इंडिया वाल

IMD Alert : इन राज्यों में बारिश की चेतावनी,शीतलहर, पढ़े मौसम विभाग का पूर्वानुमान

IMD Alert Today: जनवरी से पहले देशभर के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। एक तरफ उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड के साथ शीतलहर के हालात बनने लगे है तो दूसरी तरफ दक्षिण के राज्यों में बारिश का दौर जारी है। इसी के साथ पंजाब,हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड के अलावा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी तापमान में कमी आई है।आने वाले दिनों में  हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा के कुछ हिस्सों और उत्तरी राजस्थान में एक या दो स्थानों पर शीतलहर देखने को मिलेगी।

मौसम विभाग के मुताबिक पंजाब, उत्तरी राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में आज शीतलहर चल सकती है।वही अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दक्षिणी हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। वही 20 से 22 दिसंबर के बीच तमिलनाडु, दक्षिण आंध्र प्रदेश में भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। केरल में 21 दिसंबर से हल्की बारिश हो सकती है।

इन राज्यों में बारिश के आसार
भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, अगले 24 घंटों में अंडमान निकोबार द्वीप समूह, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और ओडिशा सहित महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में गरज के साथ बारिश हो सकती है। आज अंडमान निकोबार द्वीप समूह के कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के अलावा केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और ओडिशा सहित महाराष्ट्र में भी गरज के साथ बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

इन राज्यों में बढ़ेगी ठंड और कोहरा
अगले कुछ दिनों में उत्तर प्रदेश में ठंड बढ़ेगी, जिसके कारण प्रदेश के कई जिलों का तापमान भी गिर सकता है। वही बिहार में कोहरा बढ़ने के साथ साोथ-ठंड में वृद्धि की संभावना है।हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में मौसम साफ रहने की संभावना है। देश के बाकी हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहेगा। पूर्वोत्तर भारत के बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में मध्यम तो पंजाब में अगले तीन दिनों के लिए शीत लहर के साथ घना कोहरा पड़ने की भविष्यवाणी की है।

क्या कहता है मौसम विभाग
स्काईमेट एजेंसी के मुताबिक, निम्न दबाव का क्षेत्र अब बंगाल की दक्षिण खाड़ी और इससे सटे हिंद महासागर के मध्य भागों पर स्थित है। पश्चिम मध्य अरब सागर के ऊपर अच्छी तरह से चिन्हित कम दबाव का क्षेत्र संबंधित चक्रवाती परिसंचरण के साथ मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैला हुआ है, इसके दक्षिण-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने और और कमजोर होने की उम्मीद है। अगले चार दिनों तक कई राज्यों में इलाकों में बारिश का मौसम बने रहने की संभावना है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS