1 जून से देखने को मिलेंगे ये 5 बड़े बदलाव, जानें कितना बढ़ जाएगा आपकी जेब पर बोझ

बिलासपुर।मई का महीना खत्म होने को है. हर बार की तरह इस बार भी नया महीना शुरू होते ही कुछ छोटे-बड़े बदलाव देखने को मिलते हैं. तो इस बार भी जून की शुरुआत में होने वाले बदलावों के बारे में जानना आपके लिए बेहद जरूरी है, क्योंकि इनका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ने वाला है. इनमें बैंकिंग नियमों से लेकर सोने की खरीदारी तक के कई नियम बदल जाएंगे. आइए जानते हैं कैसे जून का महीना आपकी जेब पर भारी पड़ने वाला है.

सबसे पहले बात कर लेते हैं जेब का खर्च बढ़ाने वाले पहले बदलावों की. एक जून 2022 से वाहनों का थर्ड पार्टी बीमा महंगा होने जा रहा है. यानी आपको इंश्योरेंस प्रीमियम का ज्यादा भुगतान करना होगा. न केवल चार पहिया, बल्कि दो पहिया वाहन स्वामियों पर ये नई दरें लागू होंगी. केंद्र सरकार ने बुधवार को थर्ड पार्टी मोटर व्हीकल इंश्योरेंस के प्रीमियम रेट में इजाफा कर दिया है.

इंजन क्षमता के मुताबिक प्रीमियम

केंद्र सरकार के फैसले के बाद अब कार के इंजन के हिसाब से बीमा कराने के लिए ज्यादा राशि का भुगतान करना पड़ेगा. सड़क एवं परिवहन मंत्रालय की ओर से जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक, मोटर इंश्योरेंस के प्रीमियम में इससे पहले साल 2019-20 के लिए बढ़ोतरी हुई थी. मंत्रालय के मुताबिक, अब 1,000 सीसी से कम क्षमता वाले इंजन के वाहनों को थर्ड पार्टी बीमा के लिए निर्धारित प्रीमियम 2,094 रुपये देने होंगे, जो 2019-20 में 2,072 रुपये था.

इसके अलावा 1,000 सीसी से 1,500 सीसी वाली कारों का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस का प्रीमियम 3,221 रुपये से बढ़ाकर 3,416 रुपये किया गया है. 1,500 सीसी से ऊपर वाले वाहनों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम में मामूली बढ़ोतरी की गई है और यह 7,890 रुपये की जगह 7,897 रुपये हो गया है.

दोपहिया वाहनों के लिए भी सरकार ने थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम की दर में बदलाव किया है. अधिसूचना के मुताबिक, एक जून 2022 से 150 सीसी से लेकर 350 सीसी वाली बाइक का प्रीमियम 1,366 रुपये बसूला जाएगा, जबकि 350 सीसी से ज्यादा क्षमता वाले इंजन वाले दोपहिया वाहनों के लिए इंश्योरेंश प्रीमियम 2,804 रुपये फिक्स किया गया है.

गोल्ड हॉलमार्किंग का अगला चरण

गोल्ड हॉलमार्किंग का दूसरा चरण साल 2022 में एक जून 2022 से शुरू किया जाएगा. सरकार ने बीते दिनों इस बात की जानकारी साझा करते हुए कहा था कि जून की शुरुआत से गोल्ड हॉलमार्किंग के दूसरे चरण को शुरू कर दिया जाएगा, जिसके तहत सोने की शुद्धता का प्रमाण करना जरूरी होगा.

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने कहा कि अनिवार्य हॉलमार्किंग के दूसरे चरण के दायरे में सोने के आभूषणों के तीन अतिरिक्त 20, 23 और 24 कैरेट के अलावा 32 नए जिले भी आएंगे. जहां पहले चरण के क्रियान्वयन के बाद एक परख एवं हॉलमार्क केंद्र (एएचसी) स्थापित होगा. यहां बता दें कि पहले चरण की शुरुआत नोडल एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) ने 23 जून 2021 से देश के 256 जिलों में अनिवार्य गोल्ड हॉलमार्किंग को लागू करके की थी.

अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक है या फिर आप एसबीआई से होम लोन के मन बना रहे हैं तो नए महीने की शुरुआत आपके लिए भी खर्च बढ़ाने वाली होगी. दरअसल, बता दें कि एसबीआई ने अपने होम लोन एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट (EBLR) को 40 बेसिस प्वाइंट बढ़ाकर 7.05 पर्सेंट कर दिया है, जबकि आरएलएलआर  6.65 पर्सेंट प्लस सीआरपी होगा. एसबीआई की वेबसाइट पर साझा की गई जानकारी के अनुसार, ये बढ़ी हुई ब्याज दरें एक जून, 2022 से प्रभावी होंगी. गौरतलब है कि पहले, ईबीएलआर 6.65 पर्सेंट थी, जबकि रेपो-लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) 6.25 प्रतिशत निर्धारित थी.

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक शुल्क लागू

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) ने कहा है कि आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) के लिए जारीकर्ता शुल्क लागू कर दिया गया है. ये शुल्क 15 जून, 2022 को लागू किया जाएगा. इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक भारतीय डाक की एक सहायक कंपनी है, जो डाक विभाग द्वारा शासित है.

नियमों के तहत हर महीने पहले तीन एईपीएस लेन-देन मुफ्त होंगे, जिसमें एईपीएस नकद निकासी, एईपीएस नकद जमा और एईपीएस मिनी स्टेटमेंट शामिल हैं. मुफ्त लेन-देन के बाद, प्रत्येक नकद निकासी या नकद जमा पर 20 रुपये और GST लगेगा, जबकि एक मिनी स्टेटमेंट लेन-देन पर 5 रुपये और जीएसटी लागू होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *