गणेश चतुर्थी आज, जानें शुभ मुहूर्त और कहां कैसी तैयार

नई दिल्ली।Ganesh Chaturthi 2021 : आज देशभर में गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाया जा रहा है. शुक्रवार से  शुरू होकर गणेशोत्सव 19 सितंबर को अनंत चतुर्दशी पर गणेश विसर्जन किया जाएगा. ब्रह्म और रवियोग में गणपति स्थापना होगी. पूजन का शुभ मुहूर्त 12 बजकर 17 मिनट पर अभिजीत मुहूर्त से शुरू होगा और रात 10 बजे तक पूजन का शुभ समय रहेगा. गणेश चतुर्थी के दिन 11 बजकर 09 मिनट से 10 बजकर 59 मिनट तक पाताल निवासिनी भद्रा रहेगी. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की कृपा से सुख-शांति और सौभाग्य की प्राप्ति होती है.  

पूजा का शुभ मुहूर्त
गणेश पूजन के लिए मध्याह्न मुहूर्त :11:03 बजे से 13:33 बजे तक यानि पूजा का मुहूर्त दो घंटे 30 मिनट तक माना गया है.
शुभ मुहूर्त अपराह्न 12:18 बजे से चतुर्थी तिथि की समाप्ति रात 9:57 बजे तक है.समय जब चन्द्र दर्शन नहीं करना है: 09:12 बजे से 20:53 बजे तक

इन ग्रहों का है संयोग
इस साल गणेश चतुर्थी पर कई शुभ योग बन रहे हैं जो इस त्योहार को और भी खास बना रहे हैं. 10 सितंबर 2021 को गणेश चतुर्थी के दिन बुध और मंगल कन्या राशि में युति करेंगे तथा शुक्र और चंद्रमा की युति तुला राशि में होगी. तुला राशि शुक्र की अपनी राशि है और शुक्र और चंद्रमा को महिला प्रधान ग्रह माना जाता है, इसलिए इन दोनों की युति इस भाव में होने से महिलाओं के लिए यह गणेश चतुर्थी अत्यंत शुभकारी रहेगी.

वहीं कोरोना को देखते हुए कुछ राज्यों ने गणेशोत्सव को लेकर कुछ पाबंदियां भी लगा दी हैं. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गणेश चतुर्थी के अवसर पर सार्वजनिक स्थानों पर गणेश प्रतिमाएं नहीं स्थापित का आदेश दिया है. लोग घरों व मंदिरों में प्रतिमा स्थापित कर पूजन कर सकेंगे. इसके साथ ही अनावश्यक भीड़ एकत्र करने पर रोक रहेगी. कोरोना को लेकर हुई एक बैठक में अधिकारियों से बात करने के बाद आदेश जारी कर दिए गए. 

दिल्ली में भी लगी रोक 
कोरोना संकट के चलते इस बार भी दिल्ली में गणेश चतुर्थी धूमधाम से नहीं मनाई जा सकेगी. कोरोना के मद्देनजर दिल्ली में इस साल भी सार्वजनिक जगहों पर गणेश चतुर्थी का आयोजन नहीं होगा. दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने इससे संबंधित आदेश जारी कर दिए हैं. आदेश में लोगों से घरों पर गणेश चतुर्थी की पूजा का आयोजन करने की सलाह दी है. आदेश में कहा गया कि टेंट और पंडाल और सार्वजनिक जगहों पर गणेश प्रतिमा स्थापित नहीं की जा सकेगी.

मुंबई में क्या है गणेश चतुर्थी की गाइडलाइंस
BMC की गाइडलाइन (ganesh chaturthi mumbai guidelines) के मुताबिक, इस साल मंडलों से सोशल मीडिया और ब्रॉडकास्ट चैनल के जरिए भक्त दर्शन करेंगे. गणेश मूर्ति लाने के दौरान 10 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते हैं. वहीं मूर्ति भी चार फीट से ज्यादा लंबी नहीं हो सकती. साथ ही जितने भी लोग गणेश मूर्ति लेने जाएंगे, उनको कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगी होनी चाहिए. वैक्सीन की दूसरी खुराक करीब 15 दिन पहले लगी होनी चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *