कुछ इस तरह हाथ आया अंतर्राज्यीय तांत्रिक..3 लाख रूपए नगद बरामद..पढें आस्था के नाम पर कैसे करता था ठगी

बिलासपुर—– पुलिस ने तंत्र मंत्र के सहारे लोगों की समस्याओं को दूर करने वाले अंतर्राष्ट्री ठग बंगाली बाबा को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार ठग बंगाली बाबा लोगों को चमत्कार, जादू ,तंत्र -मंत्र के सहारे समस्या दूर करने का दावा कर ठगी करता है। आस्था और अंध विश्वास के आड़ में ठग का कारोबार करने वाले अंतर्राष्ट्रीय बंगाली ठग का नाम मोहम्मद शाहिल पिता मोहम्मद इस्माइल है। आरोपी कंचन पार्क जन्नती मस्जिद थाना लोनी गाजियाबाद उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। आरोपी ने बिलासपुर में भोले भाल लोगो से ठगी कर हजारो लाखों रूपए की वसूली की है।
 
                     मामले का खुलासा करते हुए एडिश्नल एसपी उमेश कश्यप ने बताया कि बंगाली बाबा राष्ट्रीय चैनलों, अखबारों में शर्तिया ईलाज, मनचाहा प्यार, वशीकरण, रूठो को मनाने, पति- पत्नि में अनबन, प्रेम विवाह, गृह कलेश, कोख में बाधा, बीमारियों का शर्तिया ईलाज, शैतान दुश्मन से छुटकारा दिलाने को लकर विज्ञापन देता था। विज्ञापन के झांसे में लेकर अब तक बंगाली ठग ने  बिलासपुर समेत देश के सैकड़ों हजारों लोगों के साथ ठगी को अंजाम दे चुका है। 
  
           उमेश कश्यप ने बताया कि कोटा निवासी देवानंद यादव का बेटा बहुत दिनों से अस्वस्थ चल रहा था। नेशनल टीवी पर देवानन्द ने बंगाली बाबा के विज्ञापन को देखा। इसके बाद उसने मोबाईल से ठग बाबा से संपर्क कर अपनी समस्या को बताया।
 
                बंगाली बाबा ने बच्चे के स्वास्थ लाभ के नाम पर देवानन्द से आस्था के नाम पर डर दिखाकर 4 लाख 15 हजार रूपयों की वसूली को अंजाम दिया। उमेश कश्यप ने बताया कि बंगाली बाबा ने देवानन्द को सबसे पहले डराया धमकाया। अलग अलग तौर तरीके नीबू-सुई-अगरबत्ती का उपयोग, घर में नाग सांप का प्रकोप, बुरी आत्मा का प्रकोप, ऊँटो की बलि, बंगाल के जानवर की कुर्बानी और पुत्र की मौत का डर दिखाया। देवानन्द ने इलाज के लिए बैंक से लोन लिया। इसके बाद उसने बंगाली बाबा के विभिन्न खातों में 4,15,000 रूपए जमा किया।
 
                  मामले की जानकारी होने के बाद पुलिस कप्तान ने बंगाली बाबा को जल्द से जल्द गिरफ्तार किए जाने को कहा। उन्होने अंतरार्ष्ठ्रीय ठग को गिरफ्तार करने टीम का गठन किया। साथ ही लोगों को अंध विश्वास/जादू टोना, नेशनल टीवी पर दिखाए जाने वाले फर्जी विज्ञापनों से प्रभावित होने वालों को बचाने को लेकर अभियान चलाने का भी आदेश दिया। 
 
               पुलिस कप्तान के निर्देश पर एसडीओपी रश्मित कौर के मार्गदर्शन और सायबर सेल प्रभारी कलीम खान की अगुवाई में विशेष टीम को दिल्ली रवाना किया गया। टीम ने सारे हथकन्डे अपनाते हुए फर्जी बंगाली बाबा को ना केवल ढूंढ निकाला। बल्कि उसे मौका पाते ही धर दबोचा गया।
          
                फर्जी बंगाली बाबा के खिलाफ पुलिस ने 420 का अपराध दर्ज किया है। साथ ही 3 लाख रूपए भी बरामद हुए है। इस पूरी कार्रवाई में तारबाहर थाना प्रभारी निरीक्षक कमील खान, उप निरीक्षक प्रभाकर तिवारी, जागेश्वर राठिया, मनोज नायक, अजय वारे, सउनि अवधेश सिंह सायबर सेल से आरक्षक नवीन एक्का, दीपक उपाध्याय, गोविंद शर्मा, सोनू पाल, तदबीर पोर्ते, का विशेष योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *