मौसम में फिर बदलाव,गरज चमक के साथ बारिश की चेतावनी, जानें विभाग का पूर्वानुमान

मानसून की विदाई से पहले बारिश की गतिविधियाों में तेजी आने से उत्तर प्रदेश का मौसम फिर बदल गया है। मौसम विभाग की मानें तो यूपी में 3-4 दिन हल्की से मध्यम बारिश होगी लेकिन 21 सितंबर से फिर अच्छी बारिश हो सकती है।22 सितंबर तक पूर्वी और मध्य उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में हल्की से मध्यम बरसात की संभावना जताई है।यूपी मौसम विभाग ने आज 12 से 15 जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की चेतावनी जारी की है, वही एक दो स्थानों पर वज्रपात के साथ तेज बारिश के भी आसार बन रहे है।

मौसम विभाग के अनुसार, अरब सागर से उठी सर्द हवाओं का असर पूर्वी उत्तर प्रदेश में ज्यादा दिखेगा। सोमवार को प्रदेश के तराई के क्षेत्रों के 12 जिलों में बारिश होने की संभावना है। राज्य के पूर्वी हिस्सों के 15 जिलों में अगले 24 से 48 घंटे के दौरान गरज और चमक के साथ बारिश होने की संभावना जताई है।यूपी में 19 सितंबर को बारिश के साथ आंधी तूफान का पूर्वानुमान जारी किया है। 20 सितंबर के आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। अगले पांच दिन पूर्वी उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में बारिश के साथ कई जगहों पर ओले भी गिर सकते हैं।

मौसम विभाग के अनुसार,लखनऊ में बादलों के साथ कोहरा छाया रहेगा और हल्की बारिश के भी आसार है।वाराणसी और गोरखपुर में भी मौसम में बदलाव का दौर जारी रहेगा, लेकिन नोएडा-गाजियाबाद में उमस बढ़ेगी।गोरखपुर में देर शाम हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।सरयू और रोहिन और बूढ़ी राप्ती नदियां खतरे का निशान पार कर गई हैं। राप्ती, गोर्रा, गंडक आदि बाकी नदियों के जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है, ऐसे में प्रशासन ने सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया है।

मौसम विभाग के मुताबिक, आज उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी, सीतापुर, बहराइच, गोंडा, महाराजगंज, गोरखपुर, बलिया, बलरामपुर, बस्ती, देवरिया, संत कबीर नगर, सिद्धार्थ नगर में बारिश होने की संभावना है। इन जिलों में बिजली की गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है। 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से इन जिलों में हवाएं भी चल सकती हैं। पूरे प्रदेश भर में मानसून शुरू होने से अब तक 448.9 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है, जो औसत अनुमान से 37% कम है।आज से बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र सक्रिय होगा, जिसके असर से दो दिन बाद पूर्वी मध्य प्रदेश में वर्षा की गतिविधियों में फिर से इजाफा होगा। 20 सितंबर बनने वाले नए सिस्टम से 21 और 22 को फिर से झमाझम होने के आसार हैं। एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज सोमवार 19 सितंबर 2022 को सभी संभागों में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वही 24 जिलों में गरज चमक के साथ बिजली गिरने और चमकने की चेतावनी जारी की है।माना जा रहा है कि दशहरे से पहले मानसून की विदाई हो सकती है।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather alert ) ने आज सोमवार 19 सितंबर को सभी संभागों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है।रीवा,  शहडोल और जबलपुर संभाग में अनेक स्थानों पर और भोपाल, इंदौर, उज्जैन,  सागर और नर्मदापुरम  में कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ बारिश की चेतावनी जारी की गई है।  वही नर्मदापुरम और इंदौर संभाग के साथ अनूपपुर, शहडोल, जबलपुर,सिवनी, मंडला, बालाघाट, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन,बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ और धार जिले में गरज चमक के साथ बिजली गिरने और चमकने का अलर्ट जारी किया गया है।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Update ) ने अगले 24 घंटे में गुना, ग्वालियर, भोपाल, रायसेन, जबलपुर, छिंदवाड़ा, सीधी, सिंगरौली, सतना, सागर, छतरपुर, अनूपपुर, शहडोल जिले में गरज चमक के साथ वर्षा की संभावना है।बंगाल की खाड़ी से नमी लेकर आने वाली हवाएं 22 से लेकर 25 सितंबर के बीच में ग्वालियर के पूर्वी हिस्से में बारिश करा सकती है। इसके मंगलवार काे कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित हाेने से पूर्वी मप्र (रीवा, शहडाेल संभाग)में वर्षा का दौर शुरू हाेने की संभावना है।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Forecast) के अनुसार, 21 और 22 सितंबर को प्रदेश कई इलाकों जैसे भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, उमरिया, छिंदवाड़ा, जबलपुर, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, बैतूल, हरदा और नर्मदापुरम में बारिश हो सकती हैं। 22 सितंबर के बाद फिर से ग्वालियर-चंबल संभाग में वर्षा के आसार बने हुए हैं। यह वर्षा का आखिर दौर रहेगा, इसके बाद मानसून वापसी शुरू हो जाएगी।

चंबल का जलस्तर बढ़ा

पिनाहट उसैथ घाट पर चंबल नदी का जलस्तर 120 मीटर के पार पहुंच गया है, ऐसे में उसैथ घाट पर होने वाले स्टीमर के संचालन को भी उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से बंद कर दिया गया है।उसैथ घाट पर खतरे का निशान 130 मीटर है, अगर चंबल नदी खतरे के निशान तक पहुंचती है तो अंबाह व पोरसा के करीब दो दर्जन गांव बाढ़ की चपेट में आ जाएंगे।हालांकि अंबाह तहसील की आरोली, गूंज, मलबसई, खिरेंटा, जाेंहा , कुथीयाना, बीलपुर, रिठोना, डंडोली, खड़ियाबेहड, गोपी पंचायत में राजस्व अमले की तैनाती की गई है।

कहां कितनी हुई बारिश

  • प्रदेश भर में अबतक 44 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। यह सामान्य बारिश 36 इंच से 22% ज्यादा है।
  • 8 जिले रीवा, सतना, निवाड़ी, टीकमगढ़, ग्वालियर, दतिया, अलीराजपुर और झाबुआ में सूखे का खतरा मंडरा रहा है, क्योंकि यहां 67 से लेकर 79% तक ही बारिश हुई है।
  • मुरैना, भिंड, शिवपुरी, छतरपुर, दमोह, पन्ना, सतना, सिंगरौली, दमोह, कटनी, उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, डिंडोरी, बालाघाट, मंडला, जबलपुर, नरसिंहपुर, खंडवा, खरगोन, बड़वानी, धार, इंदौर और उज्जैन में सामान्य बारिश हुई।
  • भोपाल, राजगढ़, नीमच, मंदसौर, रतलाम, अगर मालवा, शाजापुर, सीहोर, देवास, हरदा, बुरहानपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, सिवनी, नर्मदापुरम, रायसेन, सागर, विदिशा, अशोकनगर, गुना और श्योपुर में अच्छी बारिश हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.