CG-भारी बारिश ने कई इलाकों में मचाई तबाही, 18 जिलों के लिए मौसम विभाग का अलर्ट जारी

छत्तीसगढ़ के कई जिलों में 24 घंटे से तेज बारिश हो रही है। इस तेज बारिश के चलते प्रदेश के अलग अलग जिलों में अलर्ट भी जारी किया गया है। एक तरफ जहां बाढ़ के आसार बढ़ रहे है तो वही अब रियाशी इलाकों में भी पानी घुसने लगा है। राजधानी रायपुर में भी ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला है।  दूसरी तरफ बस्तर संभाग में भी बारिश ने लोगों की तकलीफें बढ़ा दी हैं।

 बीजपुर में पिछले 72 घण्टों से लगातार हो रही बारिश( continuously raining in Bijpur since last 72 hours.) से एक बार फिर नदी नाले उफान पर (Flood like situation in Bijapur) हैं। कई जगह पर बाढ़ जैसे हालात हो गए (Heavy Rain in bijapur) हैं। तुमनार पुल में बाढ़ आने से राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया है। मरी और चेरपाल नदी भी बाढ़ की चपेट में होने से आवागमन बंद है।नैमेड से कुटरू मार्ग 8 घण्टे बंद रहने के बाद दोपहर में बहाल हो गया है। जिले में पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश ने जनजीवन को प्रभावित किया है। राष्ट्रीय राजमार्ग 63 बीजापुर से जगदलपुर जाता है। यह राजमार्ग पिछले 9 घण्टों से बंद (Flood due to rain in many villages in Bijapur) है।

आपको बता दें की रायपुर जिले में 4 दिन से लगातार बारिश जारी है.आलम ये है कि खेत खलिहान पानी से लबालब है. रायपुर जिले के सारागांव इलाके के कोल्हान नाला के उफान के कारण गांव में फानी घुस गया है. लोगो के घरों में 4 फ़ीट पानी भर गय है. ग्रामीण घर के छत पर बाढ़ कम होने

वही दूसरी तरफ पामगढ़ ब्लॉक के बारगांव में नहर फूटने की घटना के बाद से गांव में अफरा तफरी मच गई ( Talk of action after breaking the Bargaon canal) है। देर रात हुए इस घटना के बाद कई घरों में घुसा पानी अब तक बाहर नहीं निकला (Bargaon canal broken in Janjgir Champa)है।

लोग अपने बच्चों की जान बचाने के लिए दूसरों के घरों में सहारा लिए हुए हैं। वही घटना के बाद भी अधिकारियों ने ग्रामीणों को नजरअंदाज किया। अधिकारी दोपहर को कलेक्टर के निर्देश पर गांव पहुंचे और टूटे हुए नहर की मरम्मत के साथ मुआवजा के लिए आकलन करना शुरू कर दिया है।

मौसम विभाग का 12 जिलों में ऑरेंज अलर्ट

 प्रदेश के बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, सुकमा, कोंडागांव, कांकेर, नारायणपुर, धमतरी, महासमुंद, राजनांदगांव, बालोद, गरियाबंद तथा उससे लगे आसपास के जिलों में ऑरेंज अलर्ट है।

 6 जिलों में यलो अलर्ट

रायपुर, दुर्ग, कबीरधाम, बलौदाबाजार, जांजगीर-चांपा, बेमेतरा जिलों में यलो अलर्ट जारी किया गया है।

क्या है मौसम विभाग का कहना?

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक मॉनसून द्रोणिका नलिया, अहमदाबाद, इंदौर, मंडला, रायगढ़ निम्न दाब का केंद्र उसके बाद दक्षिण पूर्व की ओर उत्तर अंडमान सागर तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक अवदाब तटीय ओडिशा और उससे लगे उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी में स्थित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.