मेरा बिलासपुर

नीयतखोर जेठ ने प्रेग्नेन्ट बहू को उतारा मौत के घाट..मंसूबों में कामयाब नहीं हुआ..तो..दबा दिया गला..आरोपी ने कबूला जुर्म

नीयर खोर जेठ ने बहू को उतारा मौत के घाट

बिलासपुर—इंदू चौक स्थित एक घर में देर रात महिला की मर्डर मिस्ट्री को पुलिस ने सुलझा लिया है। सिविल लाइन पुलिस के अनुसार गर्भवती महिला की हत्या जेठ ने किया है। घटना के समय महिला का पति घर में नहीं था। थाना प्रभारी ने बताया कि घटना के पहले मृतिका सत्या  सिंह का पति पीटर देर रात्रि नागपुर रवाना गो गया था। आरोपी जेठ ने बहू का मुंह दबाकर हत्या करने का जुर्म कबूल किया है।
  
सिविल लाइन थाना प्रभारी परिवेष तिवारी ने बताया कि देर रात्रि इंदू चौक स्थित एक में महिला की हत्या की जानकारी सुबह मिली। जानकारी मिलते ही पुलिस टीम तत्काल घटना स्थल पहुंची। बेडरूम में मृतिका सत्या सिंह का मृत शरीर पाया गया।  चेहरे पर नाखून, नाक के पास चोट  और सिर पर जख्म का निशान पाया गया। चोट की वजह से बिस्तर पर खून के निशान मिला है। पंचनामा कार्रवाई के बाद शव को पीएम के लिए अस्पताल भेजा गया। घर में रहने वाले परिजनों  को तत्काल थाना लाकर पूछताछ किया गया। घटना के समय घर में दो ही सदस्य थे।
भतीजा ने बताया दोनों में हुआ झगड़ा
पूछताछ के दौरान मृतिका सत्या सिंह का भांजा बंटी ने बताया कि देर रात्रि करीब 11 बजे चाचा यानि मृतका के पति पीटर को रेलवे स्टेशन छोड़ने घर से निकला। इस दौरान चाचा और उसने महसूस किया कि सत्या सिंह ने अन्दर से दरवाजा बन्द कर लिया है। चाचा को छोड़ने के बाद घर लौटा।  इसी दौरान झगड़ने की आवाज सुनाई दी। पीटर का बड़ा भाई आरोपी प्रकाश सिंह हमेशा की तरह बहुत नशे में था। इसलिए उसने समझाने का ज्यादा प्रयास नहीं किया। और  बाहर निकलकर अपने बिस्तर पर चला गया। 
जेठ प्रकाश सिंह ने गला दबाकर मारा
पूछताछ के दौरान पीटर का बड़ा भाई प्रकाश सिंह ने शुरूआत में गुमराह करने का प्रयास किया। कड़ाई पूछताछ के बाद आरोपी ने हत्या का जुर्म कबूल किया। घटना के समय आरोपी ने खुद को नशे में होना बताया। थाना प्रभारी परिवेष तिवारी ने बताया प्रकाश की पत्नी पिछले चार पांच महीने पहले घर छोड़कर चली गयी है।  प्रारम्भिक स्तर की जांच में पाया गया कि आरोपी ने जबरदस्ती का प्रयास  किया है। मंसूबे मे कामयाब नहीं होने पर सत्या को मौत के घाट उतार दिया।
कैलिपर्स लगवाने नागरपुर जा रहा था
पुलिस के अनुसार मृतका का पति पैर से दिव्यांग है। रूपया इकठ्ठा कर घटना की रात्रि कैलीपर्स लगवाने के लिए गीतांजलि एक्सप्रेस से नागपुर के लिए रवाना हुआ। घटना के बाद पुलिस टीम ने पीटर से फोन पर सम्पर्क कर वस्तुस्थिति के बारे में बताया।  पुलिस टीम के प्रयास से पीटर को नागपुर पहुंचने से पहले राजनांदगांव स्टेशन में ही उतारा गया। और बिलासपुर लाया गया।
आरोपी प्रकाश सिंह चार भाई
पुलिस के अनुसार आरोपी चार भाई हैं। घर में सत्या के अलावा भांजा बंटी भी रहता है। पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि प्रकाश सिंह का एक भाई आकाश दो दिन पहले तखतपुर गया लेकिन लौटा नहीं है। जबकि एक भाई कोरिया में रहता है। और पीटर घटना के पहले घर प्रकाश के हवाले नागपुर ईलाज के लिए गया।पीटर इन्दू चौक में ठेला लगाकर दाबेली बेचने का काम करता है।
आरोपी को विधिवत किया गया गिरफ्तार
अपराध कबूल किए जाने के बाद पुलिस ने प्रकाश सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। थानेदार ने बताया कि बहरहाल मामले में अभी और पूछताछ किया जाना बाकी है। पीटर का भी बयान दर्ज किया जाना है। जल्द ही सारी सच्चाई सामने आ जाएगी।

रसूखदार कांग्रेसी पुत्र ने RTO एजेन्ट को घर बुलाकार पीटा...कहा मेरा कुछ नहीं उखाड़ सकते...पीडित की हालत गंभीर...गुजराती समाज में आक्रोश
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS