जोगी के तीखे बोल-हठ और बदनियती से पदो पर चिपके बैठे हैं भाजपाई

jogi_june_14रायपुर।जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक अध्यक्ष अजीत जोगी ने हरियाणा में भढ़की हिंसा एवं सम्पत्ति की तबाही पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि इस भयावह हादसे में 38 लोगों की अकाल मौत तथा करोड़ो व अरबों की सम्पत्ति खाक में तब्दील हो गई फिर भी भाजपा के कान पर जूॅ तक नहीं रेंगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा संघ प्रमुख मोहन भागवत घटना क्रम के समय मूक दर्शक बने रहे। इस खतरनाक घटना क्रम के बावजूद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर सुरक्षित है । इसका कारण केवल भाजपा एवं संघ परिवार ही बता सकती है। दोनो में से किसी एक ने भी सम्पूर्ण घटना के दोषी दलीय पदाधिकारीयों को पद से हटाना तो दूर झूठे मुंह इस्तीफा पेश करने तक नहीं कहा । क्योंकि भाजपा शासित राज्यों में ऐसे कई जघन्य एवं अप्रत्याशित कांड होने के बाद भी किसी भी प्रदेश के मुख्यमंत्री या विभागीय मंत्रियों से न तो इस्तीफा मांगा गया और न ही संबंधित विभाग के दायित्व से हटाया गया क्योंकि भाजपा बड़ी मुश्किल एवं कई तरह के जतन कर साम,दाम, दण्ड, भेद का सराहा लेकर सत्ता तक पहुंची है।
डाउनलोड करें CGWALL News App और रहें हर खबर से अपडेट
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cgwall
                                     जोगी ने स्मरण दिलाया है कि मध्यप्रदेश के व्यापम घोटाले जैसे जघन्य काण्ड ने 47 लोगो की जान लेली तथा छत्तीसगढ़ में नक्सली वारदातों में भाजपा शासनकाल मे सैकड़ो आदिवासी, सुरक्षाबल के सैनिक तथा पुलिस की शहादत को भी भाजपा ने नजरअंदाज कर दिया। वर्तमान मे छत्तीसगढ़ में लगभग 1000 से अधिक भूख प्यास से तड़पती गौमाताओं की हत्याओं से भी भाजपा प्रशासन द्रवित नहीं हुआ तथा दोनो प्रदेश के मुख्यमंत्री भाजपाई संगठनात्मक हठ एवं बदनियती के तहत पदो से चिपके बैठे हैं।
खबरे यहाँ भी https://www.facebook.com/cgwallweb
                                       जोगी ने केन्द्र सरकार एवं भाजपा पर तीखा प्रहार करते हुए कहा है कि पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देश एवं आदेश को खटटर सरकार ने अनसुना करने की जो हिमाकत एवं मिसाल पेश की है वैसा देश की आजादी के बाद के इतिहास में कभी नहीं हुआ। आम चर्चा है कि माननीय संबंधित उच्च न्यायालय को इस अवमानना पर संज्ञान लेकर समुचित वैधानिक कदम उठाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *