इंडिया वाल

IMD Alert : 12 राज्यों में अगले 5 दिन भारी बारिश, अलर्ट जारी, डिप्रेशन में तब्दील होगा लो प्रेशर, जानें पूर्वानुमान

IMD Weather Update : मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है। शनिवार से बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर निर्मित होगा। जिसके डिप्रेशन में बदलने की संभावना तीव्र हो गई है ।डिप्रेशन में बदलने के साथ ही दक्षिणी राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके अलावा उत्तर भारत में तापमान में वृद्धि देखी जा रही है। हालांकि उत्तर भारत के कुछ क्षेत्रों में तापमान में गिरावट का दौर भी जारी है। इसके साथ ही पर्वतीय राज्यों में बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो गया है। हिमपात के कारण लगातार पारा माइनस की तरफ बढ़ रहा है।

पहाड़ों पर बर्फबारी का असर मैदानी इलाके पर देखने को मिल रहा है। दिल्ली उत्तर प्रदेश बिहार झारखंड में लगातार तापमान में गिरावट देखी जा रही है। बिहार और झारखंड में ठंड अपना प्रभाव दिखाना शुरू कर दिया है। दिल्ली और उत्तर प्रदेश में सुबह और शाम ठंड के असर के साथ-साथ कोहरे की दस्तक भी देखने को मिल रही है।

दिल्ली में गुरुवार को अधिकतम तापमान 25 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है पश्चिम उत्तर भारत में सदियों से तापमान के सामान्य रहने का अनुमान जताया गया है। पश्चिम उत्तर भारत के कई हिस्से में सर्दी में तापमान सामान्य से अधिक है। दिन प्रतिदिन के आधार पर तापमान में भिन्नता देखि जा रही है ।दिसंबर 2022 से फरवरी 2023 तक भारत के कई हिस्सों और मध्य भारत के कुछ हिस्से में तापमान में गिरावट देखी जाएगी।

बिहार में बर्फीली हवा का असर

बिहार में कितनी भरी ठंडी हवा चल रही है। पश्चिमी हवा से तीन से चार दिनों तक तापमान में गिरावट देखी जाएगी। साथ ही 3 दिनों बाद ठंड में और अधिक इजाफा देखने को मिल सकता है। पारा लगातार गिर रहा है। अगले कुछ दिन में ठंड का असर तेज होगा।

डीएमके नेता कनिमोझी के घर IT का रेड, एमके स्टालिन ने पीएम मोदी पर लगाया आरोप

झारखंड में मौसम में भारी बदलाव

झारखंड में भी मौसम में भारी बदलाव देखने को मिल रहा। अगले 2 दिन में तापमान में दो से 4 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जा सकती है। वहीं न्यूनतम पारा गिरकर 7 डिग्री सेल्सियस पहुंच सकते है।

उत्तर प्रदेश में तापमान में गिरावट का दौर जारी

उत्तर प्रदेश में तापमान में गिरावट का दौर जारी है। कई जगह पर गहरा कोहरा छाया हुआ है। देश के 10 राज्यों में तापमान में गिरावट देखने को मिल रही है। बिहार में एक तरफ जहां कपकपी है। प्रदेश के सामान्य श्रेणी के आसार जताए हैं। दिसंबर के 2 सप्ताह तक पारा स्थिर रहेगा।

पंजाब में सर्दी का सितम देखने को मिल रहा है। जालंधर को सबसे ठंडा रिकॉर्ड किया गया। 5.5 डिग्री न्यूनतम तापमान के साथ ही तापमान में 2 फीसद की गिरावट देखने को मिली है। इससे पहले तापमान मैं भारी गिरावट से ठिठुरन बढ़ गई है। अफगानिस्तान और उत्तर की तरफ से आ रही बर्फीली हवा के कारण राजस्थान पर इसका व्यापक असर देखने को मिल रहा है। मोगा फिरोजपुर अमृतसर लुधियाना पटियाला और बरनाला सहित होशियारपुर में लगातार तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की गई है।

राजस्थान में कड़ाके की ठंड

राजस्थान में कड़ाके की ठंड जारी है। सीकर में तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। लोगों को ठंड का अहसास होने लगा है। शुक्रवार को पारा और अधिक तीव्रता से गिरा हैं। दिन के तापमान में कमी रिकॉर्ड की गई है। मौसम विभाग की मानें तो प्रायद्वीपीय भारत के कई हिस्सों में कुछ हिस्से में फरवरी के बीच न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे रहने की उम्मीद जताई गई है। सीकर फतेहपुर शेखावटी मैं कड़ाके की ठंड पड़ गई है। सीकर राज्य का सबसे ठंडा स्थान रिकॉर्ड किया गया है। इसके अलावा जालौर भीलवाड़ा करौली और सीकर में भी न्यूनतम तापमान में गिरावट देखने को मिली है।

प्रोक्सी या एवजी शिक्षकों के विरूद्ध तत्काल एक्शन के निर्देश

मौसम प्रणाली

  • इस पूर्वानुमान अवधि में पूर्वी हवाओं के चलने की संभावना है, जिससे दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत में गरज के साथ छिटपुट वर्षा हो सकती है।
  • इसके अलावा, एक कम दबाव वाले क्षेत्र (एलपीए) के साथ एक ताजा साइक्लोनिक सर्कुलेशन (सीसी) के रविवार और सोमवार को दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर बनने की उम्मीद है,
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह को प्रभावित करना शुरू कर देगा।
  • यह विक्षोभ बुधवार तक अवसाद में विकसित होते हुए पश्चिम या पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर ट्रैक करने का अनुमान है,
  • साइक्लोनिक सर्कुलेशन तीव्रता के साथ अगले गुरुवार या शुक्रवार (8 या 9 दिसंबर) के आसपास दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत तक पहुंच सकता है।
  • इन क्षेत्रों में गरज़ चमक और बारिश
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, और लक्षद्वीप में छिटपुट बारिश के साथ छिटपुट बारिश की संभावना है।
  • पूर्वोत्तर भारत के अलग-अलग स्थानों पर हल्का से मध्यम कोहरा संभव है।
  • बिजली गिरने की संभावना के साथ कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, रायलसीमा, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल – माहे में अलग-अलग बारिश की संभावना है।
  • उत्तर, मध्य और पूर्वी भारत, पंजाब और हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर सुबह-सुबह घना कोहरा छा सकता है।

कम दबाव का क्षेत्र निर्मित

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने 5 दिसंबर को दक्षिण अंडमान सागर में कम दबाव का क्षेत्र बनने की भविष्यवाणी की है, लेकिन इसके और तेज होने की कोई जानकारी नहीं दी है। 5 दिसंबर के आसपास एक तूफान बनता हुआ दिखाई देता है और अभी यह तमिलनाडु की ओर उत्तर-पश्चिम की ओर जाता हुआ प्रतीत होता है।”

आत्मानंद स्कूल में नियुक्ति को लेकर आवेदन कर्ता अनीता सिंह ने प्रशासनिक अव्यवस्था पर उठाए कई सवाल

हालांकि वर्तमान में स्पष्ट नहीं है कि यह कितना मजबूत होगा। नए मौसम सिस्टम के मुताबिक पूर्वोत्तर मानसून पूर्वी तट पर कमजोर रहा है। जिसका असर ऐसा है कि दक्षिणी राज्यों में बहुत अधिक बारिश हो रही है, ला नीना दबाव पैटर्न के अनुरूप है, जो प्रायद्वीप में बारिश हो रहा है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS