इनसाइड स्टोरीः बेटे ने क्यो और कैसे कर दी अपनी ही माँ की बेरहम़ी से हत्या…?

सूरजपुर।इन्सान हो या जानवर हो। माँ हर रूप में अपने बच्चों को पालती है। ईश्वर ने इस संसार के पालन-पोषण के सभी अधिकार माँ की झोली में डाले है। यह बात शायद हत्या का आरोपी राजेश बछोर नही समझ पाया । मामूली से पैसे नही देने के विवाद के चलते अपनी मॉ को हाथ मुक्का से मारपीट करते हुए पलंग में पटक कर चेहरा को बिस्तर में दबा दिया सांस नही लेने के कारण आरोपी की माँ चल बसी। जिसका खुलासा पुलिस की तफ्तीश में हुआ। जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

सुरजपुर जिले के प्रतापपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुई इस हत्या को पुलिस ने दो दिन से भी कम समय मे सुलझा दिया है । इस अपराध क्रमांक 49/22 धारा 302 भादवि की इन साइड स्टोरी यह है कि तीन मार्च 2022 को बाबापारा निवसी जीवधन जायसवाल ने थाना प्रतापपुर में सूचना देता है कि ग्राम सरहरी निवासी 55 वर्षीय सुखमनिया पति स्व. रामसूरत का शव संदिग्ध अवस्था में उसके घर के पलंग में पड़ा हुआ है।

प्रतापपुर पुलिस सूचना के आधार पर मौके पर पहुँच कर गहन परीक्षण के बाद शव का पंचनामा करके मर्ग कायम करती है। मर्ग की जांच के दौरान डॉक्टर को मृत्यु के कारण पता चल जाता है, और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतिका सुखमनिया की मृत्यु का कारण हत्यात्मक होना लेख किए जाता है।जिस पर प्रतापपुर थाना अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 49/22 धारा 302 भादवि का मामला पंजीबद्व कर देता है।

मामले की सूचना जब सुरजपुर पुलिस अधीक्षक राजेश अग्रवाल को मिलती है तब वे थाना प्रभारी को घटना से जुड़े सभी बिन्दुओं पर बारीकी से जांच करते हुए अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश देते है।इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह के मार्गदर्शन में थाना प्रतापपुर की पुलिस अज्ञात आरोपी की पतासाजी में लगी रहती है।

हत्या के अज्ञात आरोपी के खिलाफ पतासाजी के दौरान प्रतापपुर थाने के एसआई नवल किशोर दुबे को जानकारी मिलती है कि मृतिका का लड़का राजेश बछोर को घटना से पूर्व मृतक सुखमनिया के साथ देखा गया था। जो च्वाईस सेंटर के पास पैसे की बात पर मृतिका से झगड़ा कर रहा था।

मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रतापपुर पुलिस टीम के एसआई नवल किशोर दुबे, एएसआई बजरंगी लाल चौहान, प्रधान आरक्षक भागवत एक्का, रामाधीन श्यामले, आरक्षक अभय तिवारी, अवधेश कुशवाहा, कौशलेन्द्र सिंह व निरंजन एक्का सक्रिय होकर संदेही राजेश बंछोर को पकड़ा लेते है।

पुलिस की कड़ी पूछताछ में हत्या का संदेही राजेश टूट जाता है। और सिलसिलेवार जानकारी देते हुए उसने अपनी माँ ग्राम सरहरी निवासी 55 वर्षीय सुखमनिया पति स्व. रामसूरत की हत्या करना स्वीकार कर लेता है।

आरोपी राजेश बंछोर ने पुलिस को घटना का विवरण देते हुए बताया कि उसकी मृतिक माँ से पैसा मांगने पर नहीं देने की बात पर गुस्सा होकर अपनी मॉ को हाथ मुक्का से मारपीट करते हुए पलंग में पटक कर चेहरा को बिस्तर में दबा दिया। जिससे उसकी सांस रुक गई और उसने श्वास अवरूद्ध करते हुए हत्या कर दिया।पुलिस ने मामले में आरोपी राजेश बंछोर पिता स्व. रामसूरत बंछोर उम्र 26 वर्ष निवासी अमनदोन को विधिवत् गिरफ्तार किया कर लिया है।

26 साल का एक लड़का एक साधारण सी बात को हत्या तक अंजाम दे देता है। और बेटा होने का कर्तव्य भूल जाता है। जो सरकार , सामाजिक सम्बधों, समाज के चिंतकों कुछ चिंता और विचार करने पर मजबूर जरूर करता है।कि आखिर दुनिया के सबसे पवित्र रिश्ते में ऐसी घटनाएं क्यो हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *