इंडिया वाल

IMD Alert 2024: अगले कुछ घंटों में इन राज्यों में आंधी-गरज के साथ होगी भारी बारिश

IMD Alert 2024/देशवासियों को मौसम विभाग से राहत की खबर मिली है। मौसम विभाग ने खुलासा किया है कि 22 मई तक बंगाल की खाड़ी में चक्रवात बनने की आशंका है। मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 22 मई को दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी में कम दबाव बनने के संकेत हैं। बताया जा रहा है कि ऐसी संभावना है कि यह निम्न दबाव 24 मई तक मजबूत होकर चक्रवात बन जाएगा।

Join Our WhatsApp Group Join Now

IMD Alert 2024/दूसरी ओर, मौसम विभाग ने कहा कि तटीय आंध्र और रायलसीमा से श्रीलंका तक समुद्र तल से 3.1 किमी की ऊंचाई पर सतही ट्रफ बनी हुई है। इसके प्रभाव से 23 मई तक आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मराठवाड़ और तेलंगाना राज्यों में मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना है। हालांकि, देश के उत्तरी इलाके में तेज गर्मी का प्रकोप शुर हो गया है।

दिल्ली और उत्तर भारत के कई अन्य हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार, 19 मई के लिए ‘रेड अलर्ट’ चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के एक बुलेटिन के अनुसार, ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है। पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिमी राजस्थान में जारी किए गए हैं। उत्तर प्रदेश में ‘ऑरेंज’ अलर्ट जारी किया गया है।

शनिवार को दिल्ली, पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश में कम से कम 20 स्थानों पर अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस या उससे ऊपर दर्ज किया गया था।

छत्तीसगढ़ के गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले में रविवार को तेज आंधी-तूफान चला। इससे एक बड़ा पेड़ भी गिर गया। गनीमत रही कि पेड़ खंडहर मकान पर गिरा जिससे बड़ा हादसा टल गया। जिले में तेज हवाओं के साथ बारिश और कई जगह ओला वृष्टि भी हुई है।

Heavy Rain Alert, IMD Alert, Monsoon Forecast,Hanumangarh News,Aaj ka Mausam,IMD Alert,

बस्तर और दुर्ग संभाग के भी जिलों में हल्की बारिश के आसार हैं। समुद्र से आ रही नम हवाओं के कारण प्रदेश के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। अगले 24 घंटे तक प्रदेश का मौसम ऐसा ही रहेगा। इसके बाद दिन का पारा दो से तीन​ डिग्री तक बढ़ेगा।

गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले में तेज हवाओं के साथ झमाझम बारिश हुई। लोगों को गर्मी से राहत तो मिली लेकिन बारिश कहीं कहीं आफत भी साबित हुई। कई जगहों पर पेड़ गिर गए तो वहीं बिजली पोल तार टूटने से बिजली सप्लाई भी बंद हुई।शनिवार को भी रायपुर और बिलासपुर में दिन का तापमान औसत से 5 डिग्री कम रहा। इसके अलावा बाकी जिलों में भी तापमान 33 से 38 डिग्री के बीच रहा। बस्तर संभाग और आसपास के जिलों में 5 दिनों तक तापमान में कोई खास बदलाव की संभावना नहीं है।

शनिवार को प्रदेश में सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान 42.2 डिग्री दुर्ग में रिकॉर्ड किया गया। वहीं, सबसे कम न्यूनतम तापमान 19.3 डिग्री नारायणपुर में दर्ज किया गया।

                   

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close