Fake Degree: फर्जी डिग्री, 11 शिक्षाकर्मियों को तीन-तीन साल की सजा

Shri Mi
1 Min Read

Fake Degree।गरियाबंद।बहुचर्चित मैनपुर फर्जी शिक्षाकर्मीभर्ती के एक मामले में शुक्रवार को 11 शिक्षाकर्मियों को 3-3 साल कीसजा व एक-एक हजार के अर्थदंड से दंडित किया है। हालांकि सभी दोषियों को उसी दिन जमानत मिल गई।

न्यायालय ने मामले में 26 गवाहों के बयान दर्ज किए थे।दस्तावेजी साक्ष्य के बाद आरोपी 11 शिक्षाकर्मियों को दोषी पाया गया। वहीं, चयन समिति के 6 अधिकारियों पर दोष सिद्ध नहीं हो पाया।

वर्ष 2008 में व्यापमं से हुई भर्ती में बगैर डीएड और बीएड के अभ्यार्थियों को चयनं परीक्षा में शामिल होने की पात्रता नहीं थी।आरोपी पीताम्बर 4 साहू, योगेन्द्र सिन्हा, देव नारायण साहू, भेगेश्वरी साहू, हेमलाल साहू, दौलत राम साहू, संजय शर्मा, ममता सिन्हा, शंकर लाल साहू, अरविंद कुमार सिन्हा, शिव कुमार साहू ने परीक्षा के लिए भरे ऑनलाइन फॉर्म में डीएड करना बताया।Fake Degree

किसी तरह अपने आप को चयन सूची में शामिल भी करा लिया। सत्यापन की बारी आई तो डीएड का फर्जी प्रमाण पत्र लगा दिया, जिसे चयन समिति ने भी मान लिया था। धमतरी जिले के चंदना निवासी आरटीआईकार्यकर्ता कृष्ण कुमार ने 11 लोगों द्वारा लगाए गए प्रमाण पत्र के फर्जी होने का खुलासा किया। रायपुर पुलिस अधीक्षक को अप्रैल 2010 को शिकायत की थी।

close