IMD Alert : दुर्गा पूजा में इन राज्यों में भारी बारिश का येलो-ऑरेंज अलर्ट, गरज चमक आंधी की चेतावनी, जानें विभाग का पूर्वानुमान

नई दिल्ली। मौसम (weather update) एक बार फिर से बदलाव शुरू हो गया। IMD Alert ने 4 अक्टूबर के बाद देश की राजधानी सहित कई अन्य राज्यों में बारिश (heavy rain) से मौसम तरबतर रहेगा। बिहार झारखंड उड़ीसा में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। इन राज्यों में भारी बारिश देखने को मिल रही है। साथ ही बंगाल की खाड़ी में बने निम्न दाब के क्षेत्र के डिप्रेशन(depression)  में बदलने की संभावना जताई गई है। चक्रवात नोरू के कारण बंगाल की खाड़ी भी एक डिप्रेशन का निर्माण हो रहा है।जिसके जल्द ही उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ने की संभावना जताई गई है। ऐसे में राजधानी दिल्ली सहित मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में मौसम में बदलाव देखने को मिलेंगे। राजधानी दिल्ली में 4 अक्टूबर से एक बार फिर से बूंदाबांदी शुरू हो गई। वहीं उत्तर प्रदेश के कई जिले बारिश से तरबतर होंगे। बिहार और झारखंड में सोमवार को भारी बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। हफ्ते के अंत तक बिहार झारखंड बंगाल और उड़ीसा में बारिश का कहर जारी रहेगा।देश प्रदेश की अहम खबरों के लिए हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़े,यहाँ क्लिक कीजिये

दिल्ली में बारिश

राजधानी दिल्ली की बात करें तो तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। अधिकतम तापमान 32 बीजेपी न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है। आसमान में बादल छाए रहेंगे बादलों की आवाज़ मन सहित अन्य क्षेत्र में हो रहे बूंदाबांदी से मौसम सामान्य बना रहेगा। हालांकि 4 अक्टूबर के पास राजधानी दिल्ली में बौछारों का सिलसिला शुरू होगा। इससे पहले दिल्ली से मानसून की विदाई देखने को मिल रही ह

यूपी में बारिश

उत्तर प्रदेश में मौसम सुहावना बना हुआ हालांकि तापमान में 2 फीसद की वृद्धि रिकॉर्ड की गई है। साथ ही उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश से कोई राहत के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। तूफान का असर इन दोनों राज्यों पर पड़ेगा। भारी बारिश की भविष्यवाणी जारी की गई है। मध्य और पूर्वोत्तर क्षेत्र में मंगलवार से हो रही बारिश से त्योहार के आखिरी दिन तक जारी रहेगी। नवरात्रि में कई जिले तरबतर होंगे 72 घंटे में पश्चिम बंगाल सहित बिहार यूपी में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। जिससे दुर्गा पूजा के जश्न में खलल पड़ निश्चित है।

मौसम बुलेटिन की माने तो उत्तर प्रदेश में 6 अक्टूबर से 4 दिन तक लगातार भारी बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है इससे पहले आज उत्तर प्रदेश के कई जिले में तीव्र हवाएं चलेंगी साथ ही आंधी का अलर्ट भी जारी किया गया है।

बिहार में दुर्गा पूजा में खलल

बिहार में दुर्गा पूजा में खलल पड़ने शुरू हो गई है। पटना में भयानक आंधी का कहर देखा जा रहा है। 12 जिलों में मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी कर दिए हैं। राजधानी पटना समेत कई जिलों में बारिश का दौर शुरू हो गया है। लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी। वहीं 12 जिलों में बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम केंद्र ने दरभंगा समस्तीपुर सहरसा दिया गया किशनगंज नवादा लखीसराय नालंदा पटना शेखूपुर और वैशाली में वज्रपात के साथ में एक दर्जन और भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। आंधी से पंडाल के कई गेट गिर गए हैं। वही पटना सहित डाक बंगला और आसपास के क्षेत्रों में अलर्ट जारी किया गया है।

ओडिशा झारखण्ड बंगाल में भरी बारिश का अलर्ट

ओडिशा में 3-6 अक्टूबर, गंगीय पश्चिम बंगाल और झारखंड में 3-4 अक्टूबर, बिहार में 4 और 5 अक्टूबर को, पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश में 5-6 अक्टूबर को भारी बारिश के साथ व्यापक रूप से व्यापक रूप से हल्की या मध्यम वर्षा होने की संभावना है। उत्तर पश्चिम मध्य प्रदेश 6 अक्टूबर और छत्तीसगढ़ 4-5 अक्टूबर को, 4 अक्टूबर को ओडिशा में अलग-अलग स्थानों पर बहुत भारी वर्षा होने की भी संभावना है।

बंगाल में कई इलाकों में मध्यम से भारी बारिश

दक्षिण बंगाल में कई इलाकों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है, आईएमडी ने पूर्वा और पश्चिम मेदिनीपुर, दक्षिण और उत्तर 24 परगना और बीरभूम जिलों में इस अवधि के दौरान भारी वर्षा की भविष्यवाणी की है। कोलकाता में लोगों को हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ समय के लिए बादल छाए रहने का अनुभव हो सकता है, हालांकि कोलकाता को गंभीर वर्षा से बचाया जा सकता है। अगले दो दिनों में, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार के एक बड़े हिस्से में हल्की से मध्यम बारिश होगी। 6 अक्टूबर तक, बंगाल के पड़ोसी ओडिशा में कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है।

राजस्थान में एक बार फिर बारिश

राजस्थान में एक बार फिर से बादल झमाझम बरसेंगे। कोटा उदयपुर जयपुर संभाग में लोगों को सावधान रहने की हिदायत दी गई है। मानसून की विदाई के साथ ही अगले 48 घंटे में प्रदेश में मौसम पूरी तरह से शुष्क बने रहने की संभावना जताई गई है। हालांकि 5 और 7 अक्टूबर को भरतपुर कोटा उदयपुर जयपुर संभाग में मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना जताई गई है। बंगाल की खाड़ी में तब्दील होने की संभावना जताई गई है। इसके कारण राजस्थान में बारिश की गतिविधियों में वृद्धि देखी जाएगी।

मौसम प्रणाली

  • पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी चक्रवाती परिसंचरण से ढकी हुई है जो समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर उठती है। इस प्रणाली के परिणामस्वरूप अगले तीन दिनों में दक्षिण बंगाल में अलग-अलग वर्षा होने की संभावना है।
  • दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की वापसी रेखा जम्मू, ऊना, चंडीगढ़, करनाल, बागपत, दिल्ली, अलवर, जोधपुर और नालिया से होकर गुजर रही है।
  • इस बीच, एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिम-मध्य और उससे सटे उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है, जबकि एक ट्रफ रेखा इससे बांग्लादेश तक जाती है।
  • बंगाल की खाड़ी में नोरू की वजह से दो निम्न दबाव क्षेत्र बने हैं, जिसके जल्द ही डिप्रेशन में बदलने की उम्मीद है।

इन राज्यों में डिप्रेशन का असर

झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा की संभावना है। वहीँ छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण, गोवा, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल और माहे में छिटपुट स्थानों पर बिजली के साथ गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।

पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, तेलंगाना, केरल और माहे में अलग-अलग स्थानों पर बिजली के साथ गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *