आईजी ने कहा..यदि ऐसा है तो कलेक्टर को बताएं..लेकिन समय सीमा में जांच पूरी करें..नहीं मिलनी चाहिए शिकायत

बिलासपुर—पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी ने समीक्षा बैठक कर अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिया है। डांगी ने इस दौरान रेंज अंतर्गत महिला और बच्चों से संबंधित  अपराध और तथा अजाक प्रकरणों का त्वरित निराकरण करने को कहा। पीड़ित क्षतिपूर्ति और  राहत राशि प्रकरणों का शत-प्रतिशत निराकरण करने को भी कहा। इसके अलावा सीसीटीएनएस पोर्टल में शत-प्रतिशत डाटा एण्ट्री किए जाने की बात कही। 
 
                               आईजी रतन लाल डांगी, ने पुलिस अधिकारियों की  रेंज समीक्षा बैठकर महिलाओं एवं बच्चों से संबंधित अपराधों को एक बार फिर गंभीरता से लेने को कहा है। अनुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम अंतर्गत लंबित अपराधों के त्वरित निराकरण की बात कही है। रेंज अंतर्गत सभी जिलों के राजपत्रित पुलिस अधिकारियों की वचुअर्ल अपराध समीक्षा बैठक में आईजी ने कहा कि लंबित प्रकरणों का त्वरित निराकरण किया जाए।
 
                  पुलिस महानिरीक्षक ने कहा जिले में लंबित महिला एवं बच्चों से संबंधित अपराधों का निर्धारित समय-सीमा यानि  60 दिनों के भीतर निराकरण करें। एससी/एसटी प्रकरणों का 30 दिनों के अन्दर किसी भी सूरत में कार्रवाई को अंतिम अंजाम तक पहुंचाएं। आईजी ने कहा कि फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये विशेष टीम गठन करें। ऐसा कर पीड़ितों को न्याय दिलाने में मदद करें।
 
              पुलिस महानिरीक्षक ने कहा थाना/चौकी संबंधित कई ऐसे प्रकरण में जांच के दौरान पुलिस टीम को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अन्य विभाग से जानकारी नही मिलती है। जानकारी/दस्तावेज समय पर नहीं मिलने से जांच पर असर  पड़ता है। ऐसे प्रकरणों को लेकर कलेक्टर के समय सीमा बैठक में शिरकत करें। प्रशासन से समन्वय बनाकर काम करें।
 
             समीक्षा बैठक में रेंज अंतर्गत जिलों से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, नगर पुलिस अधीक्षकगण, पुलिस अनुविभागीय अधिकारीगण व उप पुलिस अधीक्षक (अजाक) सहित रेंज कार्यालय में पदस्थ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दीपमाला कश्यप उपस्थित रहीं।
 
 
 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *