हमार छ्त्तीसगढ़

JEE प्रवेश परीक्षा में कांकेर जिले के विद्यार्थियों का उत्कृष्ट प्रदर्शन,64 विद्यार्थियों के कट-अप मार्क्स से ज्यादा अंक

कांकेर-जेईई प्रवेश परीक्षा में कांकेर जिले के विद्यार्थियों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए 64 विद्यार्थियों ने पिछले वर्ष आयोजित जेईई प्रवेश परीक्षा के कट-अप मार्क्स से ज्यादा अंक प्राप्त किये हैं, जो कांकेर जिले के लिए एक उपलब्धि है। इन विद्यार्थियों में सामान्य वर्ग के 01 विद्यार्थी, अन्य पिछड़ा वर्ग के 05 तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के 56 और अनुसूचित जाति से 02 विद्यार्थी शामिल हैं। यदि ये विद्यार्थी जेईई प्रवेश परीक्षा में क्वालीफाई पाये जाते हैं तो उन्हें देश के प्रमुख एनआईटी एवं ट्रिपल आईटी में प्रवेश मिलेगा। यही विद्यार्थी जेईई एडवांस की परीक्षा भी देंगे और यदि वे उसमें उत्तीर्ण होते हैं तो उन्हें आईआईटी में प्रवेश मिलेगा।

Join Our WhatsApp Group Join Now

उल्लेखनीय है कि कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला द्वारा जिले में शिक्षा गुणवत्ता में सुधार के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे है, इसके लिए ‘‘हमर लक्ष्य’’ अभियान भी चलाया गया है। इस कार्यक्रम के तहत् कलेक्टर द्वारा स्वयं जिले के सभी विकासखण्डों में पहुंचकर प्रावीण्य सूची में स्थान बनाने योग्य विद्यार्थियों को मोटिवेट किया गया तथा उन्हें अच्छा पढ़ाई करने की समझाईश दी गई। उनके निर्देश पर शिक्षा विभाग द्वारा कक्षा 12वीं में गणित संकाय में अध्ययनरत 318 विद्यार्थियों को जेईई प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए फार्म भरवाया गया तथा जिला प्रशासन के खर्च पर इन विद्यार्थियों को रायपुर एवं अन्य शहरों के परीक्षा केन्द्रों तक ले जाकर परीक्षा दिलवाया गया।

कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला के निर्देश पर एनडीए की परीक्षा में शामिल होने के लिए 173 विद्यार्थियों को फार्म भरवाया गया है, जिन्हें बोर्ड परीक्षा के बाद विशेष कोचिंग दी जाएगी, इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा रणनीति बनाई जा चुकी है। उल्लेखनीय है कि एनडीए की परीक्षा वर्ष में दो बार अप्रैल एवं सितम्बर माह में आयोजित की जाती है। कलेक्टर के निर्देश पर जिले के कक्षा 5 वीं में अध्ययनरत 08 हजार विद्यार्थियों को नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए फार्म भरवाया गया है, जो अब तक का रिकॉर्ड है। कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला द्वारा स्कूलों में विद्यार्थियों की नियमित उपस्थिति के लिए भी विशेष प्रयास किये जा रहे हैं, इसके लिए उनके द्वारा अनुरोध  कार्यक्रम की शुरूआत की गई है, जिसमें लगातार अनुपस्थित रहने वाले विद्यार्थियों को विद्यालय में पुनः लाने का प्रयास किया गया, इसके लिए विद्यार्थी के साथ-साथ उनके पालक को भी समझाईश दी गई। इसके परिणाम स्वरूप 350 से अधिक विद्यार्थी जो नियमित रूप से स्कूल नहीं आ रहे थे, उन्हें पुनः स्कूल में लाया गया तथा इन बच्चों के लिए अतिरिक्त कक्षा लगाकर उन्हें मुख्यधारा से जोड़ा जा रहा है।

बोर्ड परीक्षा को देखते हुए कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला के मार्गदर्शन में ‘हमर लक्ष्य’ कार्यक्रम के तहत् समस्या समाधान की कक्षाओं का भी आयोजन किया जा रहा है, जिसमें विद्यार्थी के अध्ययन में आने वाली समस्या का समाधान किया जा रहा है। बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए हेल्पलाइन नम्बर भी जारी किया गया है, जिसमें प्रत्येक दिवस सायं 05 बजे से 07 बजे तक फोन के माध्यम से विद्यार्थी अपनी समस्याओं का समाधान करा सकते हैं। प्रत्येक विद्यालय में कम अच्छे व अच्छे बच्चों का चिन्हांकन कर कम अच्छे विद्यार्थियों के लिए एक-एक मेंटर शिक्षक की व्यवस्था किया गया है। प्रत्येक विद्यार्थी को बोर्ड परीक्षा में अच्छे नम्बर से उत्तीर्ण होने के लिए मेंटर शिक्षक द्वारा मार्गदर्शन दिया जा रहा है।

Back to top button
close