जबरदस्ती सेवानिवृत का विरोध—वन कर्मचारियों ने कहा…अब होगा उग्र प्रदर्शन

IMG-20170918-WA0122रायपुर-छतीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय  कर्मचारी संघ ने सोमवार को भोजनावकाश के बाद वन विभाग के सामने विरोध प्रदर्शन किया। जबरदस्ती सेवानिवृत किए जाने के खिलाफ नारेबाजी की। वन कर्मचारियों ने सरकार की तानाशाही जैसे फरमान पर सवाल निशान भी उठाए। इसके पहले सभी वनकर्मियों ने बाइक रैली निकालकर कर्मचारियों की तरफ से संदेश दिया कि एकता और विश्वास के आगे सरकार के तुगलकी आदेश को मानने का सवाल ही नहीं उठता है।

                                         सोमवार को रायपुर में वनकर्मचारियों ने जबरदस्ती सेवानिवृत किये जाने के आदेश का विरोध किया। वन विभाग घेराव के पहले छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ ने बाइक रैली निकाली। वन कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ जनकर नारेबाजी की। सरकार पर तुगलकी फरमान जारी करने का आरोप लगाया।

             वन कर्मचारियों ने 1.30 बजे भोजनावकाश के बाद राजधानी के वन विभाग मुख्यालय जेल रोड़ रायपुर में सैकड़ों की संख्या में इकठ्ठा हुए।वन विभाग कर्मचारियों ने जबरिया सेवानिवृत्ति को सरकारी की तानाशाही पूर्ण नीति बताया। वन कर्मियों ने कहा कि कर्मचारी और जन विरोधी आदेश को किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं किया जाएगा। जरूरत पड़ी तो उग्र आंदोलन भी करेंगे।

                             प्रदर्शन के दौरान रायपुर संघ जिलाध्यक्ष इदरीस खान ने बताया कि शासन की मनमानी को बर्दास्त नहीं करेंगे। सेवा शर्तों के साथ किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं किया जाएगा। यदि सरकार ने जबरदस्ती की तो उसका मुंहतोड़ जवाब वनकर्मी देंगे। जबरदस्ती सेवानिवृत के आदेश को किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं करेंगे।

                               बाइक रैली और वन विभाग घेराव के दौरान संघ के महामंत्री विजय झा , प्रांतीय उपाध्यक्ष अजय तिवारी , बी जी बंग , उमेश मुदलियार, सम्भागीय अध्यक्ष , सतीष मिश्रा वन विभाग कर्मचारी संघ, राजधानी रायपुर के पदाधिकारी मौजूद थे।

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *