इंडिया वाल

COVID: चीन में हाहाकार मचाने वाले ओमिक्रोन सब वैरिएंट BF.7 की भारत में दस्तक, जानें कहां कितने हैं केस

Coronavirus In India india omicron subvariant : चीन में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के लिए जिम्मेदार ओमिक्रोन के सब वैरिएंट बीएफ.7 के तीन मामले भारत में भी सामने आए हैं. आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी है. अधिकारियों ने बताया कि गुजरात जैव प्रौद्योगिकी अनुसंधान केंद्र ने भारत में बीएफ.7 के पहले मामले का पता लगाया था. उन्होंने कहा कि अब तक गुजरात से दो मामले सामने आए हैं, जबकि ओडिशा से एक मामला सामने आया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कोविड समीक्षा बैठक में विशेषज्ञों ने कहा कि हालांकि अब तक कोविड मामलों की संख्या में समग्र वृद्धि नहीं हुई है, लेकिन मौजूदा और उभरते स्वरूपों पर नज़र रखने के लिए निरंतर निगरानी की आवश्यकता है.सूत्रों के अनुसार, चीन के विभिन्न शहर वर्तमान में कोविड के अत्यधिक संक्रामक वैरिएंट ओमीक्रॉन, ज्यादातर बीएफ.7, की चपेट में हैं, जो बीजिंग में फैलने वाला मुख्य वैरिएंट है. इसी के कारण चीन में कोविड संक्रमण के मामलों में व्यापक उछाल आया है. 

india omicron subvariant : बीएफ.7 ओमिक्रोन के वैरिएंट बीए.5 का सब वैरिएंट है और इसमें संक्रमण की व्यापक क्षमता होती है और इसकी इनक्यूबेशन अवधि कम होती है और इसमें पुन: संक्रमण पैदा करने या उन लोगों को भी संक्रमित करने की उच्च क्षमता होती है, जिन्हें टीका लगाया जा चुका है. यह अमेरिका, ब्रिटेन और बेल्जियम, जर्मनी, फ्रांस और डेनमार्क जैसे यूरोपीय देशों सहित कई अन्य देशों में पहले ही पाया जा चुका है.

चीन से आने वालों की जांच शुरू

india omicron subvariant ;चीन में कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए भारत सरकार एक्शन मोड में आ गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने चीन से आने वालों की एयरपोर्ट पर जांच करने को कहा है. अब चीन से आने वाले लोगों की जांच की जाएगी. मंत्रालय ने अधिकारियों को इससे जुड़े दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्र ने बताया है कि देश में अभी 10 अलग-अलग कोरोना के वैरिएंट हैं, इसमें सबसे ताजा वैरिएंट BF.7 है. इसी के साथ देश में कहीं-कहीं डेल्टा वैरिएंट भी देखने को मिल रहा है.

CBSE बोर्ड Exam के Admit Card जारी,ऐसे करें डाउनलोड

भारत में सरकार अलर्ट पर, मास्क जरूर लगाएं

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) ने भारत में कोविड की स्थिति पर चर्चा के लिए बुधवार को एक बैठक की अध्यक्षता की. बैठक समाप्त होने के बाद मनसुख मंडाविया ने कहा, “कोविड अभी खत्म नहीं हुआ है. मैंने सभी संबंधित विभागों को सतर्क रहने और निगरानी मजबूत करने का निर्देश दिया है.” 

इस बैठक के बाद नीति आयोग (Niti Aayog) के सदस्य डॉ. वीके पॉल (Dr. VK Paul) ने लोगों को वायरस के प्रसार को रोकने के लिए भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क लगाने की सलाह दी. डॉ. वीके पॉल ने कहा, “अगर आप भीड़-भाड़ वाली जगह, घर के अंदर या बाहर हैं तो मास्क का इस्तेमाल करें. अधिक उम्र के लोगों के लिए यह सबसे अधिक महत्वपूर्ण है.”

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS