मेरा बिलासपुर

दो आरोपी समेत लाखों का जेवर बरामद..जानलेवा हमला के चार आरोपी गिरफ्तार..सभी को भेजा गया जेल

नगद समेत लाखों का जेवर बरामद..जानलेवा हमले के आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर–सरकन्डा पुलिस ने सोना चांदी चोरी के आरोपियों को गिरफ्तार किया है। बरामद जेवर की कीमत करीब एक लाख रूपयों से अधिक है। इसके अलावा लाठी और राड से जानलेवा के आरोप में चार लोगों को धर दबोचा है। दोनो ही मामलों में पकड़े गए आरोपियों को न्यायालय के हवाले कर जेल दाखिल कराया गया है। पुलिस के अनुसार जानलेवा हमला की वजह आपसी रंजिश है।
नगद समेत एक लाख का जेवर बरामद
 
सरकन्डा पुलिस के अनुसार आशाबन्द बिरकोना निवासी जयकिशन ने 30 अक्टूबर 2022 को चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराया। पीडित ने बताया कि अज्ञात चोरों ने सोने चांदी और जेवर समेत एक लाख से अधिक कीमती सामान को पार किया है। मामले में तत्काल एक्शन लेते हुए पतासाजी को अंजाम दिया गया। इसी दौरान मुखबीर की जानकारी पर डबरीपारा निवासी हर्ष शर्मा और कन्हैया केवल को पकड़ा गया। पूछताछ के दौरान दोनो आरोपियों ने चोरी करना कबूल किया। दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय के हवाले कर जेल दाखिल कराया गया है। 
जानलेवा हमला के आरोपी गिरफ्तार
 पुलिस के अनुसार 28 दिसम्बर बुधवार को शिवघाट निवासी राकी कमलसेन मारपीट किए जाने का रिपोर्ट दर्ज कराया। पीड़ित ने बताया कि 25 दिसम्बर की रात्रि करीब 11.30 बजे कोनी से अपने घर जा रहा था। सूर्यवंशी मोहल्ला गली में छोटू धुरी और विनय कौशिक गाली ने गाली गलौज करना शुरू कर दिया। मना करने पर छोटू धुरी अपने भाई दीपक धुरी, परमेश्वर धुरी के साथ लाठी, राड से जानलेवा हमला कर दिया। हमला में सिर पर गंभीर चोट पहुंची। मदद की गुहार सुनकर शनि नाम का लडका बीच बचाव करने आया।  और स्कूटी से अस्पताल में भर्ती कराया।
 पीड़ित की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 294, 506, 323, 307, 34 का अपराध दर्ज किया गया। थाना प्रभारी सरकंडा फैजुल होदा शाह ने बताया कि आरोपियों को पतासाजी कर गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने जुर्म कबूल किया।घटना में प्रयुक्त डंडा, राड और पेचकस को बरामद कर सभी आरोपियों को  न्यायालय के हवाले कर जेल दाखिल कराया गया है।
  पकडे गए आरोपियों का नाम छोटू उर्फ रमेश धुरी, परमेश्वर धुरी , दीपक धुरी और, विनायक उर्फ विनय कौशिक है। सभी शिवघाट सरकन्डा के रहने वाले है।

शराबबंदी के नाम पर धोखा..अमित जोगी
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS