बढ़ गया मुख्यमंत्री शहरी स्वास्थ्य योजना का दायरा ..रतनपुर समेत 6 नए क्षेत्रों को mmu से जोड़ा गया..कमिश्नर ने बताया..14 हजार लोगों ने कराया टेस्ट..लाख से अधिक मरीजों को निःशुल्क दवा

बिलासपुर—गुरूवार को राजधानी स्थित मुख्यमंत्री आवास से प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल समेत प्रदेश के दिग्गज नेताओं ने हरी झण्डी दिखाकर मुख्यमंत्री शहरी श्रम स्वास्थ्य योजना के लिए एम्बुलेन्स को रवाना किया। इस दौरान सीएम ने बताया कि अब दायरा बढ़ाते हुए योजना को प्रदेश के नगर पंचायत और नगर पालिका तक पहुंचा दिया गया है। इससे अब अधिक से अधिक लोगों को निशु्ल्क इलाज के साथ निशुल्क दवाइयों का वितरण मिलेगा। साथ ही मरीजों को अब अस्पताल का चक्कर भी नहीं काटना पड़ेगा।

                 जानकारी देते चलें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के 169 नगर पालिका और नगर पंचायत के लिए मुख्यमंत्री शहरी श्रम स्वास्थ्य योजना के लिए हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। निगम कमिश्नर अजय त्रिपाठी ने बताया कि अब बिलासपुर शहर के बाहर रतनपुर,तखतपुर नगरपालिका समेत कोटा, बिल्हा, बोदरी और मल्हार नगर पंचायत को योजना में शामिल किया गया है।

क्या है योजना श्रम स्वास्थ्य योजना 

              राज्य शासन की महति योजना मुख्यमंत्री शहरी  श्रम स्वास्थ्य योजना के तहत अब तक निगम स्थित स्लम क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त स्वास्थ्य एम्बुलेन्स की व्यवस्था है। क्षेत्र विशेष में निश्चित तारीख को पहुंचकर डाक्टरों की टीम बीमार लोगों का चेकअप करती है। साथ ही निशुल्क दवाइयों का वितरण भी किया जाता है। योजना का संचालन बिलासपुर में 2 नवम्बर 2020 से किया जा रहा है।

 कहां कहां पहुंचता है एम्बुलेन्स

        अजय त्रिपाठी ने बताया कि शहरी श्रम स्वास्थय योजना के तहत बिलासपुर निगम क्षेत्र में कुल 4 एम्बुलेन्स की सुविधा है।  शहर के 48 पाइंट पर प्रत्येक 15 दिनों के अन्तराल में महीने के दिन टीम एम्बुलेन्स के साथ पहुंचती है। यहां 41 प्रकार टेस्ट किया जाता है। एम्बुलेन्स एक डॉक्टर के अलावा फार्मासिस्ट,नर्स और लैब अस्टिटेन्ट हमेशा रहता है। जरूरत पड़ने पर मरीजों को सलाइन भी चढ़ाया जाता है। करीब 8 घण्टे टीम अपनी सेवाएं देती है।

अब तक इतने लोगों को मिला लाभ

             निगम आयुक्त के अनुसार नवम्बर से अब तक कुल 48 पाइंट पर1644 कैम्प लगाए गए हैं। कुल एक लाख 38 हजार से अधिक मरीज एम्बुलेन्स तक पहुंचे। प्रतिदिन औसत 86 टीम ने इलाज किया। इसमें कुल 13993 ने टेस्ट भी कराया। जबकि एक लाख 34 हजार 204 लोगों को निशुल्क दवाईयों भी दी गयी है।

 रतनपुर समेत जिले के 6 क्षेत्रों को योजना से जोड़ा गया

           निगम अधिकारी अनुपम तिवारी ने बताया कि आज हरी झण्डी दिखाकर मुख्यमंत्री ने योजना का ना केवल विस्तार किया। बल्कि बिलासपुर जिले को तीन नए एम्बुलेन्स का तोहफा भी दिया है। बिलासपुर में योजना का संचालन बिलासपुर जिला अर्बन पब्लिक सर्विस सोसायटी के माध्यम से संचालित किया जाता है। कलेक्टर पदेन अध्यक्ष, पुलिस कप्तान पदेन उपाध्यक्ष और निगम कमिश्नर पदेन सचिव होते है। इसके अलावा योजना संचालन के लिेए जिला स्तर पर तीन नोडल अधिकारी भी है।

                 योजना का विस्तार कर निगम से बाहर नगर पंचायत और नगरपालिका तक किया गया है। अब रतनपुर, तखतपुर, कोटा, बिल्हा, बोदरी समेत मल्हार के लोगों को भी मुख्यमंत्री शहरी श्रम स्वास्थ्य योजना का लाभ मिलेगा। योजना के तहत सस्ता से मंहगा लैब टेस्ट की व्यवस्था है। 

                  तीन नई गाड़ियों का भी संचालन बिलासपुर से ही किया जाएगा। निगम क्षेत्र की तरह जोड़े गए क्षेत्रो में पन्द्रह दिनों के अन्तराल में दो कैम्प का आयोजन किया जाएगा।

नया शेड्यूल जल्द होगा तैयार

 अप्रैल  का टारगेट निगम टीम ने तैयार कर लिया है। पूर्व निर्धारित योजना के अनुसार निगम के 48 पाइंट पर 90 कैम्प का आयोजन होगा। यानि एम्बलेन्स और टीम पन्द्रह दिनों के अन्तराल में मौके पर पहुंच अपनी सेवाए देगी। इसके अलावा अब नए जोड़े गए क्षेत्रों के लिए दो एक दिन के अन्डर शेड्यूल तैयार कर लिया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *