मेरा बिलासपुर

CG NEWS:सीयू में स्थापना दिवस समारोहःउत्तरायण के सूर्य के समान बिखरेंगी सीयू की किरणें- प्रो. नीलांबरी दवे

CG NEWS:बिलासपुर। गुरू घासीदास विश्वविद्यालय (केन्द्रीय विश्वविद्यालय) में रविवार को पन्द्रहवां स्थापना दिवस एवं 14 वां वर्षगांठ समारोह आयोजित किया गया। विश्वविद्यालय के रजत जयंती सभागार में आयोजित समारोह की मुख्य अतिथि प्रो. नीलांबरी दवे, पूर्व कुलपति सौराष्ट्र विश्वविद्लालय, राजकोट गुजरात रहीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता आभासी माध्यम से विश्वविद्यालय के  कुलपति  प्रोफेसर आलोक कुमार चक्रवाल ने की। अन्य मंचस्थ अतिथियों में विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति प्रो. अमित सक्सेना, कुलसचिव प्रो. मनीष श्रीवास्तव व अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. एम.एन. त्रिपाठी शामिल रहे।
पंन्द्रहवें स्थापना दिवस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि प्रो. नीलांबरी दवे, पूर्व कुलपति सौराष्ट्र विश्वविद्लालय, राजकोट गुजरात ने सभी उपस्थित जनों को स्थापना दिवस एवं मकर संक्रांति की शुभकामनाएं प्रदान कीं। विश्वविद्यालय में विश्व और विद्यालय शब्द शामिल है जिसका मतलब है कि हम विश्व के अकादमिक जगत का प्रतिनिधित्व करते हैं। जिस प्रकार उत्तरायण में सूर्य के प्रकाश में निरंतर वृद्धि होती है उसी प्रकार विश्वविद्यालय की प्रगति हो रही है। हमें वरिष्ठ जनों के अनुभव का लाभ लेते हुए विश्वविद्यालय के अकादमिक वातावरण को और भी अधिक सजीव बनाना होगा।
समारोह की अध्यक्षता कर रहे विश्वविद्यालय के  कुलपति  प्रोफेसर आलोक कुमार चक्रवाल ने मकर संक्रांति और स्थापना दिवस की शुभकामनाएं प्रदान करते हुए कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुरूप विश्वविद्यालय में स्वावलंबी छत्तीसगढ़ योजना प्रारंभ की गई है जो विद्यार्थियों को आत्मनिर्भर बनाने की ओर निरंतर प्रयास कर रही है। मूल्य आधारित, अनुभवजन्य एवं रोजगारपरक शिक्षा विद्यार्थियों तक पहुंचाने के लिए सभी शिक्षक साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं।
कुलपित प्रो. चक्रवाल ने कहा कि ग्रामीण प्रौद्योगिकी एवं सामाजिक विकास विभाग द्वारा मशरूम के उत्पादन का कार्य प्रारंभ किया गया जो आने वाले समय में बड़े स्तर पर किया जाएगा तथा इससे विद्यार्थी आर्थिक रूप से लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि विभिन्न औद्योगिक एवं नवाचार की गतिविधियों को संपादित किये जाने के लिए सेक्शन 8 के अंतर्गत कंपनी की स्थापना की गई है। मशरूम एवं अन्य उत्पादों की मॉनिटरिंग, मार्किटिंग के लिए ऑनलाइन मार्केटिंग वेबसाइट का भी सहयोग लिया जाएगा।
कार्यक्रम में प्रभारी कुलपति प्रो. अमित कुमार सक्सेना ने राज्य विश्वविद्यालय से केन्द्रीय विश्वविद्यालय के रूप में उन्नयन के विषय में विस्तार से जानकारी प्रदान की।
तत्पश्चात हरित परिसर अभियान के अंतर्गत मुख्य अतिथि प्रो. नीलांबरी दवे, पूर्व कुलपति सौराष्ट्र विश्वविद्लालय, राजकोट गुजरात ने ई-रिक्शा एवं साइकिल सवार विद्यार्थियों को हरी झंडी दिखाई। ग्रामीण प्रौद्योगिकी एवं सामाजिक विकास विभाग ने हस्तकला प्रदर्शनी तथा फार्मेसी विभाग के विद्यार्थियों द्वारा औषधीय चाय का स्टाल लगाया गया।
इससे पूर्व रजत जयंती सभागार में आयोजित कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन कर मां सरस्वती एवं बाबा गुरू घासीदास जी की प्रतिमा पर पुष्पअर्पित किये। इस दौरान तरंग बैंड ने सरस्वती वंदना व कुलगीत की मोहक प्रस्तुति दी। तत्पश्चात नन्हें पौधे से मंचस्थ अतिथियों का स्वागत किया गया। स्वागत उद्बोधन कार्यक्रम के संजोयक अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. एम.एन. त्रिपाठी ने दिया।
मंचस्थ अतिथियों द्वारा एनएसएस और एनसीसी के विजेता विद्यार्थियों को प्रमाण-पत्र एवं मेडल प्रदान किया गया। कार्यक्रम में शॉल, श्रीफल एवं स्मृति चिह्न भेंट कर अतिथियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. गरिमा तिवारी, सहायक प्राध्यापक वानिकी, वन्य जीव एवं पर्यावरण विभाग एवं धन्यवाद ज्ञापन विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. मनीष श्रीवास्तव ने किया। समारोह में विभिन्न विद्यापीठों के अधिष्ठातागण, विभागाध्यक्षगण, शिक्षकगण, अधिकारीगण, कर्मचारीगण, शोधार्थी एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

एक्साइज ड्यूटी का जमकर विरोध
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS