मेरा बिलासपुर

BLE का लाइसेंस निरस्त करने के निर्देश,यह है मामला

जशपुरनगर /कलेक्टर डॉ रवि मित्तल ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक विकासखण्ड के स्वास्थ्य अधिकारियों से स्वास्थ्य सुविधाओं ली। उन्होंने संस्थागत प्रसव, टीकाकरण, चिरायु टीम द्वारा गंभीर बच्चों का चिन्हांकन, मातृ स्वास्थ्य कार्यक्रम, कुष्ठ उन्मूलन, आयुष्मान कार्ड बनाने की प्रगति, कुपोषण की स्थिति, एनीमिक महिलाओं का स्वास्थ्य जांच सहित अन्य बिंदुओं पर विस्तार से समीक्षा की।कलेक्टर ने सीजीएमसी के अधिकारी को दुलदुला विकासखण्ड के स्वास्थ्य केंद्र के सीपेज की समस्या को ठीक करने के निर्देश दिए हैं। अधोसंरचना निर्माण कार्य की अद्यतन स्थिति की जानकारी ली। कांसाबेल और पत्थलगांव विकासखण्ड में ब्लड बैंक चालू करने की स्वीकृति दे दी गई है। शीघ्र ही केंद्र में ब्लड स्टोरेज शुरू करने के लिए कहा है। जिले में दूरस्थ अंचल सहित 112 हाट-बाजार क्लीनिक के माध्यम से लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए कहा है। क्लीनिक में सिकलिन जांच भी करने के निर्देश दिए हैं। बगीचा विकासखण्ड दूरस्थ अंचल होने के कारण वहॉ पर बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए विशेष प्रयास करने के लिए कहा है।

कलेक्टर ने जिले के धान खरीदी केन्द्रों में भी स्वास्थ्य शिविर लगाकर जांच करने के निर्देश  दिए हैं। सभी बीएमओं को अपने स्वास्थ्य केन्द्र के कबाड़ समान को बाहार निकालने, बिगड़े मशीनों को बनाने और अतिरिक्त सामान को जिला अस्पताल भेजने के निर्देश दिए हैं। दुलदुला विकासखण्ड में मेडिकल स्टोर रूम को बेहतर व्यवस्थित करने के लिए कलेक्टर ने प्रशंसा की और अन्य विकासखण्ड के स्वास्थ्य केन्द्र को भी उसी प्रकार व्यवस्थित करने के लिए कहा है। उन्होंने दवाई रखने के लिए रैक खरीदने के लिए कहा है और रैक में दवाईयों की पर्ची चिपकाने के निर्देश दिए हैं और एक्सपायरी दवाइयों को अलग रखने के लिए कहा है।

कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जिले के स्वास्थ्य केन्द्रों का स्टोर रूम के निरीक्षण के लिए टीम गठित करने के निर्देश दिए हैं। टीम केन्द्रों में जाकर अनावश्यक और अतिरिक्त सामग्री की सूची तैयार करेगी। साथ ही व्यवस्थित करने के लिए दिशा-निर्देश के तहत् कार्य करेंगी। कलेक्टर ने कहा कि निरीक्षण के दौरान कोई भी सामान अव्यवस्थित नहीं पाया जाना चाहिए इसका विशेष ध्यान रखें। उन्होंने बताया कि जिले में कुपोषण को दूर करने के लिए 50 गांवों को चिन्हांकन किया गया है। जहां पर सुपोषण चौपाल लगाकर पालकों को जागरूक किया जाएगा और अपने बच्चों को पौष्टिक आहार देने के लिए जानकारी दी जाएगी। चौपाल में सभी अधिकारी भी भ्रमण करेंगे और कुपोषण को दूर करने का सार्थक प्रयास करें। जिले में 15 गांव को एनीमिया मुक्त गांव बनाने के लिए चिन्हांकन किया गया है। इसकी भी जानकारी लेकर महिलाओं को फोलिक एसिड और आयरन की गोलियां नियमित देने के निर्देश दिए हैं।

फर्जी नियुक्ति मामले में भाजपा नेता पार्षद रेणुका नगपुरे गिरफ्तार..पुलिस का बाबू भी पकड़ाया..4 को जेल..एडिश्नल ने बताया..सभी दस्तावेज जब्त

कलेक्टर ने बगीचा विकासखण्ड के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का जनरेटर को शीघ्र चालू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने आयुष्मान कार्ड के प्रगति की जानकारी लेते हुए सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा है कि गांव के बी.एल.ई. आयुष्मान कार्ड बनाने में रुचि नहीं ले रहे हैं तो उनका आई.डी. निरस्त करने के सख्त निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कांसाबेल और फरसाबहार में आयुष्मान कार्ड के ब्लोकिंग में अच्छा कार्य होने पर प्रशंता जाहिर की। समीक्षा के दौरान महिलाओं के एनसी जांच और पंजीयन की भी समीक्षा की। गर्भवती माताओं को भी स्वास्थ्य केन्द्रों में जच्चा-बच्चा कार्ड देने के निर्देश दिए हैं और संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देते हुए हाईरिक्स गर्भवती माताओं को रेफर करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि अपनी स्वास्थ्य केन्द्रों में 12 प्रकार के हाईरिक्स महिलाओं के जानकारी सूची को चस्पा करें, ताकि जानकारी हो सके कि किन-किन स्थिति में महिलाओं को रेफर करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि होम डिलीवरी किसी भी स्थिति में नहीं होनी चाहिए। होम डिलीवरी की शिकायत आने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

कलेक्टर ने बैठक में पाकरगांव उप स्वास्थ्य केन्द्र में 07 डिलेवरी होने पर खुशी जाहिर की और उस केंद्र के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सम्मानित करने के निर्देश दिए हैं। पत्थलगांव और बगीचा विकासखण्ड में सिजेरियन ऑपरेशन शीघ्र चालू करने के निर्देश दिए हैं। कुनकुरी विकासखंड में सोनोग्राफी टेस्ट को भी शीघ्र चालू करने के लिए कहा है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS