफाई कर्मी संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा एरियर नहीं मिलने, पद बढ़ाने, अनुकम्पा नियुक्ति में परेशानी आने, ऋण लेने में परेशानियां, अवकाश की व्यवस्था इत्यादि की ओर ध्यान आकृष्ट कराए जाने पर उन्होंने इसे गम्भीरता से लेते हुए आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए। उन्हांेने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि चिरंजीवी योजना के तहत पंजीबद्ध परिवारों को निजी चिकित्सालयांे में इलाज बिना किसी परेशानी के मिले। इसके लिए नियमित माॅनिटरिंग व निरीक्षण किए जाए।

डीएमके नेता कनिमोझी के घर IT का रेड, एमके स्टालिन ने पीएम मोदी पर लगाया आरोप

उन्होंने कहा कि सभी स्थानीय निकाय उनके क्षेत्र के विस्तार अनुसार सफाई कर्मियों की मांग आयोग को भिजवाएं। ताकि नई भर्ती के लिए प्रक्रिया की जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि सफाई कर्मियों के साथ संबंधित अधिकारी नियमित बैठक करें तथा उनकी समस्याओं का संवेदनशीलता के साथ निराकरण किया जाए। उन्हें विभिन्न प्रावधानों के बारे में जानकारी दी जाए ताकि वे छोटी-छोटी जानकारियों के अभाव में परेशान न हों। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मियों को ऋण के लिए गारंटी देने में दिक्कत आए तो इसके स्थान पर संबंधित कार्यालय प्रभारी द्वारा कर्मी के कार्यालय में नियुक्त होने संबंधी जानकारी युक्त एक प्रमाण पत्र जारी किया जाए और इस आशय की जानकारी बैंकों में भी भिजवाई जाए जिससे उन्हें ऋण लेने में सुगमता रहे। उन्होंने सभी ईओ को निर्देश दिए कि अनुजा निगम के माध्यम से कैंप लगाकर योजनाओं का प्रचार प्रसार किया जावे। इसके अलावा संविदा पर कार्य करने वाले कार्मिकों को भी चिरंजीवी योजना से जोड़ा जावे।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर मुकेश कुमार  चौधरी ने स्थानीय निकाय अधिकारियों को निर्देश दिए कि सफाई कर्मियों को नियमानुसार उनके वेतन भत्ते इत्यादि लाभ समय पर दिए जाएं। लंबित भुगतान भले ही आंशिक रूप से हो, पर शीघ्र दिया जाए। बैठक में उपखंड अधिकारी बूंदी सोहनलाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरीलाल, नगर परिषद आयुक्त महावीर सिसोदिया, सीएमएचओ डाॅ. ओपी सामर एवं संबंधित विभागों के अधिकारी, सफाई कर्मचारी संगठन तथा वाल्मीकि समाज से जुड़े संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS