10 राज्यों में बारिश का येलो अलर्ट, बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती सर्कुलेशन, निम्न दाब से बदलेगा मौसम, 7 में कोहरे-गुलाबी ठंड की दस्तक, जानें पूर्वानुमान

नई दिल्ली। एक तरफ जहां देश के कई राज्य से मानसून (Monsoon) की विदाई हो चुकी है। वहीं दूसरी तरफ को ही राज्य में बारिश(rain)  का सिलसिला जारी है। बंगाल की खाड़ी में बन रहे निम्न दबाव (low pressure) के क्षेत्र को चक्रवात में बदलने की संभावना जताई गई है। हालांकि मौसम विभाग (IMD Alert) ने इसके विकराल रूप से इनकार किया है लेकिन इसका बड़ा असर कई राज्यों पर देखने को मिलेगा। दीपावली से पहले बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।भारतीय मौसम विभाग विज्ञान के बारे में तो आज गुजरात और महाराष्ट्र में भारी बारिश की संभावना जताई गई है इसके अलावा पहाड़ों पर बर्फबारी का दौर भी शुरू हो गया है। जिसके कारण तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी ठंडी हवा की वजह से राज्य में नमी बन रही है। आसमान में बादल छा रहे हैं जबकि शाम के समय कोहरे से मौसम पटा हुआ है।

मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी के ऊपर नीचे क्षोभ मंडल में दबाव का क्षेत्र निर्मित हो रहा है। केंद्र बनने के साथ एक पश्चिमी विक्षोभ भी तेजी से आगे बढ़ रहा है। अरब सागर में भी कर्नाटक और कोंकण तट के पास निचले क्षोभ मंडल में एक नई चक्रवात का दबाव केंद्र बनता दिख रहा है। जिसके कारण अगले हफ्ते से कई राज्य में बारिश की संभावना जताई गई है।

उत्तर भारत के सभी देश के कई हिस्सों में बारिश की संभावना जताई गई है। इसके साथ ही 12 राज्यों में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है। वहीं उत्तर प्रदेश बिहार झारखंड सहित नई दिल्ली पंजाब हरियाणा में शाम से ही कोहरे की दस्तक देखने को मिलेगी। इससे पहले उत्तर प्रदेश में गुलाबी ठंड की दस्तक शुरू हो गई है।

दिल्ली में आसमान में बादल/कोहरे 

दिल्ली में आसमान में बादल छाए रहेंगे। शाम को ठंड की दस्तक देखने को मिलेगी। कोहरे से मौसम पटा रहेगा। इसके अलावा रात के तापमान में 5 फीसद की गिरावट भी रिकॉर्ड की जा सकती हैउत्तर प्रदेश के कानपुर में सर्दी के दस्तकदेखने को मिल रही है। दरअसल हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड की पहाड़ियों पर बर्फबारी का असर कानपुर में देखने को मिल रहे। ठंडी हवाओं ने सर्दी का एहसास शुरू कर दिया है। वहीं रात के तापमान में कमी देखी जा रही है। न्यूनतम तापमान गिरकर 18 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। आज न्यूनतम तापमान में 2 डिग्री की गिरावट आ सकती है। हालांकि दिन में धूप खिली रहेगी। रात को ठंडी हवा चलेगी। सूर्य के दक्षिणायन होने की वजह से पारा में तेजी से लड़का देखने को मिलेगा।

मौसम प्रणाली

  • दक्षिण-पश्चिम मानसून की उत्तरी सीमा वर्तमान में भारतीय उपमहाद्वीप के मध्य में स्थित है। इसलिए, उपमहाद्वीप के उत्तरी भाग में मौसम शुष्क रहेगा, जबकि दक्षिणी भाग में गीला मौसम रहेगा।
  • बंगाल की खाड़ी में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अक्षांशीय क्षेत्र के पास एक चक्रवाती परिसंचरण शनिवार रात के बाद एक निम्न दबाव प्रणाली में विकसित होने और उपमहाद्वीप की ओर बढ़ने की उम्मीद है।
  • यह निम्न दबाव प्रणाली आगे एक गहरे अवसाद में विकसित हो सकती है और आगामी सप्ताह के पहले भाग के दौरान गंगा के मुहाने पर दस्तक दे सकती है।
  • ओडिशा, पश्चिम बंगाल, झारखण्ड और आंध्र प्रदेश में 23 से 27 अक्टूबर के बीच बहुत भारी बारिश और तेज हवाएं चलने की संभावना है।
  • मंगलवार को, आईएमडी ने ताजा निम्न दबाव क्षेत्र (LPA) बनने की पुष्टि की। अगले 48 घंटों में बंगाल की पूर्वी खाड़ी और भारतीय तट की ओर बढ़ेंगे।
  • आईएमडी के अनुसार, यह विक्षोभ शनिवार (22 अक्टूबर) तक एक अवसाद में और फिर बंगाल की पश्चिमी खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान में तेज होने की “बहुत संभावना” है।
  • ग्लोबल फोरकास्ट सिस्टम (जीएफएस) और यूरोपीय ईसीएमडब्ल्यूएफ मॉडल दोनों इस बात से सहमत हैं कि तूफान उत्तर की ओर अधिक ट्रैक करेगा और 60-70 किमी प्रति घंटे की चरम तीव्रता के साथ कमजोर रहेगा।
  • ECMWF के नवीनतम अनुमानों के अनुसार, सिस्टम एक गहरे दबाव में विकसित होगा और अगले सप्ताह मंगलवार तक ओडिशा-पश्चिम बंगाल सीमा के पास लैंडफॉल बनाएगा।

बिहार में मौसम में तेजी से बदलाव

बिहार में मौसम में तेजी से बदलाव देखा जा रहा है। दिसंबर में सबसे अधिक पारा गिरने की उम्मीद जताई जा रही है। वहीं फिलहाल बिहार की राजधानी पटना में तापमान में गिरावट देखी जा रही है। हल्की ठंड के दस्तक शुरू हो गया। हवा में नमी बरकरार है। ठंड की आहट से मानसून की विदाई हो चुकी है। कोहरे और ठंड के अलावा तापमान गिरने की वजह से मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर दी है। शाम ढलते ही तापमान में भारी गिरावट जारी है।

मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ में भी गुलाबी ठंड

मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ में भी गुलाबी ठंड की दस्तक शुरू हो गई है। कई क्षेत्रों में जहां तापमान में भारी गिरावट देखने को मिल रही है। बर्फबारी का असर भी मध्यप्रदेश में देखा जा रहा है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी से ठंड सर्द हवाएं मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की तरफ बढ़ी है। जिससे हवा में नमी बरकरार है। शाम होते ही कोहरे का माहौल देखने को मिल रहा है। हालांकि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बूंदाबांदी का असर देखने को मिलेगा। दरअसल दीपावली के बाद इन क्षेत्रों में बारिश देखने को मिल सकती है। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती स्थिति के कारण इन क्षेत्रों में बारिश की संभावना जताई गई है।

झारखंड के लिए 3 दिन तक बारिश की आशंका

मौसम विभाग झारखंड के लिए 3 दिन तक बारिश की आशंका जताई है। हालांकि 3 दिन के बाद बारिश के साथ होने की संभावना जताई गई है। इससे पहले आज झारखंड के कई क्षेत्रों में बूंदाबादी देखने को मिली है। साथ ही बोकारो गुमला हजारीबाग खूंटी रामगढ़ रांची सिमडेगा जिले के कुछ भाग में 1 से 3 घंटे के भीतर मध्यम दर्जे की मेघ गर्जन और बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने इन क्षेत्रों के लोगों को सतर्क रहने की हिदायत दी है। इसके अलावा राशि में भी तेज बारिश शुरू हो गई है। आज प्रदेश के कई हिस्से में बारिश के आसार जताए गए हैं। मौसम विभाग की माने तो 25 से 26 अक्टूबर तक इस तरह के माहौल बने रह सकते हैं।

उड़ीसा और बंगाल में चक्रवाती सिस्टम चेतावनी 

उड़ीसा और बंगाल में चक्रवाती सिस्टम के सक्रिय होने के कारण चेतावनी जारी कर दी गई है। तापमान में भारी गिरावट देखी जा रही है। हालांकि बारिश की संभावना से इनकार किया गया है। बंगाल की खाड़ी में बन रहे निम्न दाब के 20 अक्टूबर तक सक्रिय होने के आसार नजर आ रहे हैं। साथ ही इसके डिप्रेशन में बदलने की भी संभावना व्यक्त की गई है यदि चक्रवाती सिस्टम डिप्रेशन में बदलता है तो इसका सीधा सीधा असर आंध्र प्रदेश उड़ीसा बंगाल सहित झारखंड पर देखने को मिलेगा। साथ ही फिर इसके बढ़ने की संभावना जताई गई है।

चक्रवात चेतावनी

  • आईएमडी ने जीएफएस का हवाला देते हुए अपनी रिपोर्ट दिनांक 17 अक्टूबर 2022 में उल्लेख किया है कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर संभावित चक्रवात ‘सीतांग’ 25 अक्टूबर की तड़के उत्तरी आंध्र प्रदेश में दस्तक दे सकता है।
  • मॉडल के अनुसार, 22 अक्टूबर को पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक डिप्रेशन बनने की संभावना है
  • 23 अक्टूबर को पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक गहरा डिप्रेशन
  • 24 अक्टूबर को पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक बहुत ही गंभीर चक्रवाती तूफान की संभावना है।
  • यह मॉडल संकेत दे रहा है कि यह प्रणाली 25 अक्टूबर की तड़के उत्तर आंध्र प्रदेश को 18.5/84.0 के करीब श्रीकाकुलम के उत्तर में पार कर जाएगी।
  • भले ही कुछ मौसम वैज्ञानिकों ने चक्रवात में सिस्टम की तीव्रता का संकेत दिया है, लेकिन राष्ट्र-भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की प्रमुख मौसम एजेंसी अभी भी इस पर चुप है। हालांकि, यह पुष्टि की गई है कि दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण पहले ही बन चुका है।
  • मौसम वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि 20 अक्टूबर के आसपास कम दबाव बनने के बाद संभावित चक्रवात को लेकर चीजें साफ हो जाएंगी। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, 22 अक्टूबर को चक्रवात की पूरी तस्वीर सामने आएगी। अगर तस्वीर चक्रवात की पुष्टि करती है, तो इसका मूवमेंट ट्रैक ओडिशा-आंध्र या ओडिशा-पश्चिम बंगाल तट हो सकता है।

पूर्वी राज्य में बारिश की संभावना 

पूर्वी राज्य में बारिश की संभावना असम मेघालय मणिपुर नागालैंड मिजोरम में हल्की बूंदाबांदी की संभावना जताई गई है। हालांकि तापमान में गिरावट का दौर जारी रहेगा गुलाबी ठंड की दस्तक शुरू हो गई है। इसके अलावा कोहरे ने भी इन राज्यों में दस्तक दे दी है। शाम होते ही तापमान में 5 फीसद की गिरावट देखने को मिल रही है। मौसम विभाग की मानें तो जल्द ही इन प्रदेशों में ठंड की दस्तक देखने को मिलेगी।

दक्षिणी राज्य में भारी बारिश का अलर्ट

केरल कर्नाटक तमिलनाडु सहित महाराष्ट्र के कई हिस्सों में आज भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया। इसके साथ ही मेघ गर्जन से लोगों को सचेत रहने की सलाह दी गई है। कई स्थानों पर बिजली गिरने के अनुमान बताए गए हैं। मौसम विभाग की माने तो केरल कर्नाटक तमिलनाडु में आज भारी बारिश देखने को मिलेगी। इन क्षेत्रों में बारिश का सिलसिला 23 अक्टूबर तक जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *