431 को हजयात्रा की झण्डी..चैयरमैन असलम ने दिया यात्रा का दिशा निर्देश..कहा..रखना होगा इन बातों ध्यान..प्रदेश में अमन हमारी सबसे बड़ी दौलत

बिलासपुर—(रियाज़ अशरफी) स्वर्गीय लखीराम आडिटोरियम में राज्य हज कमेटी के चैयरमैन मोहम्मद असलम ने कार्यशाला में शिरकत किया। इस दौरान उन्होने बताया कि इस साल 431 लोगों को हजयात्रा का अवसर मिलेगा। आवेदन पर विचार करते समय किसी भी प्रकार की दखलंदाजी नहीं हुई। मोहम्मद असलम ने बताया हमें हजयात्रा का किन बातों का ध्यान रखना है। हमें हर जगह अपनी सकारात्मक छाप छोड़ते हुए लौटना है। उन्होने दुहराया कि हम सभी निवेदन करेंगे कि प्रदेश में अमन चैन के लिए दुआ मांगेगे। क्योंकि प्रदेश में अमन चैन ही हमारे प्रदेश की सबसे बड़ी पूंजी है।
 
        छत्तीसगढ़ राज्य हज कमेटी की तरफ से बुधवार को बिलासपुर स्थित स्वर्गीय लखीराम अग्रवाल ऑडिटोरियम में  हजयात्रियों के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया। छ्तीसगढ़ हज कमेटी चैयरमैन मोहम्मद असलम ने कार्यशाला में विशेष रूप से शिरकत किया। उन्होने बताया कि  2022 में हज जाने वाले यात्रियों के लिए संभाग स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजन की मुख्य वजह हजयात्रा के दौरान रखे जाने वाली सावधानियों को बताना है। 
 
              कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मुख्य अतिथि राज्य पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने भी विशेष रूप से शिरकत किया। आयोजन में लुतरा शरीफ स्थित हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह के खादिम मोहम्मद उस्मान खान,हाजी मोहम्मद साबिर,सहयोगी खादिम अब्दुल गफ्फार सहित अन्य खादिम शामिल हुए ।
 
             हज कमेटी के चेयरमैन मोहम्मद असलम और पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव का इस दौरान भव्य स्वागत किया गया। आयोजकों ने लगे हाथ दोनो अतथियों को गुरुवार 19 मई को आयोजित हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह के छः माही उर्स में शामिल होने न्योता भी दिया। 
 
          खादिमो ने  लुतरा शरीफ के विकास और दरगाह की व्यवस्था समेत संचालन में संतुष्टि जाहिर किया।  हज कमेटी अध्यक्ष ने कहा कि दुर्ग में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होना है। बहुत जल्द लुतरा शरीफ आएंगे।
 
           जानकारी देते चलें कि हज प्रशिक्षण शिविर में बिलासपुर संभाग के  जायरीनो को हजयात्रा के दौरान आने वाली हर बातों को लेकर अनुभवी लोगों ने  दिशा निर्देश दिया। सभी को बताया गया कि हजयात्रा के दौरान किन-किन बातों का ख्याल रखना है। ,क्या सामान लेकर जाना है, वहां से क्या लेकर आना है।
 
            हज कमेटी के अध्यक्ष मोहम्मद असलम खान ने बताया कि इस बार छत्तीसगढ़ से 431 हाजियों का चयन किया गया है। कमेटी को जितने भी आवेदन प्राप्त हुए थे वह सभी बिना किसी दखल के चयन किए गए हैं। इस साल  बिलासपुर संभाग से 94 लोगों को हज यात्रा में जाने का अवसर मिला है।
 
              अतिथियों ने सभी हज यात्रियों को शुभकामनाएं देते हुए छत्तीसगढ़ समेत समूचे देश के लिए अमन-चैन सुख शांति और तरक्की की दुआ मांगने को कहा। बताया गया कि प्रदेश की खुशहाली और अमन चैन हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *