जेल बन्दी की मौतःयादव समाज ने जताया आक्रोश ..कलेक्टर ने कहा..न्यायिक जांच से होगा खुलासा

बिलासपुर—  दो दिन पहले केन्द्रीय जेल में विचाराधीन बन्दी की मौत का मामला धीरे धीरे तूल पकड़ता जा रहा है। केन्द्रीय कारागार में आबकारी एक्ट के आरोपी की संदिग्ध मौत को यादव समाज ने हत्या करार दिया है। यादव समाज ने कलेक्टर से मिलकर हत्यारों को फांसी दिए जाने की मांग की है। कलेक्टर डॉ.मित्तर ने आश्वासन दिया कि मौत के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जांच के लिए न्यायिक टीम का गठन कर दिया गया है।

           यादव समाज बिलासपुर संभाग के बैनर तले चिल्हाटी के ग्रामीणों ने मंगलवार दोपहर को जिला दंडाधिकारी डॉ. सारांश मित्तर को ज्ञापन दिया। यादव समाज के पदाधिकारियों ने बताया कि दस मई को आबकारी टीम ने शराब की अवैध बिक्री किए जाने के आरोप में मृतक छोटेलाल यादव को गिरफ्तार किया है। विरोध किए जाने पर आबकारी अधिकारी ने धमकी दी। इसके बाद छोटेलाल को बिलासपुर लाकर जेल दाखिल कराया गया। जेल में उसे प्रताड़ित किया गया। इसी दौरान उसकी मौत हो गयी।

       मृतक छोटेलाल की पत्नी धनेश्वरी यादव ने बताया कि दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। सिर से पिता का साया आबकारी और जेल प्रशासन ने छीन लिया है। दोषी अधिकारी-कर्मचारियों को फांसी की सजा दी जाए।

      यादव समाज के प्रमुख भुवनेश्वर यादव ने बाताया कि मामले की शिकायत राज्यपाल, मुख्यमंत्री, गृहमंत्री और आईजी को भी दी गई है।

दोषियों को दंड मिले: भुवनेश्वर

         अखिल भारत वर्षीय यादव महासभा प्रदेशाध्यक्ष भुनेश्वर यादव ने कहा कि जेल में रहकर दो दिन में ही छोटेलाल की तबीयत बिगड़ गयी। इलाज के लिए सिम्स में भर्ती नहीं कराया गया। जब उसकी मौत हो गई तो सिम्स भेजा गया। छोटेलाल के शरीर पर चोट के निशान पाए गए हैं। उसे जेल में  बेरहमी से पीटा गया है। जिसके कारण उसकी मौत हो गयी। 

          भुवनेश्वर यादव ने बताया कि जिला दंडाधिकारी डॉ. मित्तर से यादव महासभा ने निवेदन किया है कि जांच दो बिंदुओं पर करायी जाए। मृतक के  घर में शराब नहीं मिली तो उसे क्यों पकड़ा गया। दूसरा जेल में इतनी बड़ी घटना हो गई और जेल प्रशासन मारपीट नहीं होने का बयान दे रहा है। दोषियों को कठोर कार्रवाई की जाए।

सीएम के संज्ञान में लाया जाएगा: मेयर

मेयर रामशरण यादव ने कहा कि किसी को झूठे मामले में फंसाकर जेल भेजना और मारपीट करना विधि सम्मत नहीं है। मामले को सीएम के संज्ञान में लाया जाएगा।

सही सलामत जेल में दाखिल कराया गया..आबकारी उपायुक्त

                   आबकारी उपायुक्त ने बताया कि..आरोपी को 20 लीटर शराब के साथ पकड़ा गया। एमएलसी के बाद कोर्ट के आदेश पर छोटेलाल को जेल दाखिल कराया गया। यदि मृतक के शरीर पर चोट होती तो जेल प्रशासन दाखिल ही नहीं होने देता। 

ज्ञापन देने वालों में शामिल पदाधिकारी

ज्ञापन सौंपने वालों में अखिल भारतवर्षीय यादव महासभा के प्रदेशाध्यक्ष भुवनेश्वर यादव, पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. सोमनाथ यादव, पार्षद लक्ष्मी यादव, विजय यादव, अजय यादव, लाला यादव, जिला पंचायत सभापति मीनू सुमंत यादव, हेमंत यादव, गोविंद यादव, थानेश्वर यादव, सिरगिट्‌टी यादव समाज के अध्यक्ष संजय यादव, कैलाश यादव, सतीश यादव, शिवशंकर यादव, जितेंद्र यादव, अनिल यादव, नीरज यादव, शैलेंद्र यादव, बद्री यादव, ईश्वर यादव, अभिलेष यादव, बालाराम, कृष्णा यादव, प्रेमलाल, मनोज यादव, नवीन यादव, गोपाल यादव, शिव यादव, गनपत यादव, नंदकुमार, दर्शन यादव, जीवन, लतेल, कसडोल के युवा नेता संतोष यादव, लोकेश, सुजीत, रामजी यादव, दीनानाथ, दीपक यादव, विजय लक्ष्मी यादव, सुखनंदन यादव, राकेश यादव, जवाहर यादव, नंदलाल, रामेश्वर यादव, सुमित यादव, गोरेलाल यादव समेत जिलेभर के सैकड़ों सामाजिक लोग शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *