पूर्व सरपंच,सचिव गिरफ्तार..दोनों पर फर्जी हस्ताक्षर से आवास योजना की राशि निकालने का आरोप..कोर्ट के आदेश पर तोरवा पुलिस की कार्रवाई

बिलासपुर—- तोरवा पुलिस ने हितग्राही के साथ फर्जीवाड़ा करने वाले पूर्व सरपंच और सचिव को गिरफ्तार किया है। दोनों पर हितग्राही का फर्जी हस्ताक्षर कर बैंक से राहत राशि निकालने का आरोप है।
 
              तोरवा थानेदार परिवेश तिवारी ने बताया कि किसान के खाते से फर्जी हस्ताक्षर कर आवास योजना की राशि आहरण करने के आरोप में ठेका के पूर्व सरपंच और सचिव को गिरफ्तार किया गया है। परिवेश ने बताया कि प्रार्थी मालिक राम निवासी ढेका की शिकायत और न्यायालय के आदेश  पर दोनों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है।
   
           शिकायत कर्ता ने बताया कि इंदिरा आवास योजना के तहत 25000 रूपए जनपद पंचायत बिल्हा से मिलना था। लेकिन आरोपिओ ने उसके स्थान पर किसी दूसरे को हितग्राही बनाकर पेश किया। फर्जी हस्ताक्षर कर खाते से  25000 रूपए निकाल लिए। 
 
         प्रार्थी ने मामले को लेकर न्यायालय में परिवाद दायर किया। न्यायालय ने तोरवा पुलिस को जाँच के लिए सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत अपराध दर्ज करने का निर्देश दिया।  पुल िस ने आरोपियों के खिलाफ आपीसी की धारा 420,467.468.471  के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया है।
       
                 दोनों आरोपियों ठेका के पूर्व सरपंच जीवन लाल और पूर्व सचिव विनोद यादव को तत्काल गिरफ्तार किया गया है। विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही की गयी है।
 
              पूरी कार्यवाही मे थाना प्रभारी परिवेश तिवारी निरीक्षक के अलावा सहायक उप निरीक्षक दादुरैया ठाकुर, एचसी शोभित, संगीता नेताम और तोरवा पुलिस स्टाफ का योगदान विशेष रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *