पहली बार पुलिस के गिरफ्त में आया.. संजय कंठा..1 साल से दे रहा था पुलिस को चकमा..लाखों के जेवरात बरामद

बिलासपुर—- पुलिस ने मिशन सिक्योर सिटी अभियान के तहत सीसीटीवी कैमरा फुटेज के सहयोग से शातिर चोर को गिरफ्तार किया है। आरोपी चोरी के बाद लगातार वेषभूषा बदलकर पुलिस से छिप रहा था। आरोपी के पास से पुलिस ने दस लाख रूपए की कीमती सोने चांदी के जेवर को भी बरामद किया है। 

                  डीएसपी स्नेहिल साहू और साइबर सेल प्रभारी मोहम्मद कलीम ने पत्रकारों को बताया कि फरवरी महीने  में शहीद परिवार के घर में लाखों के जेवरात की चोरी को अंजाम देने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 8 फरवरी को अश्वनी कुमार बरगा ने तारबाहर थाना पहुंचकर बताया कि वह सीएमडी चौक स्थित अब्दुल रशीद खान  फिल्टर वाले की दुकान में काम करता है। दुकान मालिक अब्दुल रशीद इंद्रा कालोनी तारबाहर में रहते है। अब्दुल रशीद 2 फरवरी 21 को अपने परिवार के साथ उज्जैन गए हैं। उन्होने घर के बाथरूम का नल ठीक कराने फोन किया था। 8 फरवरी को दुकान से घर की चाबी लेकर मिस्त्री नरेन्द्र साहु के साथ मालिक के घर गया।

             घर पहुंचने पर दरवाजे का ताला टूटा पाया। घर अन्दर सामान बिखरा हुआ था। इसके बाद तत्काल मालिक को वीडियो काल कर घर की स्थिति को दिखाया। मालिक ने बताया कि आलमारी में सोने चांदी के जेवर रखे हैं। उन्होने वीडियो काल के जरिए स्थिति को देखा। मालिक के कहने पर चोरी की शिकायत दर्ज कराने आया है।

              पुलिस ने अश्रवनी बरगा की शिकायत को दर्ज किया। मामले को विवेचना में लिया गया। मालिक अब्दुल रशीद खान के आने के बाद दुबारा घटना स्थल का निरीक्षण किया गया। अब्दुल रशीद ने पुलिस को बताया कि करीब 10-12 लाख के जेवरात पर चोरों ने हाथ साफ किया है।

                   डीएसपी स्नेहिल साहू ने जानकारी दी कि पुलिस कप्तान के निर्देश पर तीन टीम का गठन किया गया। साथ ही सीसीटीवी फुटेज खंगालने एक विशेष टीम को मुहिम में लगाया गया। सूत्रो से जानकारी हासिल करने और सीसीटीवी फुटेज को खंगालने के बाद पुलिस आरोपी तक पहुचने में सफलता मिली। संदेही को चिन्हांकित कर आरोपी संजय खरे उर्फ कंठा को पकड़ा गया। पूछताछ में आरोपी ने चोरी के जुर्म को कबूल किया। साथ ही आरोपी के पास से चोरी के जेवरात को बरामद किया गया। शत प्रतिशत बरामद जेवर की कीमत करीब 10 लाख रूपये है।

                       डीएसपी स्नेहिल और सायबर सेल प्रभारी कलीम ने बताया कि आरोपी संजय कंठा शातिर नकबजन है। घटना के बाद पुलिस से बचने लगातार ठिकाना बदल रहा था। घटना के बाद से संजय कंठा अकलतरा जांजगीर लोरमी मुंगेली में वेषभूषा बदलकर पुलिस को लगातार चकमा देता रहा।  स्थानीय लोगों से आरोपी के संबंध में पतासाजी करने वाली टीम को जानकारी मिली कि संजय कंठा इस समय लोरमी में है। सूचना मिलते ही पुलिस टीम को रवाना किया गया।

                     लोरमी में लोगों से पूछताछ के बाद आरोपी को धर दबोचा गया। पुलिस अधिकारियों ने पत्रकारों को बताया कि संजय कंठा पूर्व में भी चोरी के कई मामलों में शामिल है। सकरी में एक पुलिस अधिकारी के घर को भी निशाना बनाया है। पिछले एक साल से आरोपी की तलाश थी। उसे पहली बार गिरफ्तार किया गया है।

              आरोपी तक पहुचने और गिरफ्तार करने में तारबाहर थाना प्रभारी निरीक्षक कलीम खान, उप निरीक्षक प्रसाद सिन्हा, उप निरीक्षक पीआर साहू, आरक्षक प्रमोद कसेर, दीपक उपाध्याय, अतुल सिंह, निखिल राव जाधव,  दूजराम पटे का विशेष सहयोग रहा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *