Hanuman Jayanti 2024: जानिए कब है हनुमान जयंती

Shri Mi

Hanuman Jayanti 2024: भगवान श्रीराम के परमभक्त कहे जाने वाले संकट मोचक बजरंग बली यानी हनुमान जी का जन्म चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को हुआ था. इसीलिए भक्त इस तिथि पर हनुमान जयंती मनाते (Hanuman Jayanti) हैं और इस दिन बजरंग बली की विधिवत पूजा और व्रत किया जाता है.

Join Our WhatsApp Group Join Now

हनुमान जी (Lord Hanuman) को भगवान शिव (Lord Shiva) का अवतार कहा गया है और ये भी कहा जाता है कि अमर होने के कारण बजरंग बली अभी भी भक्तों के संकट हरते हैं. चलिए जानते हैं कि इस साल हनुमान जयंती की तारीख कब है और पूजा का शुभ मुहुर्त क्या है.

कब है हनुमान जयंती 2024?  Hanuman Jayanti 2024
हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल यानी 2024 में चैत्र मात्र के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 23 अप्रैल मंगलवार को है. पूर्णिमा तिथि  23 अप्रैल को सुबह 03 बजकर 25 मिनट पर शुरू हो रही है और इस तिथि की अगले दिन 24 अप्रैल दिन बुधवार को सुबह 05 बजकर 18 मिनट पर हो रही है.

उदयातिथि की नजर से देखा जाए तो इस हिसाब से हनुमान जयंती 23 अप्रैल मंगलवार को मनाई जाएगी. कहा जाता है कि बजरंग बली का जन्म मंगलवार के दिन हुआ था और इस साल हनुमान जयंती भी मंगलवार को पड़ रही है और इस लिहाज से इस बार की हनुमान जयंती शुभ संयोग लेकर आ रही है. इसके साथ-साथ  इस बार हनुमान जयंती पर चित्रा नक्षत्र और वज्र योग बन रहा है. 

हनुमान जयंती पर पूजा का शुभ मुहुर्त  /Hanuman Jayanti 2024
इस बार हनुमान जयंती का शुभ मुहुर्त ब्रह्म मुहुर्त से शुरू हो रहा है. इस दिन आप सुबह 04:20 बजे से 05:04 बजे तक किसी भी समय हनुमान जी की पूजा कर सकते हैं. अभिजीत मुहुर्त की बात करें तो 23 अप्रैल को 11 बजकर 53 मिनट से दोपहर 12 बजकरी 46 मिनट तक ये शुभ मुहुर्त है

इस शुभ मुहुर्त में की गई पूजा शुभदायक होती है. इसके साथ साथ अगर आपको लाभ-उन्नति मुहूर्त में पूजा करनी है तो आप 10:41 बजे से दोपहर 12:20 बजे तक पूजा कर सकते हैं. इस दिन अमृत-सर्वोत्तम मुहूर्त दोपहर 12:20 बजे से दोपहर 01:58 बजे तक बना हुआ है और इस मुहुर्त में की गई पूजा बहुत लाभकारी होती है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. cgwallइसकी पुष्टि नहीं करता है.)

By Shri Mi
Follow:
पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
close