किसानों ने भेजा सीएम के नाम 6 सूत्रीय मांग पत्र.. 2 थानेदारों को पुलिस कप्तान की फटकार..धीरेन्द्र ने कहा..किसानों को दिया जाए 50 लाख मुआवजा

बिलासपुर—-भारतीय किसान संघ के जिला अध्यक्ष धीरेन्द्र दुबे की अगुवाई में किसानों ने जिला प्रशासन को सीएम के नाम 6 सूत्री मांग पत्र दिया। जिला प्रशासन को धीरेन्द्र दुबे ने मांग पत्र के माध्यम से किसानो की परेशानियों को सामने रखा। साथ ही जल्द से जल्द समस्या दूर किए जाने को कहा। 
 
           किसान नेता धीरेन्द्र ने जिला प्रशासन को सीएम भूपेश बघेल को दिए गए 6 मांग पत्र में बताया कि छत्तीसगढ़ के किसान आर्थिक रूप से बहुत कमजोर हैं। किसानों के किसी भी प्रकार की दुर्घटना मृत्यु में परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। उत्तरप्रदेश में किसानो के मृत्यु पर सीएम ने 50-50 लाख रूपया मुआवजा देने का एलान किया है। इसी तरह छत्तीगढ़ के किसानों को भी 50 लाख रूपया त्वरित मुआवजा देने को कहा। विधानसभा में मुआवजा नीति में संशोधन की भी बात कही। 
 
                 धान खरीदी के लिए नवीन पंजीयन का काम जल्द से जल्द पूरा किया जाए। धान खरीदी वर्ष 2021-22 का 1 नवम्बर से प्रारम्भ कराया जाए। पिछली बार की तरह बारदाने की कमी ना हो इसलिए अग्रिम व्यवस्था का किया जाना बहुत जरूरी है। इसके अलावा किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल की वजाय धान की खरीदी 20 क्विंटल की जाए। राजीव गांधी न्याय योजना की राशि एक क़िस्त में दी जाए। इससे किसानों को सहुलियत होगी। 
 
                      किसान नेता दुबे ने बताया कि जल संसाधन विभाग के विभिन्न जनपदों में खारंग जलाशय के नहरों का काम आधा अधूरा है। जरूरी है कि नवीन सड़क निर्माण के साथ टूट चुकी सड़कों की मरम्मत यथाशीघ्र की जा्ए। सिंचाई के लिए दिए गए अस्थायी बिजली कनेक्शन को स्थायी कनेक्शन किया जाए। फौती,नामांतरण,बटवारा,संशोधन का काम जल्द से जल्द से पूरा किया। तहसीलों में होने वाले भ्रष्टाचार पर लगाम लगायी जाए।
 
                     किसान नेता जिला प्रशासन को बताया कि ऐसे कोचियों और व्यापारियों को जिन्होने धान खरीदने के बाद भी एक साल से किसानों का भुगतान नहीं किया है। ऐसे लोगों के खिलाफ अपराध पंजीकरण कर दण्डात्मक कार्यवाही की जावे। साथ ही किसानों को भुगतान कराया जाए। 
 
पुलिस कप्तान ने लगाई फटकार
 
           धीरेन्द्र दुबे के साथ किसानों ने पुलिस कप्तान से मिलकर कोचियों और व्यापारियों की शिकायत की। धीरेन्द्र दुबे ने बताया कि मस्तूरी विकास खंड के 21 और बिल्हा विकासखंड के 5 किसानों से धान खरीदी कर कोचिया और व्यापारियों ने लाखों रूपयों का भुगतान नहीं किया है। अब किसान बहुत परेशान है। जबकि मामले में मल्हार और सरकंडा थाना में शिकायत भी हुई। लेकिन अभी तक किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई है।
 
               किसानों की शिकायत के बाद पुलिस कप्तान दीपक झा ने तत्काल दोनों थाना प्रभारियों को फटकार लगाते हुए किसानों की शिकायत को गंभीरता से लेने को कहा। साथ ही शाम तक कार्यवाही कर वस्तुस्थिति से अवगत कराने को कहा। पुलिस कप्तान ने थानेदारों को स्पष्ट निर्देश दिया कि कोचियों से किसानों को रूपए नहीं दिए जाने पर अपराध दर्ज करने को कहा। 
 
                       ज्ञापन देते समय प्रतिनिधिमंडल में जिला महामंत्री सोनू तिवारी ,जिला महिला प्रमुख चांदनी भारद्वाज, जिला उपाध्यक्ष द्वय विजय यादव ,राजू सिंह जिला कोषाध्यक्ष माधोसिंह , आर एस पांडेय, लक्छमी सिन्हा ,मनहरण साहू , अजय सोनी ,राजीव रंजन शर्मा , विक्रम सिंह , महेंद्र पटेल , शौरभ पटेल , धर्मराज सिंह , शुभम उपाध्याय , बालिका वस्त्रकार , आनंद ध्रुव , राकेश भोसले , हेतराम कौशिक , राजकुमार कौशिक , डकेश्वर नेताम , ध्रुवकुमार शर्मा , दिलेराम , कन्हैया श्रीवास , बाबूलाल वर्मा , मेलराम , संतकुमार , सहित सैकड़ों पीड़ित किसान शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *