आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम स्कूल जशपुर की छात्रा स्मार्ट इंडिया हैकाथन प्रतियोगिता हेतु चयनित

जशपुरनगर/केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा अखिल भारतीय स्तर पर स्मार्ट इंडिया  हैकाथन  प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है।इस प्रतियोगिता में दैनिक जीवन से संबंधित  समस्याओं के वैज्ञानिक समाधान के लिए सुझाव व विचार आमंत्रित किए गए थे।स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय जशपुर की छात्रा कुमारी ईशा तिर्की, सहयोगी शिवानी साहू, कुमकुम भगत का मॉडल एवं थेसिस चयनित हुआ है। इस थेशिस में छात्राओं ने अनरिन्यूबल एनर्जी एंड वाटर वेस्टेज को बचाने के लिए फिजिक्स के एक सिद्धांत का सहारा लिया गया है। जिसमें इलेक्ट्रिसिटी के सर्किट रूल को फॉलो किया गया है, रूल में इलेक्ट्रिसिटी के बहुत सारे पाथ में से हमेशा इलेक्ट्रिसिटी शॉर्टेस्ट पाथ में गमन करता है।

इलेक्ट्रिसिटी के इसी नेचर के आधार पर ही छात्राओं ने दैनिक जीवन की एक समस्या दैनिक जीवन में पानी टंकी को भरने के लिए मोटर पंप का उपयोग करते हैं, लेकिन अक्सर होता है की हम पानी भरने के पश्चात मोटर स्विच ऑफ करना भूल जाते हैं जिससे पानी अनावश्यक ही बहता रहता है। ओवर फ्लो के कारण बिजली का खपत भी होते रहता है। इस समस्या का समाधान इस प्रकार अपने मॉडल में बताया की हम एक स्मार्ट वाटर टैंक का निर्माण करेंगे।

यह एक साधारण टंकी जैसा ही होगा लेकिन इसमें कुछ मशीनरी कीट लगाएंगे जिससे पानी टैंक पूरा भरने के पश्चात ऑटोमैटिक ही मोटर पंप ऑफ हो जाएगा, जो ऊपर वर्णित फिजिक्स के सिद्धांत पर आधारित है। इससे पानी और बिजली दोनों की बचत होगी।प्रतियोगिता में मिडिल स्कूल एवं हाई स्कूल के छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था। जिसमें विभिन्न नवाचार पर मॉडल एवं विचार दिए जाने थे। इस प्रतियोगिता में कुल 11 विषयों पर थेशीस एवं विचार मंगाए गए। इस प्रकार नवीनीकरण ऊर्जा, ब्लॉक एवं साइबर सुरक्षा,स्मार्ट एजुकेशन, आपदा प्रबंधन, स्मार्ट ऑटोमेशन, हेरिटेज, कल्चर, हेल्थ टीच, कृषि ,खाद्य और ग्रामीण विकास, स्मार्ट व्हीकल, ट्रांसपोर्टेशन, लॉजिस्टिक्स, रोबोटिक्स, ड्रोन,क्लीन एंड ग्रीन एनर्जी, टूरिज्म, खिलौना एवं अन्य विविध रहेंगी।

यह प्रतियोगिता मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन इनोवेशन सेल (MIC) के मार्गदर्शन से ऑल इंडिया  काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) ने स्मार्ट इंडिया हैकाथन ( SIH) लॉन्च किया। यह प्रतियोगिता विगत 5 साल में पहली बार स्कूली विद्यार्थियों के ओपन किया गया। इस प्रतियोगिता  में शामिल होने का अंतिम अवसर 31 मार्च 2022 था।

प्रतियोगिता में  स्कूल के  छात्राओं का चयन होने से विद्यालय में खुशी की लहर है। विद्यालय के प्राचार्य  विनोद कुमार गुप्ता ने बताया की विद्यार्थी में सृजनात्मकता कौशल,व्यक्तित्व विकास को बढ़ावा देना ही हमारा स्कूली शिक्षा की प्राथमिकता है जिससे दैनिक जीवन में  हम जो समस्या का सामना करते हैं उस पर कुछ नए टेक्नोलॉजी, नवनिर्माण के साथ हमारे विद्यार्थी मानव समाज को दे सकें और बेहतर मानव समाज का निर्माण कर सकें। प्रतियोगिता में छात्राओं को सहभागी करने के लिए विद्यालय की प्रधानपाठिका श्रीमती रोहिणी सिन्हा, भैरव भौमिक, मुकेश कुमार, श्रीमती एकता मिश्रा, विद्यालय के विज्ञान, कक्षा शिक्षक, शिक्षिकाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *