इंडिया वाल

लाखों पेंशनरों के लिए जरूरी खबर, 31 दिसंबर से पहले पूरा करें ये काम, वरना अटक सकती है पेंशन

Pensioners Pension Update : राजस्थान के लाखों पेंशनरों के लिए ताजा अपडेट है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग (वृद्धावस्था,‎ विधवा, विशेष योग्यजन) ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत बायोमैट्रिक सत्यापन अनिवार्य कर दिया है, जिन पेंशनरों ने अबतक यह प्रक्रिया पूरी नहीं की है वे 31 दिसंबर 2022 से पहले पूरी कर लें, अन्य पेंशन अटक सकती है या फिर बंद हो सकती है।

चुरू जिले के 2.03 लाख पेंशनर्स है। 272600 में से 69066 पेंशनरों ने सत्यापन करवाया है, जबकि 203534 के सत्यापन अभी पेडिंग है, यही हाल अन्य जिलों का है, ऐसे में अब आगामी 22 दिनों में सभी वंचित पेंशनरों को हर हाल में सत्यापन करवाना होगा, अन्यथा उन्हें जनवरी में पेंशन नहीं मिलेगी। वही विभाग ने सोमवार से लोगों को सत्यापन के लिए जागरूक करने का निर्णय लिया है। प्रति वर्ष नवंबर व दिसंबर में किसी पेंशनर द्वारा जन आधार से जुड़ी किसी अन्य सरकारी योजना का लाभ बायोमैट्रिक के माध्यम से लिया गया हो तो ऐसे पेंशनर्स को भौतिक सत्यापन कराने की आवश्यकता नहीं है।

31 दिसंबर से पहले करवा लें सत्यापन

जो व्यक्ति सामाजिक सुरक्षा पेंशन जैसे वृद्धावस्था, विधवा, विशेष योग्यजन लाभार्थी हैं।इन्हें नियमित पेंशन प्राप्त करने के लिए 31 दिसंबर 2022 तक बायोमैट्रिक सत्यापन कराना अनिवार्य होगा। पूर्व में ओटीपी द्वारा सत्यापन की व्यवस्था को समाप्त कर बायोमैट्रिक सत्यापन को अनिवार्य कर दिया है।माह दिसंबर के अंत तक शत-प्रतिशत बायोमैट्रिक सत्यापन के अभाव में पेंशन भुगतान संभव नहीं हो सकेगा।

इन तरीकों से करें सत्यापन

  • पेंशनधारक द्वारा वार्षिक भौतिक सत्यापन के लिए ई-मित्र कियोस्क, राजीव गांधी सेवा केन्द्र, ई-मित्र प्लस आदि केन्द्रों पर अंगुली की छाप बायोमैट्रिक्स से कर सकते है।
  • अंगुली की छाप बायोमैट्रिक्स से वंचित रहे पेंशनर्स का भौतिक सत्यापन आई रिस स्कैन से भी किया जा सकता है।
  • यदि पेंशनर पेंशन स्वीकृतकर्ता अधिकारी (विकास अधिकारी, उपखण्ड अधिकारी) के सामने व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होता है,तो अधिकारी स्वयं की SSO आईडी द्वारा SSP पोर्टल पर संबंधित पेंशनर का PPO नम्बर दर्ज करने पर पेंशनर के रजिस्टर्ड मोबाइल पर प्राप्त OTP के आधार पर भौतिक सत्यापन किया जा सकता है।
पूर्व मंत्री पटवा के खिलाफ सीबीआई ने धोखाधड़ी के सिलसिले में प्रकरण दर्ज किया

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS