कृषि मंत्री ने कहा-धान विक्रय के लिए किसान पहले दिन से ही अपने बारदाने में ला सकेंगे धान

रायपुर। कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा है कि राज्य में एक दिसंबर से शुरू होने जा रही धान खरीदी के पहले दिन से ही किसान भाई अपने बारदाने में धान विक्रय के लिए ला सकेंगे। किसानों के सुविधा को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह निर्णय लिया है। किसानों को धान बेचने में किसी भी तरह की परेशानी न हो, इसको ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार सभी तरह की व्यवस्थाएं कर रही है। राज्य में इस साल 105 लाख मीटरिक टन धान की खरीदी अनुमानित है, जिसके एवज में किसानों के खाते में लगभग 27 हजार करोड़ रूपए अंतरित किए जाएंगे। किसानों को पहले दिन से ही राशि का भुगतान किया जाएगा।

कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री चौबे आज राजनांदगांव जिले के छुरिया विकासखंड के ग्राम कुमरदा में दीपावली मिलन एवं कृषक सम्मान समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने 2.85 करोड़ रूपए की लागत वाले कोलियारी जलाशय एवं नहर लाईनिंग कार्य का भूमिपूजन किया और उत्कृष्ट कृषकों को प्रतीक चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। कृषि मंत्री ने इस मौके पर राज्य स्तरीय कृषि मेला राजनांदगांव में कराने की भी घोषणा की। उन्होंने ग्राम कुमरदा में सीसी रोड निर्माण के लिए 50 लाख रूपए की स्वीकृति दी।

कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि शासन ने गोधन न्याय योजना शुरू की है। गौठानों में इस योजना के तहत 2 रूपए प्रति किलो में गोबर की खरीदी की जा रही है। स्व-सहायता समूह की महिलाएं गौठान में विभिन्न आर्थिक गतिविधियों के माध्यम से सशक्त हो रही हैं। गौठानों को ग्रामीण औद्योगिक पार्क विकसित किए जाने का काम शुरू किया गया है, ताकि ग्रामीण लघु उद्योग की गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा सके। राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना में भूमिहीन किसानों को प्रतिवर्ष 6 हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। मंत्री श्री चौबे ने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष पौने तीन लाख किसानों ने अधिक पंजीयन कराया है। शासन द्वारा तेन्दूपŸाा 4 हजार रूपए प्रति मानक बोरा समर्थन मूल्य में खरीदी की जा रही है। उन्होंने कहा कि देश में समर्थन मूल्य में सबसे अधिक उत्पादों की खरीदी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *