पढ़िए दूसरे कार्यकाल के पहले फेरबदल में इन मंत्रियो का बढ़ा कद

नयी दिल्ली। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में बुधवार को हुये पहले फेरबदल और विस्तार में खेल मंत्री किरेन रिजिजू, आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी समेत सात मंत्रियों को प्रोन्नत कर कैबिनेट में शामिल किया गया है। जिन सात मंत्रियों का कद बढ़ा है उनमें चार स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री भी शामिल हैं। युवा मामले एवं खेल मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री रिजिजु इस समय अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री भी हैं। वह अरुणाचल प्रदेश पश्चिम सीट से सांसद हैं और तीसरी बार लोकसभा सदस्य बने हैं। उन्हें भारतीय जनता पार्टी की युवा पीढ़ी के नेताओं में महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त है।

बिहार के आरा से सांसद राजकुमार सिंह को भी स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री से प्रोन्नत कर कैबिनेट में जगह दी गई है। वह दूसरी बार लोकसभा में पहुँचे हैं। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में सितंबर 2017 में उन्हें ऊर्जा और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालयों का स्वतंत्र प्रभार दिया गया था। दूसरे कार्यकाल में इन दो मंत्रालयों के अलावा उन्हें कैशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय की जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी।

भारतीय विदेश सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी श्री पुरी को राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में उनके बेहतरीन काम को देखते हुये कैबिनेट मंत्री के तौर पर मंत्रिमंडल में जगह दी गई है। वह इस समय राज्यसभा सदस्य हैं। उन्हें 03 सितंबर 2017 को आवास एवं शहरी विकास विकास मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंपा गया था। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में उन्हें आवास एवं शहरी विकास के साथ नागरिक उड्डयन मंत्रालय की भी जिम्मेदारी दी गई। साथ ही उन्हें वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री भी बनाया गया। माना जाता है कि शहरी विकास मंत्री के रूप में अपने काम से उन्होंने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विश्वास जीता है। कोविड-19 महामारी के समय विदेशों में फँसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय के वंदे भारत मिशन की भी काफी सराहना हुई है। उनके काम को देखते हुये उन्हें मंत्रिमंडल में प्रोन्नत किया गया है।

जहाजरानी मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सँभाल रहे मनसुख लाल मंडाविया को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। साथ ही वह रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय में राज्य मंत्री भी थे। वह गुजरात से भाजपा के टिकट पर दूसरी बार राज्यसभा के लिए चुने गये हैं। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में जुलाई 2016 में उन्हें सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, रसायन एवं उर्वरक और जहाजरानी मंत्रालयों में राज्य मंत्री बनाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *