कोरोना के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई केंद्र की टेंशन,24 घंटे में 982 संक्रमित, 8 मौत

कोलकाता।पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस (West Bengal Corona Cases) के मामलों बढ़ोतरी ने टेंशन बढ़ा दिया है. दुर्गा पूजा के बाद से लगातार कोरोना के मामले लगभग 1000 के करीब रह रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग (West Bengal Health Department) की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के 932 मामले सामने आए, जबकि 8 लोगों की मौत हुई है. बता दें कि पश्चिम बंगाल साप्ताहिक संक्रमण दर में भी इजाफा हुआ है. इसके मद्देनजर केंद्र (Central Government) ने राज्य सरकारों से कोविड-उपयुक्त व्यवहार को सख्ती से लागू करने पर जोर देते हुए इन मापदंडों की समीक्षा करने को कहा है.

पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव को 26 अक्टूबर को लिखे एक पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की अतिरिक्त सचिव आरती अहूजा ने पिछले सप्ताह (20-26 अक्टूबर) से साप्ताहिक नए मामलों में बढ़ोतरी और पिछले चार सप्ताह से 25 अक्टूबर तक संक्रमण के मामलों में वृद्धि के शुरुआती संकेत को उजागर किया.

पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी बुलेटिन में कहा गया है कि पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 982 मामले सामने आए और 8 लोगों की मौत हुई है. राज्य में कोरोना संक्रमण की संख्या बढ़कर कुल 15,91,014 हो गई है, जबकि मृतकों की संख्या बढ़कर 19,113 हो गई है. पश्चिम बंगाल में डिस्चार्ज रेट 98.28 फीसदी है. बता दें कि दुर्गा पूजा के बाद लगातार पश्चिम बंगाल में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. इसके मद्देनजर बंगाल सरकार ने नाइट कर्फ्यू सख्त कर दिया है और माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं.

केंद्र सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर जताई चिंता

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने 22 अक्टूबर को पश्चिम बंगाल को पत्र लिखा था और इस महीने की शुरुआत में दुर्गा पूजा के बाद कोलकाता में संक्रमण के मामलों में वृद्धि पर चिंता जाहिर की थी. इसी तरह पश्चिम बंगाल में कोलकाता और हावड़ा को भी संक्रमण की अधिकता की वजह से चिंता के दायरे में बताया गया है.  पिछले सप्ताह से पश्चिम बंगाल में साप्ताहिक नए मामलों में 41 फीसदी की वृद्धि हुई. पिछले सप्ताह 20-26 अक्टूबर के बीच 6,040 मामले सामने आए जबकि 13-19 अक्टूबर के 4,277 मामले सामने आए थे. वहीं, पश्चिम बंगाल में 28 सितंबर-चार अक्टूबर के बीच 2,62,319 नमूनों की जांच हुई थी, जबकि 19-25 अक्टूबर के बीच 2,61,515 नमूनों की जांच हुई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *